NDTV Khabar

National sports day 2017: वियना में रहते हैं चार हाथों वाले 'हॉकी के जादूगर' ध्यानचंद!

ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना के एक स्पोर्ट्स क्लब में उनकी खास तरह की मूर्ति लगाई गई है. इस मूर्ति की खूबी है कि इसमें ध्यानचंद के चार हाथ हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
National sports day 2017: वियना में रहते हैं चार हाथों वाले 'हॉकी के जादूगर' ध्यानचंद!

National sports day 2017: मेजर ध्यानचंद ने अपने खेल जीवन में 1000 से अधिक गोल दागे.

खास बातें

  1. देश भर में मनाया जा रहा खेल दिवस
  2. ध्यानचंद के जन्मदिन को मनाते हैं खेल दिवस
  3. ऑस्ट्रिया में है ध्यानचंद की खास मूर्ति
नई दिल्ली: हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद को पूरा देश खेल दिवस के रूप में मना रहा है. 29 अगस्त 1905 को इलाहबाद के एक राजपूत परिवार में जन्में ध्यानचंद को बचपन में हॉकी से कोई लगाव नहीं था, लेकिन रेजीमेंट में सिपाही बनने के बाद ध्यानचंद ने हॉकी खेलना शुरू किया था. इसके बाद उन्होंने ऐसी हॉकी खेली की दुनिया उन्हें 'जादूगर' कहने लगी. मेजर ध्यानचंद ने अपने खेल जीवन में 1000 से अधिक गोल दागे. यूं तो ध्यानचंद के जीवन से जुड़ी कई बातें हैं, लेकिन आपको जानकर गर्व महसूस होगा कि ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना के एक स्पोर्ट्स क्लब में उनकी खास तरह की मूर्ति लगाई गई है. इस मूर्ति की खूबी है कि इसमें ध्यानचंद के चार हाथ हैं.

ये भी पढ़ें: हॉकी की पूर्व कप्तान सुमराइ टेटे को ध्यानचंद सम्मान मिलने पर बधाई

दरअसल, ध्यानचंद की चार हाथों वाली मूर्ति के जरिए संदेश देने की कोशिश की जा रही है कि वे मैदान पर ऐसे खेलते थे मानो वे चार हाथों से खेलते हों. उनके गोल दागने की कला की दुनिया कायल थी.

ये भी पढ़ें: धनराज पिल्लै ने की ध्यानचंद को भारत रत्न देने की मांग
dhyan chand
मेजर ध्यानचंद की फाइल तस्वीर.

1968 में भारतीय ओलंपिक टीम के कप्तान रहे गुरुबख्श सिंह ने एक इंटरव्यू में कहा था, 'साल 1959 में ध्यानचंद 54 साल के हो गए थे, इसके बाद भी उनकी तेजी के सामने युवा फेल थे, कोई भी खिलाड़ी बुली में उनसे गेंद नहीं छीन सकता था.'

ये भी पढ़ें: हॉकी के जादूगर ध्यानचंद की विरासत नहीं संभाल पाया देश

मोदी ने राष्ट्रीय खेल प्रतिभा खोज पॉर्टल का शुभारंभ किया: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को हॉकी के दिग्गज खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद की जयंती पर श्रद्धांजलि दी और राष्ट्रीय खेल प्रतिभा खोज पॉर्टल का शुभारंभ किया. मोदी ने कहा कि मेजर ध्यानचंद के खेल कौशल के बूते भारतीय हॉकी में अद्भुत कारनामें हुए हैं. 

उनके जन्मदिन को देश में राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है.

मोदी ने कहा कि देश में अद्भुत खेल प्रतिभा है. 

VIDEO: शाहरुख अब बनेंगे ध्यानचंद


टिप्पणियां
प्रधानमंत्री ने कहा, "इस क्षमता के उपयोग के लिए पॉर्टल शुरू किया गया है, जो युवाओं को खेल क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए सही दिशा और सहयोग देगा."

मोदी ने कहा, "खेल के लिए शारीरिक तंदरुस्ती, मानसिक सतर्कता और व्यक्तिगत विकास जरूरी है."
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement