NDTV Khabar

Vivo V15 का रिव्यू

Vivo V15 Review in Hindi: क्या इस प्राइस सेगमेंट में वीवो वी15 (Vivo V15) एक बेहतरीन स्मार्टफोन साबित होगा? पढ़ें रिव्यू।

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Vivo V15 का रिव्यू

Vivo V15 Review: वीवो वी15 का रिव्यू

खास बातें

  1. हीलियो पी70 प्रोसेसर का इस्तेमाल हुआ है वीवो वी15 में
  2. Vivo V15 में 32 मेगापिक्सल का पॉप-अप सेल्फी कैमरा है
  3. Vivo V15 में 6.53 इंच का फुल-एचडी+ इनसेल फुलव्यू डिस्प्ले है

Vivo ने अब बेहतर और इनोवेटिव फीचर्स को हाइ-एंड स्मार्टफोन के बजाय मिड-रेंज़ सेगमेंट में भी देना शुरू कर दिया है। वीवो का लेटेस्ट स्मार्टफोन है Vivo V15। कम कीमत में कंपनी ने अपने वीवो वी15 में पॉप-अप सेल्फी कैमरे दिया है। यह एक मजबूत स्मार्टफोन है जो प्रभावशाली डिजाइन, तीन रियर कैमरे, बड़ी बैटरी, फास्ट चार्जिंग और हाई-रिजॉल्यूशन वाले 32 मेगापिक्सल सेल्फी कैमरे के साथ आता है। Vivo V15 को भारतीय मार्केट में शाओमी (Xiaomi), असूस (Asus) और सैमसंग (Samsung) ब्रांड के फोन से कड़ी चुनौती मिलेगी। क्या इस प्राइस सेगमेंट में वीवो वी15 (Vivo V15) एक बेहतरीन स्मार्टफोन साबित होगा? आइए वीवो वी15 (Vivo V15 Review) के बारे में विस्तार से जानते हैं।

Vivo V15 का डिजाइन


Vivo V15 Pro की तुलना में वीवो वी15 में बड़ा डिस्प्ले है लेकिन वीवो ब्रांड के दोनों ही हैंडसेट का डिजाइन एक समान है। इसकी लंबाई-चौड़ाई 161.97×75.93×8.54 मिलीमीटर और वज़न 189.5 ग्राम है। स्क्रीन के ऊपरी भाग में दिए टच कंट्रोल तक पहुंचने के लिए आपको हाथ थोड़ा स्ट्रैच करना पड़ सकता है।

फोन के कर्व्ड एज़ की वजह से फोन हाथ में आसानी से फिट हो जाता है। रियर पैनल पर निशान भी आसानी से पड़ जाते हैं। फोन को कुछ दिनों तक इस्तेमाल करने के बाद हमने पाया कि रियर पैनल पर नीचे की ओर और एज़ पर छोटे स्क्रैच के निशान पड़ गए थे। फिनिश भी ग्लॉसी है जिस वज़ह से उंगलियों के निशान आसानी से पड़ जाते हैं।

Vivo

Vivo V15 के तीन कलर वेरिएंट हैं- फ्रोज़न ब्लैक, ग्लैमर रेड और रॉयल ब्लू रंग। हमारे पास रिव्यू के लिए इसका ग्लैमर रेड वेरिएंट उपलब्ध है, इसका ग्रेडिएंट पैटर्न मजेंटा और डीप मैरून शेड के साथ आता है। बता दें कि फ्रोज़न ब्लैक वेरिएंट में टॉप-टू-बॉटम कलर शिफ्ट इफेक्ट देखने को नहीं मिलेगा। Vivo V15 की बिल्ड क्वालिटी मजबूत है।

वीवो वी15 के बैक पैनल पर ग्रेडिएंट फिनिश की झलक देखने को मिलेगी। बिल्ड क्वालिटी की बात करें तो Vivo V15 का बैक पैनल पॉलीकार्बोनेट का बना है और इसके किनारे भी घुमावदार हैं। Vivo V15 एक मजबूत फोन है। वीवो वी15 में फिंगरप्रिंट सेंसर तक हाथ आसानी से पहुंच जाता है। फोन का कैमरा थोड़ा उभरा हुआ है। Vivo V15 Pro की तरह वीवो वी15 में भी पॉप-अप सेल्फी कैमरे को जगह मिली है।

Vivo

मोटराइज्ड सेल्फी कैमरा मॉड्यूल एक सेकेंड में स्मूथली बाहर आता और अंदर जाता है। फोन के दाहिनी तरफ पावर बटन और वॉल्यूम बटन को जगह मिली है। इन्हें सही ढंग से प्लेस किया गया है, यही वज़ह कि बटन तक हाथ आसानी से पहुंच जाता है। स्मार्ट बटन को फोन के बायीं तरफ जगह मिली है, इसकी सहायता से आप गूगल असिस्टेंट को एक्टिवेट या फिर सिंगल प्रेस से गूगल सर्च को शुरू कर पाएंगे। डबल-प्रेस और लॉन्ग-प्रेस करने पर यह इमेज़ रिकग्निशन टूल और गूगल असिस्टेंट विजुअल स्नैपशॉट पेज़ को खोल देता है।  

इसके ऊपर ट्रे दी गई है- दो नैनो सिम कार्ड और माइक्रोएसडी कार्ड को लगाया जा सकता है। शुक्र है कि Vivo V15 फोन हाइब्रिड ट्रे के साथ नहीं आता है, इसका मतलब आप एक साथ दो सिम और माइक्रोएसडी कार्ड को लगा पाएंगे। फोन के निचले हिस्से में माइक्रो-यूएसबी पोर्ट, 3.5 मिलीमीटर हेडफोन जैक, माइक्रोफोन और स्पीकर को जगह मिली है। फोन के ऊपरी हिस्से में दूसरा माइक्रोफोन और पॉप-अप कैमरा मॉड्यूल है।

Vivo V15 फोन में 6.53 इंच का अल्ट्रा फुलव्यू फुल-एचडी+ (1080x2340 पिक्सल) इनसेल डिस्प्ले के साथ आता है, इसका आस्पेक्ट रेशियो 19.5:9 है। वीवो के मुताबिक, फोन का स्क्रीन-टू-बॉडी रेशियो 90.95 प्रतिशत है जो कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास 5 के साथ आता है। फोन के निचले हिस्से पर बॉर्डर थोड़ा ज्यादा है। ईयरपीस को स्क्रीन के ठीक ऊपर जगह मिली है। अब बात रिटेल बॉक्स में मिलने वाले सामान की। रिटेल बॉक्स में Vivo V15 के अलावा माइक्रो-यूएसबी कैबल, 18 वाट का चार्जर, हार्ड सिलिकॉन केस, एक हेडसेट, एक सिम इजेक्टर टूल है।

Vivo V15 स्पेसिफिकेशन और फीचर्स

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि वीवो वी15 फोन में 6.53 इंच का अल्ट्रा फुलव्यू फुल-एचडी+ (1080x2340 पिक्सल) इनसेल डिस्प्ले का इस्तेमाल हुआ है। Vivo V15 Pro की तरह इसमें भी सुपर एमोलेड पैनल है जो हमें पसंद आया। इससे कम कीमत में आने वाले सैमसंग ब्रांड के Galaxy A50 और Galaxy A30 (रिव्यू) दोनों ही हैंडसेट में सुपर एमोलेड पैनल दिया गया है।

vivo

Vivo V15 में स्पीड और मल्टीटास्किंग के लिए 2.1 गीगाहर्ट्ज़ ऑक्टा-कोर मीडियाटेक हीलियो पी70 प्रोसेसर का इस्तेमाल हुआ है। यह एक उपयुक्त प्रोसेसर है। गौर करने वाली बात यह है कि रियलमी 3 (रिव्यू) में भी मीडियाटेक हीलियो पी70 चिपसेट का इस्तेमाल हुआ है लेकिन इसकी कीमत वीवो वी15 की तुलना में बेहद ही कम है।

Vivo V15 को मीडियाटेक हीलियो पी70 प्रोसेसर के अलावा 6 जीबी रैम और 64 जीबी स्टोरेज वेरिएंट के साथ उतारा गया है, माइक्रोएसडी कार्ड की मदद से स्टोरेज को 256 जीबी तक बढ़ाना संभव है। वीवो वी15 (Vivo V15) के 6 जीबी रैम और 64 जीबी स्टोरेज वेरिएंट की कीमत 23,990 रुपये है।

Vivo

अब बात कैमरा सेटअप की। वीवो वी15 प्रो की तरह Vivo V15 में भी सेल्फी के लिए 32 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा दिया गया है जिसका अपर्चर एफ/2.0 है। फोन के पिछले हिस्से में तीन रियर कैमरे हैं, 12 मेगापिक्सल का प्राइमरी सेंसर है, जिसका अपर्चर एफ/1.78 है, 8 मेगापिक्सल का सेंसर है जिसका अपर्चर एफ/2.2 है और तीसरा सेंसर 5 मेगापिक्सल का है जिसका अपर्चर एफ/2.4 है।

