साइ ने भारतीय तैराकों को दी दुबई में प्रैक्टिस की अनुमति, इतनी मोटी रकम होगी खर्च

तैराकों को राष्ट्रीय कोच प्रदीप एस कुमार से भी मदद मिलेगी जो दुबई में ही हैं. चोकशी ने कहा, ‘श्रीहरि के कोच जयराजन तैराकों के साथ जाएंगे. प्रदीप कुमार भी उसी अकादमी में हैं.’ खाड़े 50 मीटर फ्रीस्टाइल, नटराज 100 मीटर बैकस्ट्रोक और रावत 400 मीटर फ्रीस्टाइल में ओलंपिक का ‘बी क्वालीफिकेशन’ मार्क हासिल कर चुके हैं

साइ ने भारतीय तैराकों को दी दुबई में प्रैक्टिस की अनुमति, इतनी   मोटी रकम होगी खर्च

तैराकी की प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस महामारी के कारण लंबे अंतराल के बाद ओलिंपिक का कोटा पाने के दावेदार भारत के तीन तैराक वीरधवल खाड़े, श्रीहरि नटराज और कुशाग्र रावत अगले महीने से दुबई में अभ्यास शुरू करेंगे. भारतीय खेल प्राधिकरण ने शनिवार को यह जानकारी दी. भारत के तीनों तैराक दुबई की एक्वा नेशन स्वीमिंग एकैडेमी में अभ्यास करेंगे. उनके साथ कोच एसी जयराजन भी होंगे. तोक्यो ओलिंपिक की तैयारी के लिये इस अभ्यास पर करीब 35 लाख रुपये खर्च होंगे.

साइ ने एक विज्ञप्ति में कहा ,‘‘ भारतीय खेल प्राधिकरण ने ओलिंपिक के दावेदार इन तीन तैराकों के लिये दो महीने के अभ्यास को मंजूरी दे दी है. उनके साथ एक कोच भी होगा और अभ्यास पर करीब 35 लाख रूपये खर्च आएगा.' भारतीय तैराकी महासंघ ने वीजा लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है और अगस्त के आखिरी सप्ताह में तैराकों को भेजा जाएगा. महासंघ के महासचिव मोनल चोकशी ने कहा ,‘‘ हमने वीजा की प्रक्रिया शुरू कर दी है. वीजा और टिकट मिलते ही ये दुबईरवाना हो जाएंगे. उम्मीद है कि हम इन्हें 24 . 25 अगस्त तक भेज सकेंगे.'

तैराकों को राष्ट्रीय कोच प्रदीप एस कुमार से भी मदद मिलेगी जो दुबई में ही हैं. चोकशी ने कहा, ‘श्रीहरि के कोच जयराजन तैराकों के साथ जाएंगे. प्रदीप कुमार भी उसी अकादमी में हैं.' खाड़े 50 मीटर फ्रीस्टाइल, नटराज 100 मीटर बैकस्ट्रोक और रावत 400 मीटर फ्रीस्टाइल में ओलंपिक का ‘बी क्वालीफिकेशन' मार्क हासिल कर चुके हैं. साइ ने कहा, ‘दुबई में अभ्यास करके ये एक्वालीफिकेशन मार्क हासिल करने की कोशिश करेंगे.' श्रीहरि ने कहा, ‘मुझे खुशी है कि यह संभव हो सका. मैं एसएफआई और साइ को इसके लिये धन्यवाद देता हूं. उम्मीद है कि बाकी तैराक भी अभ्यास शुरू कर सकेंगे.'


रावत ने कहा ,‘‘ मैं रोमांचित हूं कि पांच महीने बाद अभ्यास शुरू हो पाएगा. इसके बारे में सुनकर मेरा मनोबल बहुत बढ़ गया है.' भारतीय तैराक 25 मार्च को लागू हुए पहले लॉकडाउन से तरणताल में नहीं उतरे हैं. खिलाड़ियों को अभ्यास के लिये कुछ राहत दी गई है लेकिन तरणताल के इस्तेमाल पर 31 अगस्त तक पाबंदी है. साइ ने कहा कि तैराकों को दुबई में अभ्यास की अनुमति देने का फैसला मौजूदा स्थिति को देखकर लिया गया है क्योंकि देश में तरणताल अभी खुले नहीं है.
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: काफी समय पहले लिएंडर पेस ने मेंटल हेल्थ के बारे में बात की थी.