NDTV Khabar

Australian Open: रोहन बोपन्‍ना का दूसरा ग्रैंडस्‍लैम खिताब जीतने का सपना टूटा, मिक्‍स्‍ड डबल्‍स वर्ग के फाइनल में हारे

भारत के रोहन बोपन्‍ना का किसी ग्रैंडस्‍लैम टूर्नामेंट के मिक्स्‍ड डबल्‍स वर्ग में दूसरी बार चैंपियन चैंपियन बनने का सपना पूरा नहीं हो सका है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Australian Open: रोहन बोपन्‍ना का दूसरा ग्रैंडस्‍लैम खिताब जीतने का सपना टूटा, मिक्‍स्‍ड डबल्‍स वर्ग के फाइनल में हारे

रोहन बोपन्ना और टिमिया बाबोस की जोड़ी को फाइनल में हार का सामना करना पड़ा

खास बातें

  1. 6-2, 4-6, 9-11 से हार का सामना करना पड़ा
  2. पाविच और डाब्रोवस्की की जोड़ी ने दी शिकस्‍त
  3. डाब्रोवस्की के साथ पिछले साल जीते थे फ्रेंच ओपन
मेलबर्न:

भारत के रोहन बोपन्‍ना का किसी ग्रैंडस्‍लैम टूर्नामेंट के मिक्स्‍ड डबल्‍स वर्ग में दूसरी बार चैंपियन चैंपियन बनने का सपना पूरा नहीं हो सका है. रोहन बोपन्ना और हंगरी की उनकी जोड़ीदार टिमिया बाबोस को पहले सेट में जीत के बावजूद ऑस्ट्रेलियाई ओपन के फाइनल में आज यहां मैट पाविच और गैब्रियला डाब्रोवस्की के हाथों हार का सामना करना पड़ा. बोपन्ना और बाबोस की पांचवीं वरीयता प्राप्त जोड़ी को क्रोएिशया के पाविच और कनाडा की डाब्रोवस्की की आठवीं वरीयता प्राप्‍त जोड़ी के हाथों एक घंटे आठ मिनट तक चले मैच में 6-2, 4-6, 9-11 से हार का सामना करना पड़ा.

यह भी पढ़ें: लिएंडर पेस और पूरव राजा का सफर प्री-क्वार्टरफाइनल में खत्म


टिप्पणियां

बोपन्ना ने मिक्स्‍ड डबल्‍स वर्ग में अपना पहला ग्रैंडस्लैम खिताब 2017 फ्रेंच ओपन के रूप में जीता था. मजे की बात यह है कि उन्होंने कनाडा की गैब्रिएला दाब्रोवस्की के साथ जोड़ी बनाकर ही यह खिताब जीता था. दाब्रोवस्की ऑस्‍ट्रेलियन ओपन के फाइनल में इस बार मैट पाविच के साथ जोड़ी बनाकर खेलीं और बोपन्ना और टिमिया बाबोस की जोड़ी को हराकर खिताब जीतीं.

वीडियो: सेरेना विलियम्‍स ने जीता अपना 23वां ग्रैंडस्‍लैम
बोपन्ना और बाबोस की जोड़ी ने पहले सेट में दबदबा बनाये रखा और अपनी प्रतिद्वंद्वी की गलतियों का पूरा फायदा उठाया. भारत और हंगरी की जोड़ी को ब्रेक प्वाइंट के सात मौके मिले जिनमें से दो में वे सफल रहे. पहला सेट गंवाने के बाद पाविच और डाब्रोवस्की ने  शानदार वापसी की. उनकी सर्विस अच्छी थी और दूसरे सेट में उन्होंने ब्रेक प्वाइंट का एक भी अवसर नहीं दिया. दूसरी ओर, बोपन्ना और बाबोस ने इस दौरान गलतियां की और एक बार अपनी सर्विस गंवाई. इसके बाद दोनों टीमें टाईब्रेकर में खेलने के लिये उतरी तथा कड़े मुकाबले के बाद पाविच और डाब्रोवस्की खिताब जीतने में सफल रहे.(इनपुट: एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement