NDTV Khabar

ओलिंपिक खेलों के लिए भारत की मेजबानी के बारे में शूटर अभिनव बिंद्रा ने जताई यह राय

निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने कहा है कि भारत को तब तक ओलिंपिक खेलों की मेजबानी नहीं करनी चाहिए जब तक उसके पास 40 स्वर्ण पदक जीतने का मौका नहीं हो.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ओलिंपिक खेलों के लिए भारत की मेजबानी के बारे में शूटर अभिनव बिंद्रा ने जताई यह राय

अभिनव बिंद्रा ने बीजिंग ओलिंपिक में भारत के लिए स्‍वर्ण पदक जीता था (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कहा, जब तक 40 गोल्‍ड न जीत पाएं, नहीं करें मेजबानी
  2. बीजिंग ओलिंपिक में अभिनव ने जीता था स्‍वर्ण पदक
  3. कहा-मैं अभी भारत की ओलिंपिक मेजबानी के खिलाफ
नई दिल्ली: निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने कहा है कि भारत को तब तक ओलिंपिक खेलों की मेजबानी नहीं करनी चाहिए जब तक उसके पास 40 स्वर्ण पदक जीतने का मौका नहीं हो. गौरतलब है कि अभिनव ओलिंपिक खेलों के व्‍यक्तिगत मुकाबले में भारत की ओर से स्‍वर्ण जीतने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं. उन्‍होंने बीजिंग ओलिंपिक में देश के लिए स्‍वर्णिम सफलता हासिल की थी. रियो डि जेनेरो में वर्ष 2016 में हुए ओलिंपिक में वे मेडल जीतने से वंचित रह गए थे.बिंद्रा ने कहा, ‘हमें इस समय अपने युवा खिलाड़ियों पर ध्‍यान देने की जरूरत है,

यह भी पढ़ें: बिंद्रा बोले, खेल मंत्रालय का आईओए को निलंबित करने का फैसला अच्छा कदम

टिप्पणियां
बिंद्रा ने यहां 2017 टाइम्स लिट फेस्ट के एक सत्र के दौरान कहा, ‘मैं भारत में इस समय ओलिंपिक खेलों की मेजबानी के खिलाफ हूं. मुझे लगता है कि हमारा तंत्र इसके लिये तैयार नहीं है.’ उन्होंने कहा, ‘इससे शहर में बुनियादी ढांचे तैयार करने में कुछ तरह का फायदा मिल सकता है लेकिन यह तो ओलिंपिक की मेजबानी के बिना भी हो सकता है.’

वीडियो: बिंद्रा बोले, निराश नहीं हूं, मैंने अपना बेस्‍ट प्रदर्शन किया
बिंद्रा ने कहा, ‘हमें युवा खिलाड़ियों पर निवेश करने की जरूरत है, हमें अपने एथलीटों पर निवेश करना चाहिए, यह हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए और जब तक हम ओलिंपिक खेलों में कम से कम 40 स्वर्ण पदक जीतने की बेहतरीन स्थिति में नहीं पहुंच पाते, मुझे निजी रूप से लगता है कि यही ओलिंपिक खेलों की मेजबानी के लिये सही समय होगा. ’(इनपुट: एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement