Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

36 साल बाद ओलिंपिक में पहुंचने के बेहद क़रीब है भारतीय महिला हॉकी टीम

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
36 साल बाद ओलिंपिक में पहुंचने के बेहद क़रीब है भारतीय महिला हॉकी टीम
नई दिल्ली:

जापान को 1-0 से हराने के बाद टूर्नामेंट की स्टार खिलाड़ी रानी रामपाल ने कहा, "ये सभी भारतीयों के लिए गर्व का दिन है। भारतीय महिला हॉकी टीम पहली बार (1980 के मॉस्को ओलिंपिक) के बाद ओलिंपिक में क्वालिफ़ाई करने जा रही है।" इस दौरान टीम उनके पीछे जीत का जश्न मनाती रही।

2002 कॉमनवेल्थ खेलों में टीम को गोल्ड मेडल हासिल करवाने वाली भारतीय महिला हॉकी टीम की पूर्व कप्तान ममता खरब कहती हैं, "ये बहुत बड़ी बात है। ओलिंपिक में खेलना ही बहुत बड़ी बात है।" वो कहती हैं कि आज जैसा जापान के खिलाफ़ टीम ने प्रदर्शन किया वैसा पहले भी करती तो पिक्चर ही कुछ और ही होती।" ममता को उम्मीद है कि अगले एक साल में ये टीम तैयारी कर बेहतर खेल दिखाएगी।

टिप्पणियां

भारतीय महिला हॉकी टीम के पूर्व कोच एम.के. कौशिक ने कहा, "बहुत बड़ी कामयाबी है। 1980 के बाद पहली बार क्वालिफ़ाई कर रहे हैं। टीम ने इटली और जापान के ख़िलाफ़ शानदार प्रदर्शन किया। ख़ासकर रानी रामपाल और गोलकीपर सविता ने काबिल ए तारीफ़ प्रदर्शन किया।" लेकिन वो कहते हैं कि इस टीम को आगे काफ़ी तैयारी करनी पड़ेगी। ओलिंपिक में चुनौती बहुत मुश्किल होगी।


एंटवर्प में चल रहे वर्ल्ड हॉकी लीग सेमीफ़ाइनल टूर्नामेंट में भारत ने जापान को 1-0 से हराकर पांचवें नंबर पर पहुंच गई है। ज़ाहिर है इसके साथ ही भारतीय महिला हॉकी टीम के रियो में क्वालिफ़ाई करने की उम्मीदें बहुत बढ़ गई हैं। भारत की ओर से इकलौता गोल रानी रामपाल ने पहले क्वार्टर में 13वें मिनट में किया और आख़िर तक टीम ने इस बढ़त को बनाए रखा। रानी रामपाल ने टूर्नामेंट में चार गोल किए।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... BJP नेताओं पर कार्रवाई न करने पर दिल्ली पुलिस को फटकारने वाले जज का ट्रांसफर, कांग्रेस ने मोदी सरकार से पूछे 3 सवाल

Advertisement