NDTV Khabar

World Women Boxing: मैरी कॉम ने रिकॉर्ड छठी बार जीता विश्व चैंपियनशिप का खिताब, रोते हुए कही यह बात

मैरी कॉम ने फाइनल में यूक्रेन की हना ओखोटा को 5-0 से मात देते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
World Women Boxing: मैरी कॉम ने रिकॉर्ड छठी बार जीता विश्व चैंपियनशिप का खिताब, रोते हुए कही यह बात

मैरी कॉम की फाइल फोटो

नई दिल्ली: भारत की दिग्गज खिलाड़ी एमसी मैरी कॉम (Mary Kom won world Championship record 6th time) ने शनिवार को आईबा महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के10वें संस्करण में 48 किलोग्राम भारवर्ग का खिताब अपने नाम कर लिया. मैरी कॉम ने फाइनल में यूक्रेन की हना ओखोटा को 5-0 से मात देते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया. इसी के साथ मैरीकॉम छह वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने वाली दुनिया की पहली खिलाड़ी बन गई हैं.  इससे पहले मैरी कॉम ने साल 2002, 2005, 2006, 2008 और साल 2010 में विश्व चैंपियनशिप का खिताब अपनी झोली में डाला था. मैरी कॉम ने एक खिताब 45 किग्रा, तीन वर्ल्ड खिताब 46 किग्रा भार वर्ग और आखिरी दो खिताब 48 किग्रा वजन वर्ग मे जीता है. इसके अलावा साल 2001 में मैरी इसी भार वर्ग में उपविजेता रही थीं. और उन्होंने सिल्वर पदक जीता था. यही नहीं, मैरी विश्व चैंपियनशिप (महिला एवं पुरुष) में सबसे अधिक पदक भी जीतने वाली खिलाड़ी बन गए हैं. मैरी कॉम छह स्वर्ण और एक रजत जीत कर क्यूबा के फेलिक्स सेवोन (91 किलोग्राम भारवर्ग) की बराबरी की. फेलिक्स ने 1986 से 1999 के बीच छह स्वर्ण और एक रजत पदक जीता था पहले राउंड में दोनों खिलाड़ी सावधानी से एक दूसरे खेल को परख रहीं थीं और इसलिए ज्यादा आक्रमण नहीं कर रहीं थीं. दोनों ने अपने राइट पंच का अच्छा इस्तेमाल किया। मैरी ने कुछ पंच मारे, जिनमें से कुछ अच्छे सही निशाने पर लगे. इस बीच, हालांकि हना ने भी अपने राइट जैब का अच्छा उपयोग किया लेकिन मैरी कॉम अपनी फुर्ती से उनके अधिकतर पंचों को नाकाम करने में सफल रहीं.

यह भी पढ़ें:  मैरी कॉम ने फिर किया कमाल, इस एक ट्रिक से 2 घंटे में कर डाला 4 किलो वजन कम

दूसरे राउंड में दोनों ने आक्रामकता दिखाई और राइट जैब के साथ फिस्ट के संयोजन से हावी होने की कोशिश की. रणनीति दोनों खिलाड़ियों को एक जैसी थी। शुरुआत में हना ने अच्छे पंच मारे जो सटीक रहे। हालांकि दूसरे राउंड के अंत में मैरी कॉम ने दूरी बनाते हुए अपने लिए मौके बनाए और फिर समय पर पंच मार अंक बटोरे. तीसरे राउंड की शुरुआती एक मिनट में मैरी ने राइट और लेफ्ट जैब के संयोजन से तीन-चार अच्छे पंच स्कोरिंग एरिया में मार जजों को प्रभावित किया लेकिन यहां से हना बेहद आक्रामक हो गईं और मैरी को उन्हें संभालना थोड़ा मुश्किल हो गया. अनुभवी मैरी ने धैर्य बनाए रखा और जब हना लापरवाह दिखीं तब मैरीकॉम ने पंच मार अंक बटोरे रिकॉर्ड जीत के बाद मैरी कॉम बहुत ही भावुक हो गईं. इस चैंपियन खिलाड़ी ने आंसुओं के साथ कहा कि मैं भारत को स्वर्ण पदक के अलावा और कुछ नहीं दे सकती. साथ ही, उन्होंने रिकॉर्ड छठी बार चैंपियनशिप जीत के बाद ओलिंपिक खेलों में ज्यादा भार वर्ग में भाग लेने के संघर्ष और पीड़ा को भी बयां किया.

VIDEO: कुछ समय पहले मैरी कॉम ने एनडीटीवी से बात की थी. 


जहां मैरी कॉम का यह छठा विश्व चैंपियनशिप खिताब है, तो वहीं विश्व चैंपियनशिप में उन्होंने कुल आठवां पदक अपने नाम किया. निश्चित ही, मैरी कॉम की इस खिताबी जीत उन्हें ओलंपिक खेलों की तैयारी करने में और भरोसा देगी. 

टिप्पणियां


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement