NDTV Khabar

विंबलडन 2017 : वीनस विलियम्स को हराकर गार्बाइन मुगुरुजा ने जीता महिलाओं का खिताब

सेंटर कोर्ट पर खेले गए खिताबी मुकाबले में 23 साल की मुगुरुजा ने सात बार की ग्रैंड स्लैम विजेता वीनस को 7-5, 6-0 से हराया.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
विंबलडन 2017 : वीनस विलियम्स को हराकर गार्बाइन मुगुरुजा ने जीता महिलाओं का खिताब
नई दिल्‍ली: स्पेन की गार्बाइन मुगुरूजा ने शनिवार को यहां सेंटर कोर्ट में पांच बार की चैंपियन वीनस विलियम्स को आसानी से सीधे सेट में 6-4, 6-0 से शिकस्त देकर पहला विंबलडन महिला एकल ग्रैंडस्लैम खिताब अपनी झोली में डाला.

मुगुरूजा ने शानदार खेल दिखाते हुए वीनस को 77 मिनट में पस्त कर उनकी इतिहास रचने की उम्मीद तोड़ दी और इस तरह वह विंबलडन जीतने वाली दूसरे स्पेनिश खिलाड़ी बन गईं. वह दो साल पूर्व अपने पहले विबंलडन में वीनस की बहन सेरेना से हार गई थीं.

मुगुरूजा की मौजूदा कोच कोंचिटा मार्टिनेज ने ही 1994 में विबंलडन में स्पेनिश झंडा लहराया था, जिसमें उन्होंने मार्टिना नवरातिलोवा को पराजित किया था. इस 23 वर्षीय खिलाड़ी ने जीत के बाद कहा, 'पहला सेट कठिन था. हम दोनों के पास काफी मौके थे, लेकिन मुझे खुशी है कि मैंने मिले मौकों का फायदा उठाया'. उन्होंने कहा, 'दो साल पहले मैं सेरेना के खिलाफ फाइनल में हारी गई थी और उसने मुझे कहा था कि एक दिन मैं खिताब जीतूंगी. आज अंतत: यह हो गया'. वेनेजुएला में जन्मीं मुगुरूजा ने पिछले साल फ्रेंच ओपन ट्रॉफी जीती थी, यह उनका दूसरा ग्रैंडस्लैम खिताब है. उन्होंने इस तरह वीनस को ओपन युग में सबसे उम्रदराज विम्बलडन चैंपियन बनने से रोक दिया.

11वीं बार विंबलडन के फाइनल में पहुंचे रोजर फेडरर, मारिन सिलिक से होगा अब मुकाबला
विंबलडन में भारतीय चुनौती खत्‍म, मिश्रित युगल वर्ग में रोहन बोपन्‍ना की जोड़ी क्‍वार्टर फाइनल में हारी..
विंबलडन : मिश्रित युगल में रोहन बोपन्‍ना जीते, सानिया मिर्जा की जोड़ी हारी...

वीनस ने आठ साल बाद विबंलडन के फाइनल में प्रवेश किया, वह छठा ऑल इंग्लैंड क्लब खिताब जीतने की उम्मीद लगाई थी. उन्होंने नौ साल पहले यहां अंतिम ट्रॉफी हासिल की थी.

वीनस ने काफी नर्वस खेल दिखाया, जिससे उन्हें इस साल ग्रैंडस्लैम में दूसरी बार निराशा का मुंह देखना पड़ा, इससे पहले वह ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में सेरेना से हार गई थीं. वीनस ने कहा, 'बधाई हो गार्बाइन. मैं जानती हूं कि तुमने कितनी मेहनत की. जो चीजें सेरेना करती हैं, मैंने वही करने का अपना सर्वश्रेष्ठ करने का प्रयास किया, लेकिन मुझे लगता है कि और मौके मिलेंगे'.

पेरिस में अपना पहला ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने के बाद मुगुरूजा के प्रदर्शन में काफी गिरावट आई, जिससे वह रैंकिंग में शीर्ष 10 से बाहर हो गईं, लेकिन उन्होंने घास पर अपनी फार्म में वापसी की और अब अगले हफ्ते आने वाली नई रैंकिंग में उनका पांचवें स्थान पर पहुंचना तय है.

आल इंग्लैंड क्लब में लगातार बूंदाबांदी से छत के नीचे फाइनल हुआ, जिसे देखने के लिए रॉयल बाक्स में स्पेन के किंग जुआन कार्लोस और हालीवुड अभिनेत्री हिलेरी स्वांक बैठे थे.

अपना नौंवा विंबलडन फाइनल खेल रही वीनस पहले सेट में क्रास कोर्ट विनर से 3-2 से आगे थी, लेकिन बाद में मुगुरूजा ने दो सेट प्वाइंट बचाकर इसे जीत लिया. फिर आसानी से दूसरा सेट एक भी गेम गंवाए बिना जीत लिया. जीतने के बाद वह घास पर लेट गईं  और अपना रैकेट आसमान की ओर उठा दिया.

जब 37 वर्षीय वीनस ने अपना पहला विंबलडन खिताब जीता था तो मुगुरूजा महज छह वर्ष की थी.

(इनपुट एएफपी से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement