NDTV Khabar
होम | खेल

खेल

  • टेनिस: पूर्व वर्ल्‍ड नंबर वन नोवाक जोकोविक ने 10 मैच प्‍वाइंट के बाद कोरिच को हराया...
    बोर्ना कोरिच को हराने के लिए जोकोविच को10 मैच प्वाइंट की जरूरत पड़ी. स्‍पेन के स्‍टार खिलाड़ी और पूर्व नंबर वन राफेल नडाल ने भी आसान जीत के साथ एटीपी टूर पर सकारात्मक वापसी की. दाईं कोहनी में चोट के कारण पिछले साल जुलाई में विंबलडन के बाद से अपना सिर्फ चौथा टूर्नामेंट खेल रहे जोकोविक ने दूसरे दौर के कड़े मुकाबले में कोरिच को 7-6, 7-5 से पराजित किया.
  • वर्ष 2022 के कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स से शूटिंग को हटाने से युवा खिलाड़ी होंगे प्रभावित : जीतू राय
    गोल्ड कोस्ट में भारत के लिए स्‍वर्ण पदक जीतने वाले जीतू ने कहा है कि 2022 के बर्मिंघम खेलों में शूटिंग के शामिल नहीं होने से युवा निशानेबाजी पर प्रतिकूल असर होगा. जीतू ने भारतीय सेना द्वारा आयोजित कार्यक्रम के दौरान कहा , ‘हम राष्ट्रमंडल खेलों की निशानेबाजी स्पर्धा में काफी पदक जीतते हैं. जरा इन बच्चों को देखो जो निशानेबाजी में शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं और वे आगे और भी बेहतर खेल दिखाएंगे.
  • कॉमनवेल्थ गेम्‍स 2018 में मिले इन मेडल्‍स से बदलेगी देश में टेबल टेनिस की तस्वीर...
    भारत के टेबल टेनिस खिलाड़ि‍यों ने इस बार कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में कुल 8 पदक जीते. भारतीय टीटी खिलाड़ि‍यों की यह सफलता काबिलेतारीफ मानी जा सकती है. भारत में टेबल टेनिस खिलाड़ियों का देश वापसी पर ऐसा स्वागत शायद ही पहले कभी हुआ हो. फ़ैन्स ने देश वापसी पर चैंपियन खिलाड़ियों का ढोल-नगाड़ों के साथ ज़ोरदार स्वागत किया. खिलाड़ियों ने भी फ़ैन्स को ऑटोग्राफ़ देने और सेल्फ़ी खिंचवाने के मामले में निराश नहीं किया.
  • बैडमिंटन कोच विमल कुमार ने बताया, इस मामले में थोड़ी कमजोर हैं पीवी सिंधु...
    इस मुकाबले में साइना ने अपने से ऊंची रैंकिंग वाली सिंधु को हराकर स्‍वर्ण पदक पर कब्‍जा जमाया. तमाम अनुमानों को झुठलाते हुए साइना ने इस मुकाबले में सीधे गेमों में सिंधु पर जीत दर्ज की. पूर्व भारतीय कोच विमल कुमार का मानना है कि पीवी सिंधु के खेल में यह कमजोरी है कि जवाबी हमले से उसे परेशानी में डाला जा सकता है और यही वजह है कि वे हाल के कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स के फाइनल सहित खिताबी मुकाबलों में हारीं.
  • टेनिस : मोंटे कार्लो मास्टर्स के अगले दौर में पहुंचे पूर्व नंबर वन नोवाक जोकोविक
    चोट और खराब फॉर्म से गुजर रहे जोकोविक ने इसके साथ ही अपने इस साल के पहले मास्टर्स 1000 टूर्नामेंट में पहली जीत दर्ज की है.टूर्नामेंट के पहले दौर में जोकोविक ने अपने हमवतन दुसान लाजोविक को सीधे सेटों में 6-0, 6-1 से मात दी.वर्ल्ड नम्बर-13 जोकोविक को अपने हमवतन दुसान को हराने में केवल 56 मिनट का समय लगा.
  • CWG 2018 closing ceremony: रंगारंग कार्यक्रम के साथ हुआ समापन, अब होगी बर्मिंघम में मुलाकात!
    बर्मिंघम  में वर्ष 2022 में दोबारा मिलने के वादे के साथ रविवार को यहां 21वें राष्ट्रमंडल खेलों का समापन हो गया. खेल भावना और सौहार्द के साथ 4 से 15 अप्रैल के बीच आयोजित इन खेलों विश्व के 71 देशों और टेरेटरीज के 6,600 से अधिक खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया. इन खेलों के अंतिम रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए गए, जिसमें विभिन्न कलाकारों ने अपनी कला का बेहतरीन प्रदर्शन किया. आस्ट्रेलिया के पोएट्री स्लैम प्रतियोगिता के सबसे युवा विजेता 13 वर्ष के सोली राफाएल ने एक कविता भी सुनाई. जमैका के दिग्गज फर्राटा धावक यूसेन बोल्ट ने एक डीजे बनकर भी समारोह में मौजूद दर्शकों का मनोरंजन किया
  • मध्य प्रदेश में महिला खिलाड़ियों को मिली 5 रुपये वाली थाली
    जहां एक तरफ पूरा देश कॉमनवेल्थ गेम्स में 26 गोल्ड मेडल मिलने पर गर्व महसूस कर रहा है. लेकिन खिलाड़ियों को यहां तक पहुंचने में कितना संघर्ष करना पड़ता है हमारे देश में ये हकीकत भी किसी से छिपी नहीं है. हम अपने खिलाड़ियों से हर प्रतियोगिता में सोने की उम्मीद तो करते हैं लेकिन सुविधाएं देने के नाम पर सरकारी तिजोरी खुलती नहीं है.
  • Commonwealth Games 2018: कुछ ऐसे किदांबी श्रीकांत ने गंवा दिया सिंगल्स का स्वर्ण पदक
    वर्ल्ड नम्बर-1 भारतीय खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में रविवार को पुरुष एकल वर्ग के फाइनल में उलटफेर का शिकार होना पड़ा और इस कारण वह स्वर्ण पदक से चूक गए. श्रीकांत को मलेशिया के दिग्गज ली चोंग वेई ने मात देकर राष्ट्रमंडल खेलों का पांचवां स्वर्ण पदक हासिल किया. इस कारण भारतीय खिलाड़ी को रजत पदक से संतोष करना पड़ा
  • CWG 2018: कुल 66 पदकों के साथ खत्म हुआ भारत का अभियान, रचा इतिहास, मिला तीसरा स्थान
    ऑस्ट्रेलिया में 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के आखिरी दिन भारत ने इतिहास रच दिया है. खेलों के 10वें दिन भारत का अभियान बैडमिंडन में पुरुष डबल्स मेंं हार और जत के साथ 66 पदकों के साथ खत्म हुआ, जो भारत का खेलों के इतिहास में तीसरा सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा. रविवार को करोड़ों हिंदुस्तानी खेलप्रेमियों की नजरें इसी बात पर लगी थीं कि क्या भारत साल 2014 में ग्लास्गो के प्रदर्शन को पीछे छोड़ पाएगा या नहीं. और आखिरी दिन भारतीय धुरंधरों ने उम्मीदों पर खरा उतरते हुए ग्लास्गो के 64 पदकों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया. कुल मिलाकर भारत ने 66 पदक जीते. इनमें  26 स्वर्ण, 20 रजत और 20 कांस्य पदक शामिल हैं
  • CWG 2018: बैडमिंटन में भारत को 2 पदक, सायना नेहवाल को गोल्ड और पीवी सिंधु को सिल्वर
    कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में बैडमिंटन सिंगल्स के खिताबी मुकाबले में सायना नेहवाल को गोल्ड मिला है, वहीं पीवी सिंधु को सिल्वर से ही संतोष करना पड़ा है.
  • CWG 2018: कुछ ऐसे मुक्केबाजों ने नौवें दिन को यादगार बना दिया
    भारतीय मुक्केबाजों ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के 10वें दिन शनिवार को अपने मुक्के की धमक दिखाते हुए तीन स्वर्ण समेत कुल छह पदक जीते. भारत ने स्वर्ण के अलावा तीन रजत भी जीते. भारत की दिग्गज मुक्केबाज मैरी कॉम ने महिलाओं की 45-48 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण पदक जीता. पुरुषों के 52 किलेग्राम भारवर्ग में गौरव सोलंकी और 75 किलोग्राम भारवर्ग में विकास कृष्ण ने स्वर्ण पदक जीतकर भारत का मान बढ़ाया. इनके अलावा, भारत की झोली में तीन रजत पदक भी आए। भारत के लिए पुरुषों के 91 प्लस किलोग्राम भारवर्ग में सतीश कुमार, 46-49 किलोग्राम भारवर्ग में अमित पंघाल और 60 किलोग्राम भार वर्ग में मनीष कौशिक ने पदक जीते
  • CWG 2018: इस बड़ी वजह से पुरुष हॉकी टीम ने गंवाया कांस्य पदक
    भारतीय पुरुष हाकी टीम को 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के 10वें दिन शनिवार को कांस्य पदक के मुकाबले में इंग्लैंड के खिलाफ 1-2 से हार का सामना करना पड़ा. न्यूजीलैंड के खिलाफ हुए सेमीफाइनल मुकाबले की तरह इस मैच भी भारत की शुरुआत आक्रामक रही लेकिन पांच मिनट के बाद ही इंग्लैंड ने टीम ने भारतीय आक्रमण को तोड़ते हुए डिफेंस पर दबाव बनाना शुरू कर दिया. भारतीय टीम ने कुल मिलाकर बहुत ही निराश किया और एक बार फिर से बड़ी खामी हॉकी टीम की पोल खोल गई
  • Commonwealth Games 2018: इस स्कोर के साथ नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास
    नीरज चोपड़ा ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के 10वें दिन शनिवार को भारत की झोली में एक और स्वर्ण पदक डाल दिया. नीरज ने पुरुषों की भालाफेंक स्पर्धा में देश के लिए स्वर्ण पदक जीता. वहीं इसी स्पर्धा में एक और भारतीय विपिन कशाना पांचवें स्थान पर रहे. और स्वर्ण पदक के साथ ही नीरज ने कॉमनवेल्थ खेलों में इतिहास रच दिया.
  • CWG 2018: नौवें दिन भारत पर स्वर्ण पदकों की बरसात, नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास
    गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के आखिरी और 10वें दिन भारत पर स्वर्ण पदकों की बरसात के बीच नीरज चोपड़ा ने इतिहास रच दिया है. नीरज चोपड़ा भाला फेंक में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं. वहीं, शाम के सेशन में मुक्केबाजी में विकास कृष्ण, महिला टीटी में सिंगल्स में मनिका बत्रा, कुश्ती में सुमित मलिक और विगनेश ने क्रमश पुरुष व महिला वर्ग में स्वर्ण दिलाए, तो बॉक्सिंग में स्टार मैरीकॉम और गौरव सोलंकी ने भी सोने पर मुक्का जड़ा. इसके अलावा संजीव राजपूत ने भी सोने पर निशाना साधा. कुल मिलाकर खेलों के नौ दिन अभी तक भारत आठ स्वर्ण पदक कब्जा चुका है
  • CWG 2018 : मुक्केबाजी में गोल्ड मेडल से चूके अमित, सिल्वर मेडल से करना पड़ा संतोष
    ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में मुक्केबाजी में भारतीय खिलाड़ी अमित एक गोल्ड मेडल से चूक गये. भारतीय मुक्केबाज अमित पंघाल को यहां जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में 46-49 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के फाइनल में हार कर रजत पदक से संतोष करना पड़ा है. 
  • CWG 2018: मुक्केबाजी में मैरी कॉम ने जीता गोल्ड, भारत के नाम एक और स्वर्ण
    ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में भारतीय खिलाड़ियों का दबदबा जारी है. एक बार फिर से देश का परचम लहराते हुए मुक्केबाज मैरीकॉम ने भारत को एक और गोल्ड दिला दिया है. मैरीकॉम ने 48 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक जीत लिया है.
  • Commonwealth Games 2018: स्‍वर्ण जीतने वाले 15 वर्षीय अनीष भानवाला को अब सता रही 10वीं की परीक्षा की चिंता
    अनीष ने आज कॉमनेवल्‍थ गेम्‍स 2018 में आज भारत के लिए 25 मीटर रैपिड फायर पिस्‍टल इवेंट का स्‍वर्ण पदक जीता. वे कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स के भारत के सबसे कम उम्र के पदक जीतने वाले खिलाड़ी हैं.कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में स्‍वर्ण जीतने के बाद अनीश को अब अपने गणित के पेपर की चिंता सता रही है. भारत लौटने के तुरंत बाद उन्‍हें 10वीं परीक्षा देनी है. हरियाणा के इस युवा ने 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल में स्वर्ण जीतने के दौरान इन खेलों का नया रिकॉर्ड भी बनाया. अब उनके पास रिकॉर्ड स्वर्ण पदक है लेकिन अब वह एक और परीक्षा को लेकर चिंतित हैं.
  • CWG 2018: सेमीफाइनल में भारतीय हॉकी टीम न्यूजीलैंड के हाथों हुई उलटफेर का शिकार
    भारत की पुरुष हॉकी टीम को यहां जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के नौवें दिन सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा. भारतीय टीम को गोल्ड कोस्ट हॉकी सेंटर में खेले गए सेमीफाइनल मैच में न्यूजीलैंड ने 3-2 से शिकस्त देकर उलटफेर किया. भारत के इस प्रदर्शन से करोड़ों भारतीय हॉकीप्रेमियों को खासी निराशा हुई है, जो कॉमनवेल्थ खेलों में एक बार फिर से स्वर्ण जीतने का सपना पाले हुए थे
  • CWG 2018: आखिरी 3 सेकेंड में इस कारण पूजा ढांडा स्वर्ण पदक से चूकीं
    भारतीय महिला पहलवान पूजा ढांडा जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में नौवें दिन शुक्रवार को महिलाओं की 57 किलोग्राम स्पर्धा के फाइनल में  स्वर्ण पदक हासिल करने से चूक गईं. पूजा को फाइनल में नाईजीरिया की ओडुनायो अडेकुओरोये ने 7-5 से मात देकर सोना जीता और भारतीय महिला पहलवान को रजत से संतोष करना पड़ा. और यह वह बात रही, जिसका पूजा ढांडा को ताउम्र मलाल रहेगा.
  • CWG 2018: इस स्कोर के साथ पूजा ढांडा 57 किग्रा फ्री-स्टाइल के फाइनल में
    भारत की महिला पहलवान पूजा ढांडा ने शानदार प्रदर्शन करते हुएजारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में नौवें दिन शुक्रवार को महिलाओं की 57 किलोग्राम वर्ग के फाइनल में प्रवेश कर लिया है. पूजा ने यहां सेमीफाइनल मुकाबले में कैमरून की जोसेफ एसोम्बे तियाको को मात दी. इस जीत के साथ उन्होंने अपने लिए रजत पदक पक्का कर लिया.
12345»

Advertisement