NDTV Khabar

एशियन गेम्स : मुक्केबाज सरिता देवी ने रोते-रोते लिया कांस्य पदक

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एशियन गेम्स : मुक्केबाज सरिता देवी ने रोते-रोते लिया कांस्य पदक
इंचियोन: एशियन गेम्स में 60 किलोग्राम वर्ग में भारतीय महिला मुक्केबाज लैशराम सरिता देवी को आज जब कांस्य पदक दिया जाने लगा, तो उन्होंने इसे गले में पहनने से इनकार कर दिया। पदक स्वीकर करते हुए वह लगातार रोती रहीं।

उल्लेखनीय है कि इस स्पर्धा के सेमीफाइनल मुकाबले के नतीजे पर विवाद खड़ा हो गया था। मुकाबले के घोषित नतीजे में दक्षिण कोरिया की जिना पार्क को विजयी घोषित किया गया, जबकि मैच में पलड़ा भारत की सरिता देवी के पक्ष में झुका हुआ था।

भारत ने इस मामले में अपना विरोध दर्ज कराया था, लेकिन उसकी अपील खारिज कर दी गई। कल भी मैच के बाद सरिता देवी फूट-फूटकर रोने लगी थीं। उन्होंने कहा कि उनके साथ नाइंसाफी हुई है और इसे लेकर वह बेहद खफा हैं।

जिना के खिलाफ बेहतर स्थिति में होने के बावजूद जजों ने राष्ट्रमंडल खेलों की रजत पदक विजेता इस मुक्केबाज को 0-3 से पराजित घोषित कर दिया। सरिता ने अपने दनादन घूंसों से अपनी प्रतिद्वंद्वी को पस्त कर दिया, लेकिन हैरानी की बात यह रही कि अल्जीरियाई रेफरी हम्मादी याकूब खेरा ने भारतीय मुक्केबाज को एक भी 'स्टैंडिंग काउंट' नहीं दिया।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement