यह ख़बर 19 अगस्त, 2014 को प्रकाशित हुई थी

दांत काटने की आदत से निजात चाहते हैं सुआरेज

दांत काटने की आदत से निजात चाहते हैं सुआरेज

फाइल फोटो

कार्डिफ:

ब्राजील में हुए फीफा विश्व कप के दौरान विपक्षी टीम के खिलाड़ी को दांत काटने के कारण सख्त प्रतिबंध झेल रहे उरुग्वे के स्टार स्ट्राइकर लुइस सुआरेज अपनी इस आदत से निजात चाहते हैं और वह इसके लिए विशेषज्ञ से परामर्श भी लेना चाहते हैं।

वेबसाइट 'सॉकरवे डॉट कॉम' के अनुसार, सुआरेज ने स्वीकार किया है कि ब्राजील विश्व कप के ग्रुप मुकाबले में इटली के जॉर्जियो चिलीनी को दांत काटने के बाद चारो तरफ से हो रही आलोचना से वह 'अवसादग्रस्त' हो गए थे।

गौरतलब है कि सुआरेज की इस विवादित हरकत के बाद इंग्लिश प्रीमियर क्लब लीवरपूल से उनका स्थानांतरण स्पेन की अग्रणी फुटबाल क्लब बार्सिलोना में हो गया। बार्सिलोना ने मंगलवार को सुआरेज को मीडिया के सामने पहली बार पेश किया और इस दौरान ही सुआरेज ने ये बातें कहीं।

सुआरेज ने कहा, 'मुझे पता है कि मुझे सच्चाई स्वीकार कर लेनी चाहिए और मैं अपने किए के लिए माफी मांगता हूं। अब वह बीती बात हो चुकी है और उसे भूलना ही बेहतर है। मुझ पर लगा प्रतिबंध अब भी जारी है और मैं उसका सम्मान करता हूं।'

Newsbeep

उन्होंने कहा, 'जहां तक इस आदत को छोड़ने की बात है तो यह एक निजी मामला है। मैं इस पर टिप्पणी नहीं करना चाहूंगा। लेकिन मैं इससे निजात पाने के लिए मुझे किसी विशेषज्ञ के सलाह की जरूरत है।'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सुआरेज इससे पहले भी दो बार विपक्षी टीम के खिलाड़ी को दांत काट चुके हैं तथा विश्व कप जैसे अंतरराष्ट्रीय मंच पर ऐसा किए जाने पर फीफा ने उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए उन्हें चार महीने और नौ मैचों के लिए प्रतिबंधित कर दिया था। इसके अलावा सुआरेज पर किसी तरह के फुटबॉल कार्यक्रमों में हिस्सा लेने, अभ्यास करने और यहां तक स्टेडियम में प्रवेश करने तक पर रोक लगा दिया गया था।