NDTV Khabar

टेनिस: युकी भांबरी ने ऑस्ट्रेलियन ओपन के लिए क्वालीफाई किया

भारत के युकी भांबरी ने वर्ष के पहले ग्रैंडस्‍लैम ऑस्‍ट्रेलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट के लिए क्‍वालिफाई कर लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
टेनिस: युकी भांबरी ने ऑस्ट्रेलियन ओपन के लिए क्वालीफाई किया

युकी ने कनाडा के पीटर पोलांस्की को 1-6, 6-3, 6-3 से शिकस्त दी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पीटर पोलांस्की को 1-6, 6-3, 6-3 से हराया
  2. तीसरा बार इस टूर्नामेंट के मुख्‍य ड्रॉ में पहुंचे हैं
  3. रामकुमार पहला ग्रैंडस्‍लैम खेलने से चूके
मेलबर्न: भारत के युकी भांबरी ने वर्ष के पहले ग्रैंडस्‍लैम ऑस्‍ट्रेलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट के लिए क्‍वालिफाई कर लिया है. पिछले सत्र के अच्‍छे फॉर्म जारी रखते हुए युकी ने आज पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के लिए क्वालीफाई किया. उधर, भारत के ही एक अन्‍य खिलाड़ी रामकुमार रामनाथन अपने पहले ग्रैंडस्लैम में खेलने से चूक गए. 25 वर्षीय भांबरी ने तीसरे और अंतिम क्वालीफाइंग दौर में पहला सेट गंवाने के बाद वापसी की और एक घंटे 55 मिनट में कनाडा के पीटर पोलांस्की को 1-6, 6-3, 6-3 से शिकस्त दी. भांबरी ने इस तरह तीसरी बार ऑस्ट्रेलियाई ओपन पुरुष एकल के मुख्य ड्रॉ में प्रवेश किया. वह 2015 और 2016 में पहले दौर में क्रमश: एंडी मरे और टामस बर्डिच से हार गये थे.

यह भी पढ़ें: पूर्व नंबर वन खिलाड़ी सेरेना विलियम्‍स भी ऑस्ट्रेलियन ओपन से हटीं

वहीं रामकुमार को निर्णायक सेट के पांचवें गेम में सर्विस ब्रेक करने का मौका मिला लेकिन वह इसे अंक में नहीं तब्दील कर सके और अंत में तीसरे दौर के मुकाबले में कनाडा के वासेक पोसपिसिल से 4-6, 6-4, 4-6 से हार गए. ग्रैंडस्लैम में रामकुमार का अंतिम क्वालीफाइंग दौर में पहुंचना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. गौरतलब है कि युकी भांबरी जूनियर वर्ग में वर्ल्‍ड नंबर एक रह चुके हैं, उन्होंने यहां 2009 में ऑस्ट्रेलियन ओपन लड़कों के एकल वर्ग का खिताब जीता था और पेशेवर बनने के बाद सिर्फ इसी ग्रैंडस्लैम के मुख्य ड्रॉ में खेले हैं.

वीडियो: सेरेना ने जीता अपना 23वां ग्रैंडस्‍लैम
मेलबर्न पार्क में उनके प्रदर्शन के बारे में पूछने पर भांबरी ने कहा, ‘मैं नहीं जानता कि मैं यहां बेहतर कैसे खेल पाता हूं. शायद यहां की परिस्थितियां मेरे मुफीद हैं या फिर मैं यहां के हालात को जानता हूं क्योंकि मैं यहां खेल चुका हूं. ’पहले दो प्रयास में वह मौके का फायदा नहीं उठा सके क्योंकि शुरुआती दौर के मुकाबलों में उन्हें मजबूत प्रतिद्वंद्वियों से भिड़ना पड़ा था. भांबरी ने नवंबर में अपना छठा एटीपी चैलेंजर खिताब जीता था. उन्होंने कहा, ‘निश्चित रूप से मैं बेहतर ड्रॉ की उम्मीद कर रहा हूं. मैं साथ ही उम्मीद लगाये हूं कि मैं मुख्य ड्रॉ में कुछ दौर में जीत दर्ज कर सकूं.’ (इनपुट: एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement