NDTV Khabar

रियो ओलिंपिक : सीबीआई ने प्रारंभिक जांच दर्ज की, दो अयोग्य चिकित्सा अधिकारियों को रियो भेजने का है मामला

सीबीआई ने दो चिकित्सा अधिकारियों को पिछले साल रियो ओलंपिक के लिये भारतीय टीम के साथ भेजने के लिये भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के कुछ अधिकारियों पर भाई-भतीजावाद और पक्षपात के आरोपों की प्रारंभिक जांच शुरू कर दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रियो ओलिंपिक : सीबीआई ने प्रारंभिक जांच दर्ज की, दो अयोग्य चिकित्सा अधिकारियों को रियो भेजने का है मामला

रियो ओलिंपिक में भारतीय दल के साथ दो डॉक्टर गए थे...

नई दिल्ली: सीबीआई ने दो चिकित्सा अधिकारियों को पिछले साल रियो ओलिंपिक के लिए भारतीय टीम के साथ भेजने के लिए भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) के कुछ अधिकारियों पर भाई-भतीजावाद और पक्षपात के आरोपों की प्रारंभिक जांच शुरू कर दी है. आरोप लगाया गया है कि डॉक्टर पवनदीप सिंह और कर्नल आर एस नेगी रेडियोलॉजिस्ट थे, जिनके पास पर्याप्त योग्यता और अनुभव नहीं था लेकिन उन्हें 24 जुलाई 2016 से 23 अगस्त 2016 तक चले ओलिंपिक खेलों के लिए भारतीय दल के साथ भेजा गया था.

सिंह आईओए उपाध्यक्ष तरलोचन सिंह के बेटे हैं और उन्हें मुख्य चिकित्सीय अधिकारी के तौर पर टीम के साथ भेजा गया था. माना जाता है कि नेगी भी आईओए अधिकारी के दूर के रिश्तेदार हैं. एजेंसी सूत्रों ने कहा कि आईओए के कुछ अधिकारियों के खिलाफ भाई-भतीजावाद, पक्षपात और अनियमितताओं के आरोप थे जिसकी जांच सीबीआई द्वारा की जा रही है.

प्रारंभिक जांच उपलब्ध सबूतों की जांच के लिए की जाती है कि यह प्रथम दृष्टया अपराध है या नहीं. एजेंसी प्रारंभिक जांच के दौरान अतिरिक्त दस्तावेज भी एकत्रित करती है.

अगर दस्तावेज शुरुआती जांच में आपराधिक लगते हैं तो एजेंसी प्राथमिकी दर्ज करके पूर्ण जांच करेगी, वर्ना यह शिकायत बंद कर देगी.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement