NDTV Khabar

इस लीग में खेलते हैं दुनिया के सबसे अमीर फुटबॉलर्स, ईपीएल और ला लीगा भी छूटे पीछे

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का फुटबॉल के लिए प्यार किसी से छुपा नहीं है और वह इस खेल को देश में बढ़ावा देने के लिए पैसों को पानी की तरह बहा रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इस लीग में खेलते हैं दुनिया के सबसे अमीर फुटबॉलर्स, ईपीएल और ला लीगा भी छूटे पीछे
नई दिल्‍ली: 'द ब्यूटीफुल गेम' यानी फुटबॉल दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल है. विश्व भर में इस खेल के सबसे ज़्यादा प्रशंसक हैं और लगभग 200 देश के करीब 250 मिलियन प्लेयर्स फुटबॉल खेलते हैं. कई देशों में 'सॉकर' के नाम से मशहूर ये खेल दुनिया के सबसे अमीर स्पोर्ट्स में से एक है. विश्व के सबसे धनी खिलाडियों की सूची में कई नाम फुटबॉलर्स के हैं. काफी अरसे से फुटबॉलर्स के ऊपर पैसा खर्च करने के मामले में इंग्लिश प्रीमियर लीग (EPL) और अन्य बड़ी यूरोपियन लीग्स की बराबरी कोई नहीं कर पाया है.
 
हालाँकि पिछले कुछ समय से एशिया की एक लीग ने ना सिर्फ इन लीग्स को पीछे छोड़ दिया है बल्कि खिलाडियों की ट्रांसफर फीस और वेतन देने के मामले में सभी रिकार्ड्स तोड़ते हुए नंबर 1 स्थान पर कब्ज़ा कर लिया है. ये फुटबॉल लीग और कहीं नहीं बल्कि हमारे पडोसी देश चीन में 'चाइनीज सुपर लीग' के नाम से आयोजित होती है. निश्चित रूप से ये हैरानी की बात है कि चीन जो कि विश्व भर में बैडमिंटन, एथलेटिक्स, टेबल टेनिस, जिमनास्टिक्स जैसे खेलों में अपना लोहा मनवाता है और जहाँ फुटबॉल की लोकप्रियता बेहद कम है, कैसे बड़े बड़े प्लेयर्स को आकर्षित करके विश्व फुटबॉल के मानचित्र पर अपनी ख़ास जगह बना रहा है.
 
राष्ट्रपति शी जिनपिंग का 'गोल्डन विज़न'
 
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का फुटबॉल के लिए प्यार किसी से छुपा नहीं है और वह इस खेल को देश में बढ़ावा देने के लिए पैसों को पानी की तरह बहा रहे हैं. जिनपिंग ने 10 साल की रणनीति बनाई है, जो 2015 से 2025 तक है. इसमें देश के खेलों में निवेश को 600 मिलियन पाउंड से दोगुना करने का और साथ ही 20 हजार नए फुटबॉल स्कूल और 2020 तक 70 हजार मैदान तैयार करने का का प्लान है. जिनपिंग चीन को एक ऐसे 'फुटबॉल पावरहाउस' के रूप में देखना चाहते हैं जो विश्व कप की मेजबानी करने और इसके बाद उसे जीतने में सक्षम हो. उनका सपना है कि चीन अगले 15 सालों में विश्व कप जीते. चीन इस समय फीफा रैंकिंग में 83वें स्थान पर है.
 
विश्व के टॉप 3 अमीर फुटबॉलर्स चाइनीज सुपर लीग में
 
1.कार्लोस टेवेज  (शंघाई शेनहुआ)
 
£615,000-per-week   (Rs 51,562,504.05)
 
tevez 1

2.ऑस्कर (शंघाई एसआईपीजी)
 
£400,000-per-week   (Rs 33,536,588)
 
oscar

3.इज़ेक्विल लावेज्ज़ी  (हेबेई चाइना फार्च्यून)
 
£400,000-per-week   (Rs 33,536,588)
 
lavezzi
 
4.क्रिस्टिआनो रोनाल्डो  (रियल मेड्रिड)
 
£365,000-per-week   (Rs 30,602,136.55)
 
ronaldo
 
5.लियोनेल मेसी  (बार्सिलोना)
 
£336,000-per-week   (Rs 28,170,733.92)
 
messi
 
कुछ समय पहले तक खिलाड़ियों, स्पोंसर्स और टीवी दर्शकों को इंग्लैंड, स्पेन, इटली और जर्मनी की फुटबॉल लीग्स में ही दिलचस्पी थी. लेकिन अब चाइनीज सुपर लीग के लिए इनका रूझान बढ़ रहा है. शायद ऐसे ही एक मॉडल की भारत को भी ज़रुरत है.

टिप्पणियां

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement