NDTV Khabar

इंग्‍लैंड की ओर से सबसे ज्‍यादा गोल दागने वाले वेन रूनी ने फुटबॉल को अलविदा कहा

इंग्लैंड की तरफ से रिकॉर्ड गोल दागने वाले वेन रूनी ने आज अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से तुरंत प्रभाव से संन्यास लेने की घोषणा की.

5 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
इंग्‍लैंड की ओर से सबसे ज्‍यादा गोल दागने वाले वेन रूनी ने फुटबॉल को अलविदा कहा

वेन रूनी ने इंग्लैंड की ओर से 119 मैच में 53 गोल दागे (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. इंग्‍लैंड की ओर से 119 मैच में सर्वाधिक 53 गोल दागे
  2. इस समय इंग्‍लैंड टीम से बाहर चल रहे थे रूनी
  3. कहा-काफी विचार के बाद लिया यह कठिन फैसला
लंदन: इंग्लैंड की तरफ से रिकॉर्ड गोल दागने वाले वेन रूनी ने आज अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से तुरंत प्रभाव से संन्यास लेने की घोषणा की. रूनी ने ऐसे समय संन्‍यास लेने का फैसला किया है जब  मैनेजर गैरेथ साउथगेट टीम में उनकी वापसी का प्रयास कर रहे थे. रूनी ने इंग्लैंड की ओर से 119 मैच में 53 गोल दागे. इस 31 वर्षीय खिलाड़ी ने कल फोन पर बातचीत के दौरान साउथगेट को अपने फैसले के बारे में बताया. साउथगेट ने नये क्लब एवर्टन की ओर से खेलते हुए सत्र की शुरुआत में भी अच्छी फार्म हासिल करने पर रूनी को बधाई देने के लिए फोन किया था. इससे पहले इस दिग्गज खिलाड़ी ने इंग्लैंड टीम की कप्तानी और फिर अपनी जगह गंवाई. इस दौरान पिछले सत्र में वह जोस मोरिन्हो के मार्गदर्शन में मैनचेस्टर यूनाइटेड की ओर से खेलते हुए प्रभावी प्रदर्शन नहीं कर पाए.

यह भी पढ़ें : वेन रूनी को इंग्‍लैंड टीम से बाहर किया गया

रूनी तरोताजा और खुश लग रहे हैं और उन्होंने अब तक प्रीमियर लीग के दोनों मैचों में गोल किए हैं. वह एक बार फिर उस क्लब से जुड़े हैं जिन्होंने किशोर के रूप में उन्हें निखारा था और इसके बाद वह मैनेचेस्टर यूनाईटेड से जुड़ गए थे. रूनी ने प्रेस एसोसिएशन स्पोर्ट्स को भेजे बयान में कहा, ‘यह शानदार था कि गैरेथ साउथगेट ने इस हफ्ते मुझे फोन किया और कहा कि वह आगामी मैचों के लिए मुझे टीम में वापस चाहते हैं. मैं इसकी काफी सराहना करता हूं.’

वीडियो : भारत के फुटबॉल स्‍टार की खोज



उन्होंने कहा, ‘काफी लंबे समय तक पहले ही विचार करने के बाद मैंने गैरेथ से कहा कि मैंने अच्छे के लिए अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से संन्यास लेने का फैसला किया है.’ रूनी ने कहा, ‘यह काफी कड़ा फैसला था और मैंने इस बारे में अपने परिवार, एवर्टन में अपने मैनेजर (रोनाल्ड कोमैन) और अपने करीबियों से बात की.’ उन्होंने कहा, ‘इंग्लैंड के लिए खेलना मेरे लिए हमेशा से विशेष रहा. जब भी मुझे खिलाड़ी या कप्तान के रूप में चुना गया तो यह सचमुच में विशेष था. जिन्होंने भी मेरी मदद की मैं उनको धन्यवाद देता हूं लेकिन मेरा मानना है कि अब संन्यास लेने का समय आ गया है.’

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement