कैलिस के कमाल से भारत बैकफुट पर

खास बातें

  • दक्षिण अफ्रीका छह विकेट पर 130 रन की संकटपूर्ण स्थिति से बाहर निकलकर चौथे दिन की समाप्ति पर 341 रन बनाने में सफल रहा।
केपटाउन:

पसली की चोट के कारण असहनीय दर्द के बावजूद सदाबहार जैक कैलिस ने लगातार दूसरी पारी में शतक जमाकर तीसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच पर से भारत का शिकंजा समाप्त करके दक्षिण अफ्रीका को बेहतर स्थिति में पहुंचा दिया। कैलिस ने विषम परिस्थितियों में नाबाद 109 रन की बेजोड़ पारी खेली जो उनके करियर का 40वां शतक है। इससे दक्षिण अफ्रीका छह विकेट पर 130 रन की संकटपूर्ण स्थिति से बाहर निकलकर चौथे दिन की समाप्ति पर 341 रन बनाने में सफल रहा। भारत के सामने अब पहली बार दक्षिण अफ्रीका में सीरीज जीतने का सपना पूरा करने के लिए न्यूलैंड्स की टूटती पिच पर पांचवें और अंतिम दिन 340 रन बनाने की मुश्किल चुनौती होगी। चोट के कारण कैलिस का बल्लेबाजी करना मुश्किल माना जा रहा था, लेकिन उन्हें दिन के दूसरे ओवर में क्रीज पर उतरना पड़ा। भारतीय गेंदबाज विशेषकर हरभजन सिंह (120 रन देकर सात विकेट) तब पूरी तरह से हावी थे, लेकिन कैलिस ने हर तरह के आक्रमण को कुंद करके दूसरी बार एक टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जमाने का कारनामा किया। उन्होंने अपनी पारी में 240 गेंद खेली तथा आठ चौके लगाए। भारतीय गेंदबाज पुछल्ले बल्लेबाजों पर प्रभाव छोड़ने में पूरी तरह नाकाम रहे। कैलिस को मध्यक्रम में कोई अच्छा जोड़ीदार नहीं मिला, लेकिन विकेटकीपर बल्लेबाज मार्क बाउचर (55), डेल स्टेन (32) और मोर्ने मोर्कल (28) ने उनका अच्छा साथ दिया। उन्होंने बाउचर के साथ सातवें विकेट के लिए 103, स्टेन के साथ आठवें विकेट के लिए 54 और मोर्कल के साथ नौवें विकेट के लिए 46 रन की साझेदारी की। दक्षिण अफ्रीका ने सुबह दो विकेट पर 52 रन से आगे खेलते हुए लंच से पहले केवल 69 रन जोड़े और इस बीच तीन महत्वपूर्ण विकेट गंवाए। हरभजन ने अविजित बल्लेबाज एल्विरो पीटरसन (22) और हाशिम अमला (2) को लगातार ओवर में पैवेलियन भेजकर दक्षिण अफ्रीकी खेमे में खलबली मचा दी। इस ऑफ स्पिनर ने अपने पहले और दिन के दूसरे ओवर में ही पीटरसन को पगबाधा आउट किया और फिर अच्छी लय में दिख रहे अमला को बोल्ड करके दक्षिण अफ्रीका को संकट में डाल दिया। अमला ने घुटनों के बल पर स्वीप करने की कोशिश की, लेकिन गेंद उनके बल्ले के बजाय पैड से लगकर गिल्लियां बिखेर गई। कैलिस को लग गया था कि हरभजन को काफी टर्न मिल रहा है, इसलिए उन्होंने इस ऑफ स्पिनर पर रिवर्स स्वीप करने की रणनीति अपनाई। उन्होंने जब रिवर्स स्वीप से दो चौके जड़े, तो कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को क्षेत्ररक्षण में तब्दीली करनी पड़ी। कैलिस के साथ एबी डिविलियर्स (13) ने सतर्कता से बल्लेबाजी करके पारी को आगे बढ़ाने की कोशिश की और पांचवें विकेट के लिए 34 रन की साझेदारी की। जहीर खान ने हालांकि डिविलियर्स को बोल्ड करके इस साझेदारी को लंबा नहीं खिंचने दिया। इससे दक्षिण अफ्रीका का स्कोर पांच विकेट पर 98 रन हो गया। दक्षिण अफ्रीका ने लंच के तुरंत बाद एशवेल प्रिंस (22) का विकेट गंवा दिया, जिन्होंने इशांत शर्मा की ऑफ स्टंप से बाहर जा रही गेंद को कट करके प्वाइंट पर खड़े श्रीसंत को कैच थमाया। भारतीय गेंदबाज दबाव का फायदा उठाने में नाकाम रहे। पहली पारी में शून्य पर आउट होने वाले बाउचर ने इस बार दो चौके जड़कर विश्वसनीय शुरुआत की। इशांत ने कई बार लेग साइड की तरफ गेंद की जिसका बाउचर ने पूरा फायदा उठाया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com