NDTV Khabar

प्रो कबड्डी लीग नीलामी : ड्रॉफ्ट में थे 10 पाकिस्तानी खिलाड़ी, लेकिन इस डर से किसी ने नहीं खरीदा!

प्रो-कबड्डी लीग सीजन-5 के लिए नीलामी का दौर जारी है. इसमें भारतीय खिलाड़ी नितिन तोमर, मंजीत चिल्लर और रोहित कुमार के साथ ही विदेशी खिलाड़ी ईरान के अबोजार मोहाजेरमिघानी और थाईलैंड की कबड्डी टीम के कप्तान खोमसाम थोंगकम पर जमकर बोली लगी.

60 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
प्रो कबड्डी लीग नीलामी : ड्रॉफ्ट में थे 10 पाकिस्तानी खिलाड़ी, लेकिन इस डर से किसी ने नहीं खरीदा!

प्रो कबड्डी लीग का सीजन-5 23 जून से शुरू होगा...

खास बातें

  1. नीलामी में 4 पाकिस्तानी खिलाड़ियों को ओवरसीज वर्ग-बी में रखा गया था
  2. दूसरे दिन सबसे पहले पाकिस्तानी के 10 खिलाड़ियों पर बोली लगी
  3. कोई भी फ्रेंचाइजी पाकिस्तानी खिलाड़ियों को खरीदने के लिए आगे नहीं आई
नई दिल्ली: प्रो-कबड्डी लीग सीजन-5 के लिए नीलामी का दौर जारी है. इसमें भारतीय खिलाड़ी नितिन तोमर, मंजीत चिल्लर  और रोहित कुमार के साथ ही विदेशी खिलाड़ी ईरान के अबोजार मोहाजेरमिघानी और थाईलैंड की कबड्डी टीम के कप्तान खोमसाम थोंगकम पर जमकर बोली लगी. इस बीच पाकिस्तान के खिलाड़ियों को मायूस होना पड़ा, जबकि बोली के ड्रॉफ्ट में पाकिस्तानी के 10 खिलाड़ी शामिल थे. जब मंगलवार को बोली की शुरुआत हुई, तो इन्हें आगे रखा गया, लेकिन एक वजह से किसी भी फ्रेंचाइजी ने उन पर दांव खेलने का साहस नहीं जुटाया.

बोली के दूसरे दिन जब नीलामी की प्रक्रिया शुरू हुई, तो पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर ही सबसे पहले बोली लगाई गई. हालांकि लीग की 12 में से किसी भी फ्रेंचाइजी ने उन्हें खरीदने के लिए दांव नहीं लगाया. माना जा रहा है कि फ्रेंचाइजियों पर खेल मंत्री के एक बयान ने प्रभाव डाला. उनके बयान का मतलब साफ था कि पाक खिलाड़ियों को खरीद भी लिया, तो आने की अनुमति नहीं मिलेगी. इसी वजह से वह पाकिस्तानी दिग्गजों पर दांव खेलने के लिए आगे नहीं आईं.

गौरतलब है कि खेल मंत्री विजय गोयल ने सोमवार को ही यह साफ कर दिया था कि भारत और पाकिस्तान के बीच जिस तरह के हालात चल रहे हैं, उन्हें देखते हुए सरकार पाकिस्तानी खिलाड़ियों को देश में खेलने की इजाजत नहीं देगी. ऐसे में यदि टीम मालिक पाकिस्तान खिलाड़ियों के खरीदते तो उनका पैसा बेकार चला जाता. फिर क्या था उन्होंने कोई जोखिम नहीं लिया.

ये 10 पाक खिलाड़ी थे ड्रॉफ्ट में...
नीलामी के लिए पाकिस्तान के 10 खिलाड़ियों को ओवरसीज वर्ग में रखा गया था. पाक के चार खिलाड़ियों को बी-ओवरसीज वर्ग में, जबकि छह को सी-ओवरसीज वर्ग में शामिल किया गया था. बी-वर्ग में आतिफ वहीद, वसीम सज्जाद, हसन रजा और नासिर अली थे, वहीं सी-वर्ग में अरसलान अहमद, हसन अली, अखलाक हुसैन, इबरार हुसैन, मोहम्मद इमरान और उस्मान जदा थे..

प्रमोटर कंपनी ने किया था शामिल, लेकिन...
लीग की प्रमोटर कंपनी-मशाल स्पोर्ट्स के प्रमुख चारू शर्मा ने कहा था कि पाक खिलाड़ियों को शामिल करने का कबड्डी को सही मायनों में लोकप्रिय बनाना था. हालांकि बाद में उनका रुख बदल गया और उन्होंने कहा कि अंतिम फैसला सरकार का ही होगा और लीग आयोजक इसे मानने को बाध्य होंगे.
(इनपुट एजेंसी से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement