NDTV Khabar

बैडमिंटन : मैच फिक्सिंग के दोषी दो मलेशियाई खिलाड़ि‍यों पर लगाया गया प्रतिबंध

वर्ल्‍ड बैडमिंटन फेडरेशन (डब्ल्यूबीएफ) ने मैच फिक्सिंग मामले में दोषी पाए जाने के बाद मलेशिया के दो खिलाड़ियों को प्रतिबंधित कर दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बैडमिंटन : मैच फिक्सिंग के दोषी दो मलेशियाई खिलाड़ि‍यों पर लगाया गया प्रतिबंध

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  1. तान सुंग और जुल्किफली आचार संहिता उल्‍लंघन के दोषी करार
  2. सुंग को 15 और जुल्किफली पर लगा 20 साल का बैन
  3. प्रतिबंध के अलावा इन दोनों पर जुर्माना भी लगाया गया
मलेशिया: वर्ल्‍ड बैडमिंटन फेडरेशन (डब्ल्यूबीएफ) ने मैच फिक्सिंग मामले में दोषी पाए जाने के बाद मलेशिया के दो खिलाड़ियों को प्रतिबंधित कर दिया है. डब्ल्यूबीएफ ने बुधवार को इसकी घोषणा की. तान चुंग सींग और जुल्फदली जुल्किफली को डब्ल्यूबीएफ की आचार संहिता का उल्लंघन करने का दोषी पाते हुए इन पर क्रमश: 15 और 20 साल तक किसी भी प्रतियोगिता में भाग लेने पर प्रतिबंध लगाया गया है.

शीर्ष संस्था ने दोनों खिलाड़ियों पर बैडमिंटन में किसी भी तरह से हिस्सा लेने पर भी 15 व 20 साल का प्रतिबंध लगाया है. डब्ल्यूबीएफ की नैतिक सुनवाई पैनल ने प्रतिबंध के अलावा इन पर क्रमश: 15000 और 25000 अमेरिकी डॉलर का जुर्माना भी लगाया है. मामले की सुनवाई इस साल की शुरुआत में हुई थी जब तीन सदस्यीय स्वतंत्र आयोग ने पाया कि तान ने सट्टेबाजी, दांव लगाने और अनियमित मैच परिणामों के संबंध में 2012 की आचार संहिता के 26 उल्लंघन किए.

वीडियो: डोपिंग में इस्‍तेमाल होने वाली दवाओं के साइड इफेक्‍ट

टिप्पणियां
दूसरी तरफ 25 साल के जुल्किफली को 2012 की आचार संहिता के 27 उल्लंघनों और 2016 की आचार संहिता के चार उल्लंघनों का दोषी पाया गया. दोनों खिलाड़ियों का निलंबन 12 जनवरी 2018 से लागू हुआ है. जुल्किफली ने मौजूदा समय में वर्ल्ड नंबर-1 डेनमार्क के विक्टर एक्सेल्सन को हराकर 2011 में विश्व जूनियर चैम्पियनशिप खिताब जीता था.

(इनपुट: एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement