NDTV Khabar

सौदा 250 करोड़ का : टाइगर वुड्स बने हीरो मोटोकॉर्प के ब्रांड एम्बैसेडर

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सौदा 250 करोड़ का : टाइगर वुड्स बने हीरो मोटोकॉर्प के ब्रांड एम्बैसेडर

टाइगर वुड्स

नई दिल्ली:

खेलों की दुनिया में सबसे ज़्यादा पैसा कमाने वालों की फेहरिस्त में टाइगर वुड्स का नाम पहले भी कई बार सबसे आगे रहा है, और अब टाइगर ने एक भारतीय कंपनी के साथ चार साल के लिए 250 करोड़ रुपये का करार किया और सुर्खियों में छा गए।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल क्रिकेटर विराट कोहली ने जर्मन कंपनी एडिडास के साथ 10 करोड़ रुपये सालाना का करार किया था, इसलिए टाइगर वुड्स के करार की रकम खेलों की दुनिया के लिहाज़ से बेहद बड़ी मानी जा रही है।

कम से कम पिछले डेढ़ दशक से गोल्फ की सबसे बड़ी पहचान बने टाइगर वुड्स का भारत के साथ अब एक नया रिश्ता जुड़ गया है, और वह भारतीय मोटसाइकिल कंपनी हीरो मोटोकॉर्प के साथ चार साल तक ब्रांड एम्बैसेडर बनकर रहेंगे। खेलों की दुनिया के लिहाज़ से बेहद बड़े इस करार को करने वाले टाइगर वुड्स ने इसी साल भारत का दौरा किया था और उसकी यादें उनके मन में अब भी ताज़ा हैं।

दिलचस्प बात यह है कि दिग्गज अमेरिकी गोल्फर को हीरो मोटोकॉर्प का ब्रांड एम्बैसेडर बनाए जाने की घोषणा प्रतिष्ठित पीजीए विश्व चैलेंज शुरू होने से दो दिन पहले की गई है, और उल्लेखनीय है कि इस टूर्नामेंट की मेजबानी टाइगर वुड्स फाउंडेशन और हीरो मोटोकॉर्प लिमिटेड ही कर रहे हैं। हीरो मोटोकॉर्प इंडिया के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक पवन मुंजाल ने पत्रकारों से कहा, "हम हीरो वर्ल्ड चैलेंज से आगे बढ़ गए हैं और हमारे पास अब 1 दिसंबर से अगले चार साल के लिए कॉरपोरेट साझीदार के रूप में टाइगर वुड्स होंगे..."

सो, अब हीरो मोटोकॉर्प प्रसिद्ध गोल्फर टाइगर वुड्स को ब्रांड एम्बैसेडर बनाने वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई है। वैसे, टाइगर वुड्स इसी साल फरवरी में भी एक चैरिटी प्रदर्शनी मैच के लिए दिल्ली आए थे, जिसका आयोजन हीरो कंपनी ने किया था। उस वक्त दिल्ली गोल्फ क्लब में उन्हें देखने के लिए फैन्स का तांता लग गया था, जिससे वह भारत दौरा उनके लिए बेहद यादगार बन गया। वुड्स बताते हैं कि वह दिल्ली में पहली बार खेल रहे थे। वहां उन्हें दिल्ली गोल्फ क्लब के इतिहास के बारे में बताया गया था, जो उन्हें बेहद पसंद आया। वह अपने साथी खिलाड़ी हीरो मोटोकॉर्प ग्रुप के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर पवन मुंजाल की लोकप्रियता से भी काफी प्रभावित हुए थे, लेकिन पवन मुंजाल कहते हैं कि दरअसल सब लोग वुड्स को देखने के लिए रस्सी के दूसरी ओर आना चाहते थे, इसलिए उनसे ज़्यादा पहचान बढ़ा रहे थे।

इस तरह टाइगर वुड्स पांचवीं बार कमबैक कर रहे हैं और वह भी बड़े स्टाइल से। हीरो वर्ल्ड चैलेंज गोल्फ टूर्नामेंट के लिए वह पूरी तरह गेम फिट तो नहीं हैं, लेकिन हमेशा की तरह उम्मीदों से भरे हैं। वुड्स कहते हैं कि वह काफी गेंद हिट कर रहे हैं और जमकर अभ्यास कर रहे हैं। वह मानते हैं कि वह उतने गेम फिट नहीं हैं, जितना उन्हें होना चाहिए। शायद इसलिए भी कि अगस्त से लेकर अब तक उन्होंने कोई टूर्नामेंट नहीं खेला है। वह कहते हैं कि चार महीने का यह वक्त एक लंबा वक्त है।

वैसे, भारतीय फैन्स इस बात से बेहद खुश हो सकते हैं कि वुड्स भारतीय गोल्फरों की प्रतिभा से प्रभावित नज़र आते हैं। वह कहते हैं कि भारतीय गोल्फ खिलाड़ियों में अच्छी प्रतिभा है। उनका मानना है कि अगर बेस बड़ा होगा तो कई अच्छे खिलाड़ी सामने आएंगे। भारत में बच्चे इस खेल को लेकर उत्साहित हैं, यह बात उन्हें बहुत अच्छी लगी। वैसे, भारत में गोल्फ भले ही एलीट खेल माना जाता हो, लेकिन वुड्स की पहचान भारत सहित दुनियाभर में सबसे अलग है और वह सभी वर्गों में सराहे जाते हैं। यही वजह है कि वुड्स का भारतीय कनेक्शन फैन्स को बेहद उत्साहित कर रहा है।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement