NDTV Khabar

बैडमिंटन : यूएस ओपन के क्‍वार्टर फाइनल में पहुंचे पी. कश्‍यप, भारत के ही समीर वर्मा से होगी भिड़ंत

भारत के बैडमिंटन खिलाड़ी परुपल्ली कश्यप और समीर वर्मा यहां जारी यूएस ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में आमने-सामने होंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बैडमिंटन : यूएस ओपन के क्‍वार्टर फाइनल में पहुंचे पी. कश्‍यप, भारत के ही समीर वर्मा से होगी भिड़ंत

परुपल्‍ली कश्यप ने तीसरे दौर में श्रीलंका के निलुका करुनारत्ने को हराया (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कश्‍यप ने तीसरे दौर में श्रीलंका के करुणारत्‍ने को हराया
  2. ब्राजील के येगोर सोएल्‍हो पर भारी पड़े समीर वर्मा
  3. प्रणय ने भी टूर्नामेंट के क्‍वार्टर फाइनल में स्‍थान बनाया
कैलिफोर्निया: भारत के बैडमिंटन खिलाड़ी परुपल्ली कश्यप और समीर वर्मा यहां जारी यूएस ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में आमने-सामने होंगे. पुरुष एकल वर्ग के तीसरे दौर में दोनों भारतीय खिलाड़ियों ने जीत हासिल कर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया है. इन दोनों खिलाड़ि‍यों के अलावा, एचएस प्रणय ने भी अपना विजयी क्रम जारी रखते हुए टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई है.कश्यप ने जहां तीसरे दौर में श्रीलंका के खिलाड़ी निलुका करुनारत्ने को सीधे गोमों में 21-19, 21-10 से मात दी, वहीं समीर ने ब्राजील के बैडमिंटन खिलाड़ी येगोर सोएल्हो को 18-21, 21-14, 21-18 से हराया. प्रणय का सामना तीसरे दौर में नीदरलैंड्स के मार्क कालजॉव से हुआ. उन्होंने इस मैच में मार्क को 21-81, 4-21, 21-16 से मात दी.

य‍ह भी पढ़ें
बैडमिंटन : परुपल्‍ली कश्‍यप ने हासिल की बड़ी जीत, 21वीं वरीयता के ली हृयून को हराया
गोपीचंद ने कहा, हम अभी भी बैडमिंटन में चीन से बहुत पीछे हैं, यह बताया कारण..
श्रीकांत ने ऑस्ट्रेलिया ओपन में रचा इतिहास, ओलिम्पिक चैम्पियन को हराकर जीता खिताब

गौरतलब है कि इससे पहले परुपल्‍ली कश्यप ने बुधवार देर रात खेले गए पहले दौर में बड़ा उलटफेर करते हुए प्रतियोगिता में 21वीं विश्व वरीयता के दक्षिण कोरियाई खिलाड़ी ली ह्यून को हराया था. उन्‍होंने आखिरी क्षणों तक संघर्षपूर्ण रहा यह मुकाबला 21-16, 10-21, 21-19 से जीतकर अगले दौर में स्‍थान बनाया था.

वीडियो: किदांबी श्रीकांत भारतीय बैडमिंटन के चमकते सितारे

टिप्पणियां


कश्‍यप का करियर चोटों से प्रभावित रहा है. घुटने और कंधे की चोट उन्‍हें काफी परेशान करती रही है. उन्‍हें पिछले साल जर्मन ओपन के दौरान चोट लगी थी इस चोट के कारण दूसरा ओलिंपिक खेलने का उनका सपना टूट गया. गौरतलब है कि किदांबी श्रीकांत सहित भारतीय बैडमिंटन की युवा ब्रिगेड ने इस समय अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर लगातार अच्‍छज्ञ प्रदर्शन कर हर किसी का ध्‍यान आकर्षित किया है. अपने इस प्रदर्शन से भारतीय युवा खिलाड़ि‍यों ने बैडमिंटन के सुपर पावर चीन के सामने कड़ी चुनौती पेश की है. (आईएएनएस से इनपुट)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement