NDTV Khabar

बैडमिंटन, निशानेबाजी में मजबूत टीम उतारेगा भारत : नारंग, गोपीचंद

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बैडमिंटन, निशानेबाजी में मजबूत टीम उतारेगा भारत : नारंग, गोपीचंद

गगन नारंग (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

निशानेबाजी और बैडमिंटन को 2016 ओलिंपिक में भारत की पदक की सबसे मजबूत उम्मीद माना जाता है और दिग्गज निशानेबाज गगन नारंग और मुख्य राष्ट्रीय बैडमिंटन कोच पुलेला गोपीचंद ने बुधवार को उम्मीद जताई कि भारत रियो खेलों में इन दो प्रतियोगिताओं में अपना सबसे बड़ा और मजबूत दल उतारेगा।

लंदन ओलिंपिक 2012 के कांस्य पदक विजेता नारंग ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि रियो ओलिंपिक के लिए भारतीय टीम में युवा और अनुभवी निशानेबाजों का अच्छा मिश्रण होगा।

नारंग ने एक प्रचार कार्यक्रम के इतर कहा, ‘‘भारतीय निशानेबाजी में काफी नई प्रतिभा आ रही है और मुझे उम्मीद है कि रियो ओलिंपिक में युवा और अनुभवी निशानेबाजों का मिश्रण भारत का प्रतिनिधित्व करेगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि भारत पांच या छह और कोटा स्थान हासिल करेगा। मुझे पिछले ओलिंपिक की तुलना में भारत के दल के और मजबूत होने की उम्मीद है।’’

ओलिंपिक पदक विजेता साइना नेहवाल सहित देश को कई चैम्पियन बैडमिंटन खिलाड़ी देने वाले गोपीचंद ने भी उम्मीद जताई कि रियो डि जनेरियो में बैडमिंटन टीम मजबूत होगी।


उन्होंने कहा, ‘‘बैडमिंटन ने पिछले कुछ वर्षों में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। इसने काफी उम्मीद जगाई है। उम्मीद करते हैं कि रियो में हमारा दल सबसे बड़ा होगा।’’

गोपीचंद कहा, ‘‘अब से अप्रैल के अंत तक एक चौथाई क्वालीफिकेशन होने हैं। इसलिए काफी समय है और काफी चीजें हो सकती हैं। इसलिए मैं कोई कयास नहीं लगाना चाहता (कि किदांबी श्रीकांत और पारूपल्ली कश्यप में से कौन रियो ओलिंपिक के लिए क्वालीफाई करेगा)। लेकिन उम्मीद करता हूं कि हमारी टीम सबसे मजबूत होगी।’’

गोपीचंद ने कहा कि रियो ओलिंपिक के लिए भारतीय खिलाड़ियों की तैयारी सही दिशा में जा रही है। इस बीच स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने अपनी ओलिंपिक योजना की कुछ भी जानकारी देने से इनकार कर दिया।

टिप्पणियां

सानिया से जब यह पूछा गया कि क्या वह ओलिंपिक को ध्यान में रखते हुए अपने मिश्रित युगल जोड़ीदार में बदलाव करने की सोच रही हैं तो उन्होंने कहा, ‘‘मुझे पांच दिन में पता चलेगा। मैं ऑस्ट्रेलियाई ओपन के लिए रवाना हो रही हूं। हम टेनिस खिलाड़ियों को ओलिंपिक के लिए सात से आठ महीने पहले तैयारी की सुविधा नहीं मिलती क्योंकि हमें ग्रैंडस्लैम में भी खेलना होता है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन मुझे यकीन है कि ओलिंपिक के लिए सर्वश्रेष्ठ टीम चुनी जाएगी और इस फैसला खेलों के करीब आने पर किया जाएगा।’ नारंग, गोपीचंद और सानिया ग्रेटर नोएडा (वेस्ट) के नालेज पार्क में सुपरटेक लिमिटेड के स्पोर्ट्स विलेज के लांच के मौके पर मौजूद थे। सुपरटेक ने खेल सितारों के साथ साझेदारी की है जिससे कि वे इस परियोजना में अपनी अकादमियां खोल सकें।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement