NDTV Khabar

पद्म सम्मान के लिए नाम नहीं भेजे जाने से साइना नेहवाल दुखी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पद्म सम्मान के लिए नाम नहीं भेजे जाने से साइना नेहवाल दुखी
नई दिल्ली: केंद्रीय खेल मंत्रालय ने 2014 के पद्म भूषण सम्मान के लिए कुश्ती के चैंपियन खिलाड़ी सुशील कुमार के नाम की अनुशंसा गृह मंत्रालय से की है। इससे बैडमिंटन की सुपरस्टार साइना नेहवाल बेहद दुखी हैं। उन्होंने ट्विटर एकाउंट (@NSaina) पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा, खेल मंत्रालय ने मेरा नाम नहीं भेजा है, ये देखकर मैं दुखी हूं।

साइना नेहवाल ने अपना रोष जताते हुए आगे लिखा है, मुझे 2010 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। नियमों के मुताबिक, पांच साल के बाद ही अगला पद्म सम्मान मिल सकता है, इस साल मेरे पांच साल पूर हो चुके थे।

दरअसल, सुशील कुमार को 2011 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था और नियमों के मुताबिक, उन्होंने 2016 में ही दूसरा पद्म सम्मान मिल सकता है। इस पहलू को साइना नेहवाल ने उठाते हुए ट्विटर पर ही लिखा है, जब मैंने 2014 में पद्म भूषण के लिए आवेदन किया था, तो मंत्रालय ने कहा था कि पांच साल पूरे नहीं हुए हैं तो आपका आवेदन रद्द हो जाएगा।

मैंने इस साल फिर से आवेदन किया है। मैंने सुशील कुमार के नाम की अनुशंसा किए जाने के बारे में पढ़ा है, जिनके पांच साल पूरे नहीं हुए हैं, लेकिन उनका मामला विशेष बनाया गया है। वैसे पांच साल के प्रावधान में गृह मंत्रालय को नरमी दिखाने का विशेषाधिकार है, लेकिन इसके लिए इंतजार करना होगा कि गृह मंत्रालय सुशील कुमार को पद्म सम्मान से सम्मानित करने का फ़ैसला लेती है या नहीं, क्योंकि 2013 में ही सुशील कुमार को पद्म भूषण देने की अनुशंसा खेल मंत्रालय ने की थी, लेकिन उन्हें उस बार पद्म भूषण नहीं मिला था।

साइना नेहवाल ने यह भी कहा है, मैंने 2012 ओलिंपिक में कांस्य पदक जीता और 2014 में कई खिताब भी जीते। 2010 में कॉमनवेल्थ खेलों में गोल्ड मेडल जीता। दुनिया की नंबर 4 खिलाड़ी हूं। ऐसे में खेल मंत्रालय को इस मामले को देखना चाहिए। साइना ने यह भी कहा कि अगर सुशील के साथ उनको भी पद्म सम्मान मिलता है तो ये उनके लिए खुशी की बात होगी।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement