NDTV Khabar

इन भारतीय जूनियर बॉक्सरों ने बिखेरा जर्मनी में जलवा...जीते 6 स्वर्ण

भारत के जूनियर मुक्केबाजों के प्रतिनिधिमंडल ने जर्मनी में आयोजित पांचवें अंतरराष्ट्रीय स्वेन लांज मेमोरियल टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए छह स्वर्ण, चार रजत और एक कांस्य पदक जीते

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इन भारतीय जूनियर बॉक्सरों ने बिखेरा जर्मनी में जलवा...जीते 6 स्वर्ण

मुक्केबाजी का प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. जर्मनी में हुआ था अंडर-17 टूर्नामेंट
  2. भारत ने 6 स्वर्ण, 4 रजत और 1 कांस्य जीता
  3. एआईबीए के मानकों के तहत हुआ था टूर्नामेंट
नई दिल्ली:

भारत के जूनियर मुक्केबाजों के प्रतिनिधिमंडल ने जर्मनी के श्वेरिन शहर में आयोजित पांचवें अंतरराष्ट्रीय स्वेन लांज मेमोरियल टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए छह स्वर्ण, चार रजत और एक कांस्य पदक जीते. रविवार को समाप्त हुए तीन दिनों तक चले अंडर-17 टूर्नामेंट में दुनिया भर के मुक्केबाजों ने हिस्सा लिया. टूर्नामेंट का आयोजन एआईबीए के मानकों के तहत हुआ.

भारत के लिए भवेश काट्टामनी ने 52 किलोग्राम कटेगरी में जर्मनी के लाजेक साडेक को 5-0 से हराकर स्वर्ण जीता। इसी तरह 60 किलोग्राम वर्ग के फाइनल में अक्षय ने डेनमार्क के निकोलाई टी. को 3-2 से हराया. 63 किलोग्राम वर्ग में विजयदीप ने नीदरलैंड्स के ब्रायन वोसेन को हराकर स्वर्ण पदक पर कब्जा किया.

यह भी पढ़ें : शाहिद आफरीदी ने मारा ताना... तो कुछ ऐसे धुन डाला 'मिस्टर सानिया मिर्जा' ने


टिप्पणियां

इश पन्नू ने जर्मनी के जॉन गेरहॉसर को हराकर भारत को एक और स्वर्ण दिलाया जबकि विनीत ने 75 किलोग्राम में फ्रांस के राफेल मोनी और लक्षय ने 80 किलोग्राम वर्ग में जर्मनी के रासी अल जेन को हराकर स्वर्म जीता. कुछ खिलाड़ी हालांकि फाइनल में हार गए। रजत जीतने वालों में अनिल (48 किग्रा), स्वपनिल (50 किग्रा), अमन (54 किग्रा) और सतेंद्र (80 किग्रा से अधिक) शामिल हैं. 

VIDEO :  जानिए कि भारत के नॉर्थ-ईस्ट इलाके में कैसे फलफूल रहा है फुटबॉल

भारतीय टीम के लिए एकमात्र कांस्य आकाश ने जीता। आकाश ने 66 किग्रा वर्ग में यह पदक हासिल किया। वह सेमीफाइनल में स्लोवानिया के गासी सादिक से हार गए थे।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement