NDTV Khabar

Santosh Trophy: क्या 34वीं बार खिताब अपनी झोली में डाल पाएगा बंगाल? आज खेला जाएगा फाइनल

केरल ने पांच बार यह खिताब अपने नाम किया है. इसके अलावा पंजाब ने आठ बार यह खिताब अपने नाम किया है. गोवा और सर्विसेज ने भी पांच-पांच खिताबी जीत दर्ज की है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Santosh Trophy: क्या 34वीं बार खिताब अपनी झोली में डाल पाएगा बंगाल? आज खेला जाएगा फाइनल

टूर्नामेंट में केरल की टीम (लाल ड्रेस में) की फाइल फोटो

खास बातें

  1. केरल ने आखरी बार 2005 में संतोष ट्रॉफी का खिताब जीता
  2. कौन बनेगा चैंपियन?
  3. बंगाल की रक्षा पंक्ति का टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन रहा है
कोलकाता: बंगाल और केरल की टीमें यहां विवेकानंद युवा भारती क्रीडांगन स्टेडियम में रविवार को संतोष ट्रॉफी फुटबॉल का खिताब जीतकर अपने सत्र का शानदार समापन करना चाहेंगी, संतोष ट्रॉफी के 72 साल के गौरवशाली इतिहास में बंगाल और केरल सबसे सफल टीमों में शामिल रही हैं. बंगाल ने 32 बार जबकि केरल ने पांच बार यह खिताब अपने नाम किया है. इसके अलावा पंजाब ने आठ बार यह खिताब अपने नाम किया है. गोवा और सर्विसेज ने भी पांच-पांच खिताबी जीत दर्ज की है.
टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में बंगाल ने एक कड़े मुकाबले में हराया था, जिसमे मेजबान टीम के लिए जीतेन मुर्मू और र्तीथकर सरकार ने गोल दागे थे जबकि केरल ने मिजोरम को 1-0 से मात दी थी. बंगाल की रक्षा पंक्ति ने इस टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया है और अभी तक केवल दो गोल खाए हैं. टीम के कोच रंजन चौधरी ने कहा कि हमारी टीम के ऊपर किसी प्रकार का दबाव नहीं है. टीम को केरल को हराने के लिए अपनी क्षमता पर पूरा भरोसा है. केरल रक्षात्मक रूप से एक मजबूत टीम है. उनके बहुत सारे प्रतिभाशाली खिलाड़ी है और रविवार को जो भी टीम जीतेगी वह अच्छा खेलकर जीतेगी.

यह भी पढ़ें : क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने पुर्तगाल को जिताया, बने ऐसे सिर्फ तीसरे अंतरराष्ट्रीय फुटबॉलर

टिप्पणियां
केरल ने आखरी बार 2005 में संतोष ट्रॉफी का खिताब जीता था. टीम के कोच साथीवन बलान ने कहा कि मैं अपनी टीम को आगे बढ़ता देख बहुत खुश हूं. हमारी टीम हर मैच के साथ बेहतर हुई है. हम बंगाल का सम्मान करते हैं लेकिन हम में खिताब जीतने का दम है. उन्होंने कहा कि हमें जीत का प्रबल दावेदार नहीं माना जा रहा है. जब से हम यहां आए हैं हमने हर मैच को फाइनल की तरह खेला है और बंगाल के खिलाफ भी हम वैसे ही खेलेंगे. हम जीत के लिए अपना बेहतरीन खेल खेलेंगे. हम बंगाल से पहले भिड़ चुके हैं, लेकिन हम फाइनल की बात कर रहे हैं और यह अलग होगा.

VIDEO: नॉर्थ-ईस्ट में बढ़ रही है फुटबॉल के प्रति दीवानगी
कुल मिलाकर फाइनल मुकाबला बहुत ही रोमांचक होने जा रहा है. अब देखने वाली बात यह होगी कि खिताबी टक्कर में किसकी टक्कर भारी पड़ती है. और कौन सी टीम जमींदोज होती है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement