जब चलते मैच के बीच रूसी टेनिस खिलाड़ी स्वेतलाना कुज़नेत्सोवा ने काट डाले अपने बाल

जब चलते मैच के बीच रूसी टेनिस खिलाड़ी स्वेतलाना कुज़नेत्सोवा ने काट डाले अपने बाल

खास बातें

  • पहले दौर के राउंड रॉबिन मैच में स्वेतलाना कुज़नेत्सोवा ने काटे अपने बाल
  • दो बार ग्रैंड स्लैम खिताब जीत चुकी हैं स्वेतलाना कुज़नेत्सोवा
  • इस वक्त सिंगापुर में डब्ल्यूटीए फाइनल्स टूर्नामेंट खेल रही हैं स्वेतलाना
सिंगापुर:

रूसी टेनिस खिलाड़ी स्वेतलाना कुज़नेत्सोवा (Svetlana Kuznetsova) ने खेलभावना का बेजोड़ उदाहरण पेश करते हुए सोमवार को डब्ल्यूटीए फाइनल्स टूर्नामेंट के दौरान कैंची लेकर अपने ही सिर के बाल काट डाले और फिर फूट-फूटकर रो पड़ीं, लेकिन उसके बाद स्वेतलाना ने न सिर्फ डिफेंडिंग चैम्पियन एग्निएस्का रदवांस्का (Agnieszka Radwanska) के खिलाफ मैच प्वाइंट बचाया, बल्कि एग्निएस्का को 7-5 1-6 7-5 से हराकर खिताब पर भी कब्ज़ा कर लिया.

सत्र की आखिरी चैम्पियनशिप के लिए क्वालिफाई करने के 48 घंटे से भी कम समय में अपना पहले दौर का राउंड रॉबिन मैच खेलने उतरीं स्वेतलाना कुज़नेत्सोवा बिल्कुल थकी-मांदी लग रही थीं, लेकिन उसके बाद कुछ ऐसा हुआ, जिससे सिंगापुर इन्डोर स्टेडियम में बैठे दर्शक भौंचक्के रह गए. तीसरे और निर्णायक सेट की शुरुआत में स्वेतलाना ने कैंची लेकर खुद ही अपने बाल काट डाले, और कटी हुई पोनीटेल को अपनी कुर्सी पर फेंककर बचा हुआ मैच खेलने गईं.
 


इसके बाद छोर बदलते वक्त वह अपने आंसू नहीं रोक पाईं, और तौलिये में मुंह छिपा लिया, लेकिन जल्द ही सामान्य हो गईं, आंसू पोंछ डाले, और फिर कोर्ट पर आकर तीन घंटे से भी ज़्यादा समय तक चले मुकाबले को जीत के साथ खत्म किया.

हालांकि मैच के दौरान एक वक्त ऐसा आया, जब स्वेतलाना की सभी कोशिशें बेकार जाती दिखने लगीं, और वह अपनी सर्विस हारकर 5-4 से पिछड़ गईं, और एग्निएस्का को मैच प्वाइंट का मौका मिल गया. लेकिन एग्निएस्का ने खुद को मिला यह एकमात्र मौका गंवा दिया, और आखिरी तीन गेम लगातार जीतकर शानदार तरीके से मैच जीता.

कोर्ट के बाहर पहुंचकर दिए इंटरव्यू में स्वेतलाना कुज़नेत्सोवा ने कहा, "एक वक्त था, जब मुझे लग रहा था, मैं कोर्ट में ही लेट जाऊं, और लोग मुझे उठाकर ले जाएं... लेकिन मैं डटी रही..."

दो ग्रैंड स्लैम खिताब जीत चुकीं स्वेतलाना कुज़नेत्सोवा वर्ष 2009 के बाद पहली बार सिंगापुर में होने वाले डब्ल्यूटीए फाइनल्स टूर्नामेंट में भाग ले रही हैं. यह टूर्नामेंट दरअसल दुनिया के आठ शीर्ष वरीय खिलाड़ियों या उनके हट जाने की वजह से अच्छा प्रदर्शन कर रहे अन्य खिलाड़ियों के लिए आरक्षित है, और इस साल भी स्वेतलाना कुज़नेत्सोवा अच्छे प्रदर्शन के बूते ही इस टूर्नामेंट के लिए क्वालिफाई कर पाई हैं.

स्वेतलाना के लिए इस टूर्नामेंट में क्वालिफाई करने के लिए मॉस्को में शनिवार को हुआ क्रेमलिन कप जीतना ज़रूरी था, ताकि वह ब्रिटेन की जोहाना कॉन्टा को पछाड़कर अंतिम स्थान कब्ज़ा पातीं. उस जीत के बाद तुरंत उन्हें सिंगापुर आना पड़ा, और उन्होंने सोमवार को पहला राउंड रॉबिन मैच खेला.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com