तेंदुलकर की नजरें शतकों के शतक पर

खास बातें

  • सचिन तेंदुलकर की नजरें 12 जनवरी से शुरू हो रही पांच वनडे मैचों की सीरीज के दौरान अंतरराष्ट्रीय शतकों का शतक पूरा करने पर टिकी होंगी।
New Delhi:

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में टेस्ट शतकों का अर्धशतक पूरा करने के बाद मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की नजरें 12 जनवरी से शुरू हो रही पांच वनडे मैचों की सीरीज के दौरान अंतरराष्ट्रीय शतकों का शतक पूरा करने पर टिकी होंगी। तेंदुलकर के अलावा भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, तेज गेंदबाज जहीर खान और ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह के पास भी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज के लिए दौरान विशिष्ट उपलब्धि हासिल करने का मौका होगा। धोनी की नजरें जहां वनडे क्रिकेट में छह हजार रन पूरे करने पर टिकी होंगी, वहीं जहीर और हरभजन 250 विकेट का आंकड़ा छूने के इरादे से उतरेंगे। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हाल में संपन्न टेस्ट शृंखला में दो शतकों के साथ अपने टेस्ट शतकों की संख्या 51 तक पहुंचाने वाले तेंदुलकर ने एकदिवसीय क्रिकेट में भी 46 शतक जड़े हैं और अगर वह आगामी पांच मैचों की शृंखला के दौरान तीन शतक और जड़ने में सफल रहते हैं, तो अंतरराष्ट्रीय शतकों का शतक पूरा करने की अभूतपूर्व उपलब्धि हासिल करने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन जाएंगे और संभवत: उनका यह रिकॉर्ड लंबे समय तक कामय रहेगा। तेंदुलकर ने अब तक 442 एकदिवसीय मैचों में 45.12 की औसत से 17598 रन बनाए हैं, जिसमें 46 शतक शामिल हैं, जबकि 177 टेस्ट में उनके नाम 51 शतकों की मदद से 14692 रन दर्ज हैं। तेंदुलकर अगर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन शतक जमाने में सफल रहते हैं, तो फिर उन्हें इसी शृंखला के दौरान 18 हजार एकदिवसीय रन का आंकड़ा छूने में भी दिक्कत नहीं होनी चाहिए, जिसके लिए उन्हें 402 रन की दरकार है। दूसरी तरफ धोनी को एकदिवसीय क्रिकेट में छह हजार रन बनाने वाला दुनिया का 41वां और भारत का सातवां बल्लेबाज बनने के लिए 267 रन की दरकार है। धोनी ने अब तक 172 एकदिवसीय मैचों में 50.28 की बेहतरीन औसत के साथ 5733 रन बनाए हैं। धोनी से पहले सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली (11363), राहुल द्रविड़ (10765), मोहम्मद अहजरूद्दीन (9378), युवराज सिंह (7598) और वीरेंद्र सहवाग (7380) छह हजार रन पूरे करने वाले भारतीय बल्लेबाज हैं। गेंदबाजी की बात करें तो दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में काफी सफल रहे जहीर और हरभजन को 250 विकेट का आंकड़ा छूने के लिए क्रमश: सात और आठ विकेट की दरकार है। इन दोनों से पहले भारतीय गेंदबाजों में अनिल कुंबले (334 विकेट), जवागल श्रीनाथ (315), अजित अगरकर (288) और कपिल देव (253) यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com