NDTV Khabar

रिक्शा चालक के बेटे ने ईद पर बनाया दौड़ में ऑल इंडिया रिकॉर्ड

निसार अहमद के पिता नन्कू अहमद रिक्शा चलाते हैं तो मां दूसरे के घरों में पूजा करते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रिक्शा चालक के बेटे ने ईद पर बनाया दौड़ में ऑल इंडिया रिकॉर्ड

गरीब परिवार से आने वाले निसार अहमद ने ईद के दिन मेडल जीतकर सबको चौंका दिया है.

खास बातें

  1. धावक निसार ने अंडर 16 ऑल इंडिया रिकॉर्ड को तोड़ा है
  2. बेटा जब मंच पर ले रहा था मेडल, उसी वक्त पिता चलाने गए थे रिक्शा
  3. मां दूसरे घरों में काम करके घर की करती है आर्थिक मदद
नई दिल्ली:

इस साल दो सितंबर को ज्यादातर लोग ईद मनाने में लगे थे, वहीं निसार अहमद दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में किस्मत आजमा रहा था. किसे पता था निसार कोई कारनामा कर देगा. इस होनहार युवक ने दिल्ली स्टेट एथलेटिक्स प्रतियोगिता में 100 और 200 मीटर स्प्रिंट प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता है. निसार की जीत इसलिए भी खास है, क्योंकि उसने अंडर 16 ऑल इंडिया रिकॉर्ड को तोड़ा है. मेडल लेने के लिए जब निसार मंच की ओर बढ़ रहे थे तो वहां मौजूद लोग उम्मीद कर रहे थे कि शायद उसके मां-पिता भी यहां मौजूद होंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया. होनहार युवक निसार जब गोल्ड मेडल ले रहे थे तब उनके पिता रिक्शा चलाने और मां घर के काम में जुटी थीं. ईद के दिन भाई को मिली इस सफलता की खबर सुनते ही बहन भावुक हो गईं.

ये भी पढ़ें:  दिनेश कुमार ने WWE के रिंग में दिखाया ऐसा कमाल


दिल्ली का स्लम बॉय है निसार: निसार दिल्ली के आज़ादपुर के रेलवे स्टेशन के बड़े बाग स्लम में रहता है. घर की माली हालत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिता नन्कू अहमद रिक्शा चलाकर भरण-पोषण करते हैं. चार लोगों का परिवार स्लम के एक कमरे में रहता है. पिता को आर्थिक सहारा मिल सके इसलिए मां दूसरे के घरों में काम करती हैं. 

इलाज नहीं करा पा रहे मां-पिता: निसार के पिता नन्कू अहमद के पैर में 20 साल से परेशानी है, फिर भी वह रिक्शा चलाते हैं. वहीं कभी गिरने के चलते मां को भी चलने-फिरने में समस्या होती है. निसार की दो बहने हैं. एक की शादी हो चुकी है तो दूसरे की खातिर मां-पिता पैसे जुटाने में लगे हैं.

ये भी पढ़ें: 9 रन की हार लंबे समय तक सालती रहेगी : झूलन गोस्‍वामी

बेटे पर खर्च करते हैं पिता अपनी कमाई: यूं तो नन्कू राम हर महीने अधिकतम सात हजार रुपए कमा लेते हैं, लेकिन वे बेटे की जरूरतें पूरी करने की पूरी कोशिश करते हैं. पिता की अधिकतम कमाई खर्च करने के बाद भी निसार को भरपूर डाइड नहीं मिल पाती है. 

बेटे की खातिर कूलर खरीदा: धावक निसार की मां ने बताया कि बेटा दौड़कर आता तो गर्मी से बेहाल दिखता. इसी को ध्यान में रखकर एक पुराना कूलर खरीदा है. पैसों की किल्लत और महंगी बिजली के चलते बड़ा कूलर नहीं ला पा रही हैं.

ये भी पढ़ें: गौरव बिधूड़ी ने भारत के लिए पदक तय करके किया कमाल

टिप्पणियां

ऐसे शुरू हुआ मेडल जीतने का सफर: तीन साल पहले निसार से मिलीं सुनीता राय अब उसकी कोच हैं. वह बिना फीस लिए उसे कोचिंग दे रही हैं. ऑल इंडिया स्कूल लेवल के लिए क्वालीफाई करने के लिए निसार ने अंडर 14 इंटर जोन खेले. इंटर जोन में निसार ने तीन दिन गोल्ड जीता और रिकॉर्ड भी बनाया. 

VIDEO: रिक्शा चालक के बेटे निसार ने तोड़े एथलेटिक्स में भारत के रिकॉर्ड

इंटर जोन में क्वालीफाई करने के बाद निसार ऑल इंडिया स्कूल प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई किया. केरल में हुई प्रतियोगिता में निसार ने पहले दिन 400 मीटर में कांस्य पदक जीता. दूसरे दिन निसार गोल्ड और तीसरे व चौथे दिन भी मेडल अपने नाम कर लिया. 2016 में निसार ने दिल्ली राज्य अंडर 16 प्रतियोगिता में गोल्ड और सिल्वर मेडल जीता था. दिल्ली में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद गेल इंडिया ने उनके साथ स्पॉन्सर करते हुए कुछ पैसे भी दिए. अब निसार गेल इंडिया स्प्रिंट स्टार के रूप में जाना जाता है.



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement