NDTV Khabar

60 साल में पहली बार वर्ल्‍डकप के लिए क्वालीफाई नहीं कर सका इटली

चार बार का चैम्पियन इटली 60 साल में पहली बार फीफा वर्ल्‍डकप के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
60 साल में पहली बार वर्ल्‍डकप के लिए क्वालीफाई नहीं कर सका इटली

इटली को स्वीडन के हाथों प्लेऑफ में ड्रॉ के लिए मजबूर होना पड़ा

खास बातें

  1. स्‍वीडन के खिलाफ मैच ड्रॉ खेलना पड़ा
  2. पूरे मैच के दौरान गोल के लिए तरसती रही टीम
  3. 1958 में भी वर्ल्‍डकप में नहीं खेल पाया था इटली
मिलान:

चार बार का चैम्पियन इटली 60 साल में पहली बार फीफा वर्ल्‍डकप के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाया है. इटली को स्वीडन के हाथों प्लेऑफ में ड्रॉ के लिए मजबूर होना पड़ा. इसका मतलब यह है कि 1958 के बाद पहली बार वर्ल्‍डकप में इटली की टीम को खेलते नहीं देखा जा सकेगा. स्वीडन ने इटली को 0-0 से ड्रॉ पर रोका. अपने फुटबाल इतिहास में इटली की टीम दूसरी बार फीफा वर्ल्‍डकप के लिए क्वालीफाई नहीं कर सकी. इटली की चार बार की पूर्व चैंपियन टीम ने गेंद को अधिक समय अपने कब्जे में रखा लेकिन पर्याप्त मौके बनाने में नाकाम रही. वर्ष 2006 की चैंपियन इटली की टीम 74000 प्रशंसकों की मौजूदगी में भी पूरे मैच के दौरा गोल के लिए तरसती रही.

यह भी पढ़ें: यूनान से ड्रॉ खेलकर क्रोएशिया ने फीफा वर्ल्‍डकप के लिये क्वालीफाई किया


टिप्पणियां

प्लेऑफ के पहले चरण में मिडफील्डर जैकब जोहानसन के गोल ने स्वीडन को 1-0 से जीत दिलाई थी. वर्ल्‍डकप में पहुंचने के लिए इटली को अपने घर में किसी भी हालत में स्वीडन को कम से कम 2-0 के अंतर से हराना था लेकिन वह कामयाब नहीं हो सकी. इटली की नाकामयाबी का मतलब यह है कि स्वीडन की टीम 2006 के बाद पहली बार वर्ल्‍डकप के लिए क्वालीफाई करने में सफल रही है.

वीडियो: नेमार के गोल से ब्राजील ने जीता ओलिंपिक गोल्‍ड
वर्ल्‍डकप का आयोजन 2018 में रूस में होना है. यह तीसरा मौका है जब इटली की टीम वर्ल्‍डकप का हिस्सा नहीं होगी. टीम इससे पहले 1930 में पहले टूर्नामेंट में नहीं खेली थी और फिर 1958 में स्वीडन में हुए टूर्नामेंट के लिए भी क्वालीफाई नहीं कर पाई थी. (इनपुट: एजेंसी)



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement