NDTV Khabar

फीफा रैंकिंग में 21 साल बाद टॉप 100 में पहुंची भारतीय टीम

65 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
फीफा रैंकिंग में 21 साल बाद टॉप 100 में पहुंची भारतीय टीम
नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल संघ फीफा की ताज़ातरीन रैंकिंग में भारतीय फुटबॉल टीम 21 साल के बाद टॉप 100 देशों में शामिल हो गई है. अप्रैल, 2017 की रैंकिंग में भारत को एक पायदान का फायदा मिला, और वह 101 से 100वें नंबर पर पहुंच गई.

आम खेलप्रेमियों को यह छलांग काफी छोटी नज़र आ सकती है, लेकिन भारतीय फुटबॉल के इतिहास में यह सिर्फ तीसरा मौका है, जब भारतीय टीम की रैंकिंग 100 या 100 के भीतर पहुंची है. इससे पहले भारतीय टीम वर्ष 1996 में 94वीं रैंकिंग पर पहुंची थी.

केंद्रीय खेलमंत्री विजय गोयल ने यह ख़बर मिलते ही ट्वीट किया, "भारतीय फुटबॉल 21 साल में पहली बार 100वें पायदान पर पहुंची है...! स्वतंत्र भारत के इतिहास में ऐसा सिर्फ तीसरी बार हुआ है कि भारतीय फुटबॉल टीम वर्ल्ड टॉप 100 में पहुंची..."
 
पिछले ही महीने भारतीय टीम ने 30 से ज़्यादा पायदान की छलांग लगाते हुए 101वां स्थान हासिल किया था. दरअसल, पिछले महीने तक मलावी की टीम 100वें पायदान पर थी, लेकिन मैडागास्कर के हाथों 0-1 से हार के बाद मलावी को 13 पायदान नीचे ख़िसकना पड़ा और इसका फायदा भारत को भी हो गया. मलावी की हार से 101 से 113 तक रैंकिंग वाली सभी टीमों को एक-एक पायदान ऊपर चढ़ने का मौका मिल गया.

मौजूदा रैंकिंग इस प्रकार है...
1. ब्राज़ील
2. अर्जेन्टीना
3. जर्मनी
4. चिली
5. कोलम्बिया
.....
28. ईरान (एशिया में सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग)
.....
98. ज़ाम्बिया
98. सेंट किट्स एंड नेविस
100. निकारागुआ
100. लिथुआनिया
100. भारत
100. इस्टोनिया

इसी साल अक्टूबर में (6-28 अक्टूबर) भारत में अंडर-17 वर्ल्डकप का आयोजन होना है. भारतीय फुटबॉल प्रशंसकों और युवा खिलाड़ियों के लिए राष्ट्रीय टीम के 100वीं रैंकिंग पर चढ़ने की ख़बर उत्साह बढ़ाने वाली साबित हो सकती है. रैंकिंग के इस खेल में भारतीय कोच स्टीफन कॉन्सटेंटाइन और उनकी टीम का रोल अहम माना जा रहा है. भारतीय टीम का अगला मुक़ाबला 7 जून को लेबनान से होने वाला है, जिसे 137वीं रैंकिंग हासिल है. इसके बाद हमारी टीम 12 जून को किर्गिज़ रिपब्लिक (127) से भिड़ेगी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement