NDTV Khabar

राष्ट्रमंडल कुश्ती चैंपियनशिप में स्वर्ण जीतकर सुशील ने तीन साल बाद की शानदार वापसी

ओलिंपिक में दो बार के पदकधारी सुशील कुमार ने दक्षिण अफ्रीका के जोहानिसबर्ग में 74 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग में न्यूजीलैंड के आकाश खुल्लर को हराकर गोल्ड मेडल जीता.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राष्ट्रमंडल कुश्ती चैंपियनशिप में स्वर्ण जीतकर सुशील ने तीन साल बाद की शानदार वापसी

सुशील कुमार ने फाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड के आकाश खुल्लर को हराया.

खास बातें

  1. सुशील ने फाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड के आकाश खुल्लर को हराया
  2. ग्लासगो राष्ट्रमंडल (2014) में स्वर्ण जीतने के बाद यह उनका पहला पदक है
  3. प्रवीण राणा ने कांस्य पदक जीत भारतीय दल को दोहरी खुशी का मौका दिया
नई दिल्ली: भारतीय स्टार पहलवान सुशील कुमार ने तीन साल बाद शानदार वापसी करते हुए कॉमनवेल्थ रेसलिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता है. ओलिंपिक में दो बार के पदकधारी सुशील कुमार ने दक्षिण अफ्रीका के जोहानिसबर्ग में 74 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग में न्यूजीलैंड के आकाश खुल्लर को हराकर गोल्ड मेडल जीता.

यह भी पढ़ें : पेशेवर कुश्ती लीग में भाग लेंगे ओलिंपिक पदक विजेता सुशील कुमार

ग्लासगो राष्ट्रमंडल खेल (2014) में स्वर्ण जीतने के बाद यह उनका पहला पदक है. इस वर्ग में प्रवीण राणा ने कांस्य पदक जीत भारतीय दल को दोहरी खुशी मनाने का मौका दिया. सुशील ने प्रतिस्पर्धी कुश्ती में नवंबर में इंदौर में हुए सीनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीत के साथ वापसी किया था. हालांकि उन्हें लगातार तीन वाकओवर मिलने से विवाद भी हुआ था. तब उन्हें फाइनल में वाकओवर देने वाले राणा ने सेमीफाइनल में उनका सामना किया. 

यह भी पढ़ें : आखिर पहलवान सुशील ने क्यों कहा- आगे बढ़ने से पहले अक्सर रेड लाइट पर रुकना भी पड़ता है

टिप्पणियां
राणा के खिलाफ सुशील 5-4 से जीतने में कामयाब रहे. इससे पहले सुशील ने पहले बाउट में कनाडा के जसमीत सिंह फुलका को शिकस्त दी थी. बीजिंग ओलंपिक में कांस्य और लंदन ओलिंपिक में रजत पदक जीतने वाले सुशील ने जीत के बाद अपने पदक को मातृभूमि और कोच के नाम किया.

VIDEO : कॉमनवेल्थ गेम्स में दिखा भारतीय पहलवानों का जलवा

  उन्होंने ट्वीट किया, 'तीन साल बाद अंतरराष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक की जीत को मैं अपने माता पिता व मेरे गुरु सतपाल जी पहलवान और मेरे आध्यात्मिक गुरू योगऋषि स्वामी रामदेव जी के चरणों में व देश के हरेक नागरिक को समर्पित करता हूं. जय हिन्द.' 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement