जानिए, नरसिंह यादव ने डोपिंग प्रकरण में शामिल लोगों पर कार्रवाई को लेकर क्या कहा...

जानिए, नरसिंह यादव ने डोपिंग प्रकरण में शामिल लोगों पर कार्रवाई को लेकर क्या कहा...

नरसिंह यादव को सोमवार को नाडा ने डोपिंग मामले में क्लीचिट दे दी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

नरसिंह यादव की धूमिल पड़ती ओलिंपिक की संभावनाएं उस समय जीवंत हो उठीं, जब सोमवार को नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (नाडा) ने उन्हें क्लीनचिट दे दी. हालांकि उन्हें अभी वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (वाडा) से क्लीनचिट मिलना बाकी है. मंगलवार को पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने के बाद नरसिंह ने मीडिया की ओर से डोपिंग प्रकरण में शामिल लोगों पर कार्रवाई को लेकर पूछे गए सवाल का सधा हुआ जवाब दिया.

पीएम से मिलने के बाद नरसिंह से पूछा गया कि क्या वह चाहेंगे कि इस डोपिंग प्रकरण में शामिल लोगों को सजा दी जाए, तो उन्होंने कहा कि जांच चल रही है और उम्मीद है कि न्याय होगा.

नरसिंह यादव ने कहा, ‘‘ऐसा किसी भी खिलाड़ी के साथ नहीं होना चाहिए, अन्यथा वे खेलों में दिलचस्पी लेना बंद कर देंगे.’’ वहीं भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष और भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह भी प्रधानमंत्री से मुलाकात के दौरान नरसिंह के साथ मौजूद थे.

बृजभूषण ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने नरसिंह से किसी तरह का तनाव नहीं लेने तथा स्वच्छंद होकर खेलने और देश का नाम रोशन करने पर ध्यान देने को कहा.’’

नरसिंह यादव को सोमवार को नाडा ने डोपिंग के आरोपों से बरी कर दिया था. उसके अनुसार वह साजिश का शिकार बने। इससे इस पहलवान के रियो ओलंपिक में खेलने का रास्ता भी साफ हो गया.

नाडा से हरी झंडी मिलने के एक दिन बाद मंगलवार को नरसिंह यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. पीएम ने इस खिलाड़ी को बिना किसी तनाव के ओलिंपिक में देश का नाम रोशन करने पर ध्यान देने के लिए कहा. प्रधानमंत्री ने भाजपा संसदीय दल की बैठक के तुरंत बाद संसद भवन स्थित अपने कार्यालय में इस पहलवान से मुलाकात की. उन्होंने नरसिंह को आश्वासन दिया कि उनके साथ कुछ भी अन्याय नहीं होगा.

नरसिंह ने बैठक के बाद कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने मुझे शुभकामनाएं दीं और मुझे बिना किसी तनाव के ओलिंपिक में भाग लेने के लिए कहा. उन्होंने मुझे देश के लिए पदक जीतने पर ध्यान देने को कहा. पीएम ने इसके साथ ही मुझे आश्वासन दिया कि मेरे साथ कोई अन्याय नहीं होगा.’’

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

यह पहलवान 25 जून को डोप परीक्षण में नाकाम रहा था, लेकिन उसने दावा किया था कि उनके खिलाफ साजिश रची गई है. नरसिंह ने अब कहा कि वह इस विवाद को पीछे छोड़कर ओलिंपिक में अपनी भागीदारी और वहां पदक जीतने पर ध्यान देना चाहते हैं.

नरसिंह यादव ने कहा, ‘मैं प्रधानमंत्री का आभारी हूं कि वे मुझसे मिले और उन्होंने मेरा समर्थन किया. मैं लोगों का मेरा समर्थन करने के लिए आभार व्यक्त करता हूं. उम्मीद है कि मैं अपेक्षाओं पर खरा उतरूंगा. मैं कुश्ती महासंघ और मीडिया का भी मेरा समर्थन करने के लिये आभार व्यक्त करता हूं.’’