NDTV Khabar

भावनाओं में बहकर नहीं खेलेंगे : हॉकी कप्तान सरदार सिंह

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भावनाओं में बहकर नहीं खेलेंगे : हॉकी कप्तान सरदार सिंह
भुवनेश्वर:

भुवनेश्वर में चल रही चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत ने बेल्जियम को हराकर वर्ल्ड कप में हुई हार का बदला तो लिया ही इस बड़ी जीत के साथ भारतीय टीम ने टूर्नामेंट के सेमीफ़इनल में जगह भी बना ली। अगले मैच में भारत की टक्कर पाकिस्तान से होगी। भारत की वर्ल्ड रैंकिंग नौ है और पाकिस्तान की वर्ल्ड रैंकिंग 11 है।

दोनों टीमों के फैंस इसे टूर्नामेंट का सबसे बड़ा मैच मान रहे हैं। भारत और पाकिस्तान की टक्कर से पहले भारतीय कप्तान सरदार सिंह से हमारे संवाददता विमल मोहन से खास बातचीत :

सवाल : पहले दो मैच में हार के बाद टीम की काया कैसे पलट गयी है?
सरदार सिंह : दरअसल टीम पहले दो मैचों में भी अच्छा खेली, लेकिन मैच हारने के बाद टीम के अलग-अलग डिपार्टमेंट ने एक साथ बैठकर बात की। कोच ओल्टमैंस के साथ हमने तय किया कि कैसे आगे खेलना है ताकि गलातियां कम हों। इसका बहुत फायदा हुआ। हम लगातर बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। इसलिये नतीजे भी आ रहे हैं।

सवाल : बेल्जियम को हराकर अपने वर्ल्ड कप में हार का बदला ले लिया है, लेकिन अगले मैच में यानि सेमीफ़इनल में पाकिस्तान टीम एशियाड में हुई हार का बदला लेने के इरादे से उतरेगी।   
सरदार सिंह : टूर्नामेंट में हॉलैंड और फिर बेल्जियम को हराकर हमारे भी हौसले बुलंद हैं। अगले मैच से पहले भी हम अच्छी रणनीति बनायेंगे। जो गलतियां हुई हैं उसपर ध्यान देंगे। हम अच्छी तैयारी के साथ उतरेंगे।

सवाल : अगले मैच में भावनायें उफान पर होंगी।

सरदार सिंह : हम भावनाओं में बहकर नहीं खेलेंगे। ये बड़ा मैच है। हम योजनाओं के मुताबिक ही खेलंगे। सेमीफ़इनल से पहले आराम का दिन है। हम अपनी सही योजनाएं बनाकर उसे मैच में लागू करने की कोशिश करेंगे।

सवाल : अगर अगले मैच में आप पाकिस्तान को हरा देते हैं तो टीम इतिहास बना सकती है। भारत ने चैम्पियंस ट्रॉफी में सिर्फ एक बार 1982 में कांस्य पदक जीता था।  

सरदार सिंह : हमारा ध्यान सिर्फ बेहतर खेलने और मैच जीतने पर है। हम अच्छी हॉकी खेलने की कोशिश कर मैच जीतने की कोशिश करंगे।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement