NDTV Khabar

सिर्फ नाम का अध्यक्ष नहीं रहना चाहता था : कुंबले

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. कुंबले ने कहा कि उसने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के अध्यक्ष पद से इसलिए इस्तीफा दिया क्योंकि वह सिर्फ नाम के अध्यक्ष नहीं रहना चाहते थे।
बेंगलुरु:

भारत के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले ने कहा कि उसने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के अध्यक्ष पद से इसलिए इस्तीफा दिया क्योंकि वह सिर्फ नाम के अध्यक्ष नहीं रहना चाहते थे जबकि समिति के बाकी सदस्य उनकी योजनाओं का समर्थन नहीं कर रहे थे। हितों के टकराव को लेकर पैदा हुए विवाद के दो महीने बाद कुंबले ने पद से इस्तीफा दे दिया। बीसीसीआई की कार्यसमिति ने दिल्ली में हुई बैठक में उसका इस्तीफा स्वीकार कर लिया। कुंबले ने पत्रकारों से कहा, मेरे पास एक योजना थी लेकिन समिति के बाकी सदस्यों ने मेरा समर्थन नहीं किया। मैं नाम का अध्यक्ष नहीं रहना चाहता था। यह पूछने पर कि बाकी सदस्यों ने उसका साथ क्यों नहीं दिया, कुंबले ने कहा, मुझे नहीं पता लेकिन मैं साथ मिलकर काम करना चाहता था। पंजाब क्रिकेट संघ के महासचिव एमपी पांडोव को एनसीए का कार्यवाहक अध्यक्ष बनाया गया है। कुंबले ने कहा, मेरे पास तीन साल की योजना थी। मैंने अध्यक्ष पद पर रहते हुए 10 बार प्रेजेंटेशन दिया। यह सोचकर कि मेरा प्रस्ताव स्वीकार कर लिया जाएगा। रविवार को भी चेन्नई में एनसीए की बैठक में इस पर बात की लेकिन समिति के बाकी सदस्य राजी नहीं हुए। उन्होंने कहा, मुझे लगा कि जब मेरी बात ही नहीं सुनी जा रही तो अध्यक्ष पद पर बने रहने का कोई मतलब नहीं है। मेरे पास कोई और चारा नहीं रह गया था।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement