Santosh Trophy: सबसे जरुरत के मौके पर चूका बंगाल, केरल बना छठी बार चैंपियन

कहते हैं कि जो मारे सो मीर, लेकिन सबसे बड़े मौके पर बंगाल की टीम चूक गई, और वह चैंपियन बनने से चूक गया

Santosh Trophy: सबसे जरुरत के मौके पर चूका बंगाल, केरल बना छठी बार चैंपियन

खिताब जीतने वाली केरल की टीम

खास बातें

  • दोनों टीमों ने दमदार खेले दिखाया
  • र्तीथांकर ने बंगाल को पेनाल्टी शूटआउट में पहुंचाया
  • पर शूटआउट में मात खा गया बंगाल
कोलकाता:

केरल ने रविवार को बंगाल को पेनल्टी शूटआउट में 4-2 (2-2) से मात देकर छठी बार संतोष ट्रॉफी फुटबॉल टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम किया. विवेकानंद युवा भारती क्रीडांगन स्टेडियम में रविवार को खेले गए मुकाबले में दोनों टीमों ने दमदार खेले दिखाया. केरल ने मैच की अच्छी शुरुआत की और जितिन एम.एस ने 19वें मिनट में गोल दागकर मेहमान टीम को 1-0 से आगे कर दिया. एक गोल से पिछड़ने के बाद बंगाल ने भी अपने खेल को बेहतर किया लेकिन वह गोल करने में कामयाब नहीं हो पाए.

दूसरा हाफ बंगाल के लिए शानदार रहा और 68 वें मिनट में कप्तान जीतेन मुर्मू ने गोल करके मेजबान टीम को बराबरी पर ला खड़ा किया. इसके बाद, निर्धारित समय में कोई भी टीम गोल नहीं कर पाई.
Newsbeep

यह भी पढ़ें: रोनाल्डो, मेसी की मौजूदगी के बावजूद नेमार बन सकते हैं दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर: रॉबर्टो कार्लोस
 

अतिरिक्त समय के पहले हाफ में भी कोई टीम गोल नहीं कर पाई लेकिन दूसरे हाफ के 118वें मिनट विबिन ने गोल दागकर केरल को जीत के करीब पहुंचा दिया. बंगाल को दूसरे हाफ के इंजुरी टाइम के फ्री-किक मिली जिसे गोल में डालकर र्तीथांकर ने मैच में मेजबान टीम की अप्रत्याशित वापसी कर दी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: नॉर्थ-ईस्ट में फुटबॉल की दीवानगी हर दिन ऊपर जा रही है. 
र्तीथांकर के शानदार गोल की बदौलत मैच पेनल्टी शूटआउट में पहुंच गया जहां केरल ने 4-2 से बाजी मार ली