वाडा की डोपिंग लिस्ट : रूस टॉप पर, भारत तीसरे नंबर पर, देश के 96 एथलीट पाए गए दोषी

वाडा की डोपिंग लिस्ट : रूस टॉप पर, भारत तीसरे नंबर पर, देश के 96 एथलीट पाए गए दोषी

रिपोर्ट के अनुसार डोपिंग के दोषियों में एथलीट ज्यादा हैं (प्रतीकात्मक फोटो)

वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी ने 2014 में डोपिंग के नियमों को तोड़ने वाले एथलीटों की लिस्ट जारी की है। रियो ओलिंपिक्स से क़रीब 100 दिन पहले वाडा की इस लिस्ट का आना भारतीय एथलीटों और खेल से जुड़े अधिकारियों के लिए अच्छी ख़बर नहीं है। इस लिस्ट में रूस पहले नंबर पर, इटली दूसरे और भारत तीसरे नंबर पर है। इस लिस्ट में 2014 में डोपिंग के दोषी पाए गए भारतीय एथलीटों की संख्या 96 बताई गई है।

कम होने की बजाए बढ़ गई संख्या
हैरानी की बात है कि भारत इस लिस्ट में 2013 में भी तीसरे नंबर पर था। 2013 में डोपिंग के दोषी भारतीय एथलीटों की संख्या 91 थी, जिसमें 20 महिला एथलीट भी शामिल थीं। भारतीय खेल अधिकारियों की तमाम कोशिशों के बावजूद डोपिंग में लिप्त एथलीटों की संख्या कम नहीं हुई बल्कि और बढ़ ही गई है।

एथलीट और बॉडीबिल्डर डोपिंग में हैं आगे
वाडा की रिपोर्ट के मुताबिक एथलेटिक्स और बॉडीबिल्डिंग से जुड़े खिलाड़ी सबसे ज़्यादा डोपिंग करते हुए पकड़े जा रहे हैं। इसके अलावा साइकिलिंग, वेटलिफ़्टिंग, पावर लिफ़्टिंग, फ़ुटबॉल, कुश्ती, बॉक्सिंग, रग्बी और तैराकी से जुड़े कई खिलाड़ी डोपिंग में लिप्त होते नज़र आ रहे हैं।

भारत के लिए खतरे की घंटी
भारतीय खेल अधिकारियों के लिए इस रिपोर्ट को ख़तरे की घंटी समझना चाहिए। लिस्ट में टॉप करने वाली रूस की एथलेटिक्स टीम पर पहले ही प्रतिबंध लगाया जा चुका है। रूस के अधिकारी एथलीटों के रियो में हिस्सा दिलवाने के लिए भरपूर कोशिश कर रहे हैं। भारतीय खिलाड़ी और अधिकारी इसे अपने लिए भी संकेत मानें तो बेहतर है वरना बदनामी का दाग लगते देर नहीं लगेगी।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com