यह ख़बर 23 जुलाई, 2012 को प्रकाशित हुई थी

लंदन ओलिम्पिक : '5 बार हिस्सा लेने के बारे में नहीं सोचा था'

लंदन ओलिम्पिक : '5 बार हिस्सा लेने के बारे में नहीं सोचा था'

खास बातें

  • खेलगांव में बातचीत में भूपति ने कहा, ईमानदारी से कहूं तो जब मैंने अपना करियर शुरू किया था उस समय मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं ओलिंपिक में पांचवीं बार (लगातार) हिस्सा लूंगा। मेरे लिए यह बहुत ही खास पल है कि मैं खेलों के इस महाकुम्भ का हिस्सा हूं।
लंदन:

भारत के अनुभवी टेनिस खिलाड़ी महेश भूपति ने कहा है कि उन्होंने पांच ओलिंपिक में हिस्सा लेने के बारे में कभी नहीं सोचा था।
 
खेलगांव में बातचीत में भूपति ने कहा, ईमानदारी से कहूं तो जब मैंने अपना करियर शुरू किया था उस समय मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं ओलिंपिक में पांचवीं बार (लगातार) हिस्सा लूंगा। मेरे लिए यह बहुत ही खास पल है कि मैं खेलों के इस महाकुम्भ का हिस्सा हूं।
 
रियो डी जनेरियो में वर्ष 2016 में होने वाले ओलिंपिक में हिस्सा लेने के बारे में भूपति ने हंसते हुए कहा, बीजिंग में भी मुझसे यही सवाल पूछा गया था और मैं वहां भी खूब हंसा था।
 
यह पूछने पर कि अभी आप कितने समय तक खेलेंगे इस पर भूपति ने कहा,  देखो, मैं वर्ष दर वर्ष के आधार पर खेलता हूं।
 
ओलिंपिक में पदक के बारे में भूपति ने कहा, यह सबकुछ रोहन बोपन्ना और मेरे ऊपर निर्भर करता है कि हम कैसा खेलते हैं। दूसरों की तरह हमारे पास भी मौका है। इस स्पर्धा में 20 से 25 अच्छी टीमें हिस्सा ले रही हैं। हमें पदक जीतने के लिए चार मैच जीतने के बारे में सोचने होंगे।
 
भूपति ने कहा कि उनका सपना ओलिंपिक पदक जीतना है। उन्होंने कहा, मेरा सपना पोडियम पर खड़ा होना है। यह मेरे लिए बहुत अच्छी बात होगी।
 
उल्लेखनीय है कि भूपति का ओलिंपिक में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2004 एथेंस ओलिंपिक में रहा है। उन्होंने एथेंस में लिएंडर पेस के साथ सेमीफाइनल का सफर तय किया था जहां उन्हें हार झेलनी पड़ी थी।


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com