NDTV Khabar

नतीजा नहीं प्रोग्रेस पर नज़र, मिशन अज़लान शाह कप के लिए तैयार भारतीय हॉकी टीम

92 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
नतीजा नहीं प्रोग्रेस पर नज़र, मिशन अज़लान शाह कप के लिए तैयार भारतीय हॉकी टीम

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली: भारतीय हॉकी का अगला मिशन शनिवार से मलेशिया में शुरू हो रहा अज़लान शाह कप है. पिछले साल की उपविजेता रही भारतीय टीम की टक्कर पहले मैच में ब्रिटेन से है. लेकिन इस बार टीम की सबसे बड़ी फिक्र नौ बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया से जुड़ी है. करीब छह हफ़्तों के लंबे कैंप के बाद भारतीय हॉकी टीम अज़लान शाह कप में उतरने को तैयार है. पहले मुक़ाबले में ब्रिटेन से टक्कर को लेकर भारतीय टीम उतनी फ़िक्रमंद नहीं. क्योंकि टीम के डच कोच रोलंट ऑल्टमैंस नतीजे से ज़्यादा टीम को आंकने पर ध्यान दे रहे हैं. टीम में कई युवा खिलाड़ी भी शामिल किए गए हैं. ज़ाहिर है टीम का लक्ष्य इस टूर्नामेंट के सहारे एशिया कप, एशियाड और वर्ल्ड हॉकी लीग फ़ाइनल के लिए अच्छी तरह तैयार होना है.

भारत के डच कोच रोलंट ऑल्टमैन्स कहते हैं, "हमने 40 दिनों के कैंप में अच्छी प्रोग्रेस की है. हमने जानबूझकर लंबा कैंप लगाया. क्योंकि टीम में कई खिलाड़ी नए हैं और अनुभवी खिलाड़ियों की फ़िटनेस पर भी काम करना था. हम अज़लान शाह कप में देखना चाहते हैं कि हमने जो प्रगति की है वो हमारी उम्मीदों के मुताबिक है या नहीं.'

पिछली दफ़ा भारतीय टीम फ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया (4-0) से हारकर उपविजेता रही थी. लेकिन हाल के दिनों में भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया को अच्छी टक्कर देती दिख रही है. रियो ओलिंपिक्स से पहले चैंपियंस ट्रॉफ़ी में भारत ने ऑस्ट्रेलिया से फ़ाइनल टाइम तक 0-0 से मुक़ाबले को बराबरी पर रखा. लेकिन पेनल्टी शूट आउट में भारतीय टीम 3-1 से हारते हुए भी चैंपियंस ट्रॉफ़ी में रजत जीतने का इतिहास बना गई. इसलिए वर्ल्ड नंबर 6 भारत, वर्ल्ड नंबर 2 ऑस्ट्रेलिया को अच्छी चुनौती देने की उम्मीद कर सकता है.

कोच रोलंट ऑल्टमैन्स कहते हैं, "ऑस्ट्रेलिया भी नई टीम है. उसके कोच और सपोर्ट स्टाफ़ भी नए हैं. उस टीम में भी अनुभवी खिलाड़ियों के साथ युवा खिलाड़ियों को शामिल किया गया है."

छह देशों के इस टूर्नामेंट में चार बार की चैंपियन भारतीय टीम के लिए खुद को मांजने और जीत के साथ शुरुआत करने का अच्छा मौक़ा भी है. भारतीय टीम सिर्फ़ ऑस्ट्रेलिया से पीछे (FIH रैंकिंग : ऑस्ट्रेलिया 2, भारत 6, ग्रेट ब्रिटेन 7, न्यूज़ीलैंड 8, मलेशिया 14, जापान 16) है. टीम यहां विजयी होती है तो अगले दो-तीन साल में होने वाले एशियाड, वर्ल्ड कप और ओलिंपिक्स जैसे बड़े टूर्नामेंट के लिए अच्छी नींव तैयार हो सकती है.
  • भारत के लीग मैच : 
  • 29 अप्रैल vs ग्रेट ब्रिटेन
  • 30 अप्रैल vs न्यूज़ीलैंड
  • 2 मई vs ऑस्ट्रेलिया
  • 3 मई vs जापान
  • 5 मई vs मलेशिया

भारतीय टीम : 
गोलकीपर : पीआर श्रीजेश (कप्तान, 167 मैच), आकाश अनिल चिकते (15 मैच)
डिफेंडर : प्रदीप मोर (29 मैच), सुरेन्दर कुमार (43 मैच), रुपिन्दर पाल सिंह (165 मैच), हरमनप्रीत सिंह (24 मैच), गुरिन्दर सिंह (0 अंतरराष्ट्रीय मैच)
मिडफ़ील्डर : सरदार सिंह (268 मैच), सुमित (0), चिंगलेनसेना सिंह (131 मैच), मनप्रीत सिंह (उपकप्तान, 170 मैच), हरजीत सिंह (20 मैच), मनप्रीत (0)
फ़ॉरवर्ड : एसवी सुनील (198 मैच), तलविन्दर सिंह (46 मैच), मंदीप सिंह (61 मैच), अफ़्फ़ान यूसुफ़ (19 मैच), आकाशदीप सिंह (122 मैच)
  • मुख्य कोच : रोलंट ऑल्टमैन्स 
  • एनालिटिकल कोच : लेन्डार्ट योहैनस
  • कोच : जुगराज सिंह, अर्जुन हलप्पा
  • साइंटिफ़िक एडवाइज़र : स्कॉट कॉनवे
  • फ़िज़ियोथरपिस्ट : राजीव कुमार सिंह
  • मालिशिया : अरूप नस्कर
  • वीडियो एनालिस्ट : आदित्य चक्रवर्ती 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement