NDTV Khabar

जाओ, दुनिया जीत लो : स्वप्ना के बीमार पिता ने उससे कहा

स्वप्ना की मां बासाना ने कहा,''हमने कभी नहीं सोचा था कि हमारी बेटी यहां तक पहुंचेगी. वह पढ़ाई और खेलों में बहुत अच्छी है. उम्मीद है कि वह आगे जायेगी और उसे नौकरी मिलेगी.''

84 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जाओ, दुनिया जीत लो : स्वप्ना के बीमार पिता ने उससे कहा

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

जलपाईगुड़ी: एशियाई एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली हेप्टाथलीट स्वप्ना बर्मन के पिता पंचानन तभी से बीमारी के कारण बिस्तर पर हैं, जब वह बहुत छोटी थी लेकिन इसके बावजूद अपनी बेटी को शिखर पर देखने का उनका सपना नहीं टूटा. वह हमेशा से अपनी बेटी को दुनिया जीतते देखना चाहते थे. उन्होंने रूंधे गले से कहा, ''हम उसे उतनी पोषक खुराक नहीं दे सके जिसकी एक खिलाड़ी को जरूरत होती है. मैं उम्मीद करता हूं कि वह विश्व चैम्पियन बनेगी.'' परिवार के लिये अकेले कमाने वाले पंचानन रिक्शा चलाते थे लेकिन कई बरस पहले लकवा मारने से बिस्तर पर हैं.

स्वप्ना की मां बासाना ने कहा,''हमने कभी नहीं सोचा था कि हमारी बेटी यहां तक पहुंचेगी. वह पढ़ाई और खेलों में बहुत अच्छी है. उम्मीद है कि वह आगे जायेगी और उसे नौकरी मिलेगी.'' बासाना चाय के बागान में काम करती थी. वह अभ्यास के लिये स्वप्ना को साइकिल से छोड़ने जाती थी.

स्वप्ना के स्कूल के खेल शिक्षक बिश्वजीत मजूमदार ने कहा,''2006 से मैं उसका खेल शिक्षक हूं. स्कूल को उस पर गर्व है. उम्मीद है कि वह ओलिंपिक पदक जीतेगी.''

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement