NDTV Khabar

अगर ऐसा रहा तो ये टीम जीतेगी अंडर-17 फीफा वर्ल्ड कप

6 से 28 अक्टूबर तक होने वाले इस महाकुंभ में दुनिया की 24 टीमें हिस्सा लेंगी. जिसमें ब्राजील, जापान, फ्रांस, अमरीका, घाना जैसी मजबूत टीमों के साथ-साथ भारत, इराक और ईरान की टीमें भी अपना दावा पेश करने वाली है.

81 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अगर ऐसा रहा तो ये टीम जीतेगी अंडर-17 फीफा वर्ल्ड कप

फुटबॉल ग्राउंड (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 6 से 28 अक्टूबर तक खेला जाएगा U-17 फीफा वर्ल्ड कप.
  2. घाना दो बार जीत चुका है टूर्नामेंट.
  3. चिली और इंग्लैंड भी प्रबल दावेदार.
नई दिल्ली: कुछ दिन में भारत में अंडर-17 फीफा वर्ल्ड कप शुरू हो जाएगा. 6 से 28 अक्टूबर तक होने वाले इस महाकुंभ में दुनिया की 24 टीमें हिस्सा लेंगी. जिसमें ब्राजील, जापान, फ्रांस, अमरीका, घाना जैसी मजबूत टीमों के साथ-साथ भारत, इराक और ईरान की टीमें भी अपना दावा पेश करने वाली है. अंडर-17 फीफा वर्ल्ड कप के इतिहास की बात करें तो घाना, चिली जैसी टीमों ने शानदार परफॉर्मेंस दी है. घाना इस वर्ल्ड कप में जीत की प्रबल दावेदार टीम बताई जा रही है. क्योंकि वो पहले दो बार वर्ल्ड कप जीत चुकी है. आइए जानते हैं अंडर-17 फीफा वर्ल्ड कप की टीमों के बारे में जिनकी परफॉर्मेंस शानदार रही है.

पढ़ें- 6 अक्टूबर से शुरू होगा अंडर-17 फीफा वर्ल्ड कप, जानिए कब और कहां होंगे मुकाबले​
 
ghana

घाना
ग्रुप ए में भारतीय टीम के साथ घाना की भी टीम है. जहां तक बात ग्रुप स्तर की जाए तो घाना टीम इंडिया के लिए सबसे बड़ी चुनौती भी है. क्योंकि पश्चिम अफ्रीकी देश घाना इससे पहले दो बार इस टूर्नामेंट की विजेता रही है. घाना की टीम इटली में हुए विश्व कप 1991 और इक्वाडोर में हुए 1995 वर्ल्ड कप की विजेता रही है. इसके साथ ही घाना 1993 और 1997 के विश्व कप की उपविजेता भी रही है.

टिप्पणियां
पढ़ें- जूते न होने के कारण फीफा वर्ल्ड कप नहीं खेल पाया था भारत, जानिए क्या है सच्चाई​
 
chile

चिली
चिली की टीम ने 1993 में फीफा वर्ल्ड कप में पहली बार शिरकत किया था. जापान में हुए इस टूर्नामेंट में चिली की टीम को तीसरा स्थान मिला था. यह चिली का फीफा अंडर 17 विश्व कप में अब तक का सबसे बेहतर प्रदर्शन है. इस बार चिली की टीम फीफा अंडर 17 में चौथी बार भाग ले रही है. चिली ने अबतक फीफा अंडर 17 में कुल 13 मैच खेला है. जिसमें चार मुकाबलों में जीत जबकि चार में हार नसीब हुई है. पांच मुकाबले ड्रा रहे हैं.

पढ़ें- कोई किसान तो कोई मेकैनिक का बेटा, पढ़ें भारत के फुटबॉल टीम के खिलाड़ियों की कहानी​
 
columbia

कोलंबिया
ग्रुप ए में भारत, अमरीका और घाना के साथ कोलंबिया की टीम भी है. कोलंबिया की टीम छठी बार फीफा अंडर 17 वर्ल्ड कप में भाग ले रही है. कोलंबिया की टीम की सबसे खास बात यह है कि साल 2009 में भाग लेने के बाद से हर बार टीम इसमें प्रवेश कर रही है. इस टीम का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2009 के विश्व कप में आया था. तब टीम तीसरे स्थान पर आई थी.
 
india

भारत
भारत पहली बार फीफा अंडर 17 वर्ल्ड कप में भाग ले रहा है. बतौर मेजबान होने के नाते टीम इंडिया को इस टूर्नामेंट में सीधा प्रवेश मिला है. इस लिहाज से भारतीय टीम इस महासमर में नई है. बताते चलें कि 57 साल बाद फीफा के किसी टूर्नामेंट में भाग ले रही है इंडियन फुटबाल टीम.
 
england

इंग्लैंड
इंग्लैंड की टीम चौथी बार फीफा अंडर 17 में भाग ले रही है. इंग्लैंड का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन साल 2007 में आया था. तब वह क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय कर पाने में कामयाब हो पाई थी. इसके चार साल बाद इंग्लैंड की टीम फिर से क्वार्टर फाइनल तक पहुंचने में कामयाब हो पाई थी. लेकिन इस बार भी वो अगले दौड़ में जगह बना पाने में नाकामयाब रही. इंग्लैंड ने अबतक कुल 13 मैच खेले है. जिसमें से पांच जीत, पांच ड्रा और तीन बार हार का सामना करना पड़ा है.
 
america

अमरीका
ग्रुप ए में घाना और भारत के साथ-साथ अमरीका की टीम भी शामिल है. इसके पिछले प्रदर्शन को देखते हुए इसे कमदर आंकने की भुल नहीं की जा सकती. अमरीका लगभग हर बार इस टूर्नामेंट में भाग लेता रहा है. इस बार वह 16 वीं बार फीफा वर्ल्ड कप में भाग ले रहा है. अमरीका की सर्वश्रेष्ठ स्थिति 1999 के विश्व कप में थी. तब अमरीकी टीम चौथें स्थान पर थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement