रियो ओलिंपिक में पहले दिन जीतू राय से शूटिंग में रहेगी पदक की उम्मीद

रियो ओलिंपिक में पहले दिन जीतू राय से शूटिंग में रहेगी पदक की उम्मीद

जीतू राय (फाइल फोटो)

रियो डि जेनेरियो:

भारतीय टीम कल से शुरू होने वाले 31वें ओलिंपिक खेलों के शुरुआती दिन ही निशानेबाज जीतू राय से पदक की उम्मीद लगाए होगी, जबकि पुरुष हॉकी टीम अपनी स्वर्णिम प्रतिष्ठा दोबारा हासिल करने की मुहिम में अपना अभियान शुरू करेगी. इस बीच खबर है कि टेनिस स्टार लिएंडर पेस को कमरा नहीं मिल पाया, जिससे उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा. हालांकि बाद में उन्हें कमरा मिल गया.

उनतीस वर्षीय जीतू ओलिंपिक शूटिंग सेंटर के जब अपनी पसंदीदा 10 मी एयर पिस्टल स्पर्धा में अपनी पिस्टल उठाएंगे, तो वह सभी के आकषर्ण का केंद्र होंगे. पिछले दो साल में शानदार फॉर्म, जिसमें राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों का स्वर्ण पदक शामिल है, के बावजूद वह खेलों से पहले थोड़ा ‘लो प्रोफाइल’ रहने में सफल रहे हैं.

जीतू ने जून में अजरबेजान में विश्व कप में रजत पदक जीता था, वहीं भारतीय हॉकी टीम पिछले 36 साल से चले आ रहे पदक के सूखे को समाप्त करने के लिये कल अभियान की शुरुआत करेगी, जो ओलिंपिक से पहले कुछ प्रेरणादायी परिणाम हासिल कर काफी लंबे समय बाद उम्मीदें बढ़ाने में कामयाब रही है. टीम ने आयरलैंड के खिलाफ ग्रुप बी के शुरुआती मैच पर ध्यान लगाए रखने के लिये उद्घाटन समारोह में भाग नहीं लेने का फैसला किया है.

टेनिस सितारे भी कल पदक के लिए चुनौती पेश करेंगे, जिसमें लिएंडर पेस शुरुआती पुरुष युगल मैच के लिए रोहन बोपन्ना के साथ खेलेंगे. पेस हालांकि देर से यहां पहुंचे हैं. भारतीय जोड़ी का सामना कल शुरुआती दौर में पोलैंड के मार्सिन मातकोवस्की और लुकास कुबोत की जोड़ी से होगा. महिलाओं के ड्रॉ में सानिया मिर्जा और प्रार्थना थोम्बरे महिला युगल में अपने अभियान की शुरुआत पहले राउंड में पेंग शुआई और शुआई झांग की चीनी जोड़ी के खिलाफ करेंगी.

निशानेबाजी में पहले दिन अपूर्वी चंदेला और अयोनिका पॉल भी 10 मी एयर राइफल महिला स्पर्धा में अपने अभियान की शुरुआत करेंगी. दोनों ने 2014 ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों में क्रमश: स्वर्ण और रजत पदक अपने नाम किया था.

पेस के देर से आने के कारण बोपन्ना को सर्बिया के नेनाद जिमोनजिच के साथ अभ्यास करना पड़ा. उन्होंने सानिया मिर्जा के साथ भी अभ्यास किया जबकि कोच जीशान अली ने उन्हें दूसरी महिला युगल खिलाड़ी प्रार्थना थोम्बरे के साथ भी अभ्यास कराया.

अपना सातवां ओलिंपिक खेल रहे पेस ने उद्घाटन समारोह की पूर्व संध्या पर ही खेलगांव में प्रवेश किया है. वह काफी देर से पहुंचे जिससे उनके लिए कोई कमरा नहीं था, लेकिन अंत में बीती शाम उन्हें कमरा मिला.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

भारत के दल प्रमुख राकेश गुप्ता ने स्पष्ट किया कि पेस अकेले रहना चाहते थे. उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें (पेस को) कमरा दे दिया गया था और इसमें कोई विवाद नहीं है. उनके जैसा महान खिलाड़ी अलग से कमरे का हकदार है.’’ उन्होंने साथ ही कहा कि यह शीर्ष भारतीय खिलाड़ी न्यूयार्क में टूर्नामेंट खेल रहा था जिसके कारण उसे देरी हुई.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)