कनेक्टिविटी के लिए वीवो वी15 में 4 जी वीओएलटीई, ब्लूटूथ वर्जन 4.2, माइक्रो-यूएसबी (ओटीजी सपोर्ट के साथ), जीपीएस/ए-जीपीएस और 3.5 मिलीमीटर हेडफोन जैक है। फोन में जान फूंकने के लिए 4,000 एमएएच की बैटरी दी गई है, यह फोन वीवो डुअल-इंजन फास्ट चार्जिंग सपोर्ट के साथ आता है।

Vivo V15 फोन में माइक्रो-यूएसबी पोर्ट का होना आश्चर्यजनक और निराश कर देने वाली बात है जबकि तब जब कम कीमत में आने वाले फोन यूएसबी टाइप-सी स्टैंडर्ड पोर्ट से लैस हैं। Vivo V15 Pro में इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर दिया गया है जबकि वीवो वी15 के पिछले हिस्से में फिंगरप्रिंट सेंसर को जगह मिली है।

सॉफ्टवेयर की बात करें तो वीवो वी15 एंड्रॉयड 9 पाई (Android 9 Pie) पर आधारित फनटच ओएस 9 पर चलता है। हमारे पास मौजूद रिव्यू यूनिट जनवरी 2019 सिक्योरिटी पैच पर चलता है। फोन में ऐप ड्रावर नहीं है तो ऐसी स्थिति में आपको होम स्क्रीन पर स्वाइप करके ऐप्स को देखने पड़ेगा।

फर्स्ट होम स्क्रीन पर दाहिनी तरफ स्वाइप करने पर स्मार्ट लॉन्चर खुल जाएगा, यहां आपको वेदर, टू-डू लिस्ट, ऐप शॉर्टकट और न्यूज़ हेडलाइन जैसे टास्क कार्ड्स मिलेंगे। इसके अलावा यूनिवर्सल सर्च बार भी है जिसकी मदद से ऐप को खोज सकते हैं, सिस्टम सेटिंग्स पर स्विच कर सकते हैं और क्विक वेब सर्च कर सकते हैं।

Vivo V15 में कई ऐप्स पहले से ही प्री-इंस्टॉल हैं जैसे कि गाना (Gaana), फेसबुक (Facebook), पेटीएम (Paytm), न्यूज़प्वाइंट (Newspoint) यूसी ब्राउज़र (UC Browser) और फोन पे (PhonePe)। फनटच ओएस 9 के खुद के भी कुछ फीचर्स हैं। उदाहरण के लिए मैसेज़ स्क्रीन स्पिलिटिंग फीचर है जो इनकमिंग मैसेज़ के नोटिफिकेशन को फ्लोटिंग बबल के रूप में दिखाएगा। इसपर टैप करके आप स्प्लिट-स्क्रीन व्यू में आसानी से मैसेज को खोल सकते हैं।

इसके अलावा स्मार्ट लॉक,स्मार्ट मिररिंग और स्मार्ट मोशन जैसे फीचर्स भी उपलब्ध हैं। फनटच ओएस 9 दो पावर सेविंग मोड्स के साथ आता है। 'लो पावर मोड' सीपीयू और जीपीयू की स्पीड को ऑप्टिमाइज़ कर देता है, ऑटोमेटिकली स्क्रीन ब्राइटनेस को कम कर देता है, वाई-फाई और ब्लूटूथ को डिसेबल कर देता है और अन्य उपाय करता है जो पावर की खपत को कम करने में मदद करते हैं।

दूसरा मोड है 'एक्सट्रीम पावर-सेविंगस मोड'। यह फोन, मैसेज़, कॉन्टैक्ट और क्लॉक को छोड़कर सभी एक्टिविटी और ऐप्स को बंद कर देता है।

Vivo V15 की परफॉर्मेंस, कैमरा और बैटरी लाइफ

परफॉर्मेंस की बात करने से पहले आइए वीवो वी15 के डिस्प्ले की बात करते हैं। वीवो वी15 प्रो की तरह इसमें भी सुपर एमोलेड पैनल है जो 6.53 इंच इन-सेल एलसीडी डिस्प्ले के साथ आता है जिसका रिजॉल्यूशन 1080×2340 पिक्सल है। कलर आउटपुट अच्छा है और टेक्स्ट क्रिस्प नज़र आते हैं। फोन के व्यूइंग एंगल भी अच्छे हैं।

फुल-स्क्रीन डिजाइन होने की वज़ह से फोन पर गेम खेलने और फुल-एचडी 60 फ्रेम प्रति सेकेंड वाली वीडियो देखना अच्छा लगता है। वीवो वी15 का डिफॉल्ट कलर प्रोफाइल कोल्डर साइड पर है लेकिन अगर आप चाहें तो अपने पसंद के अनुसार इसे बदल भी सकते हैं। आंखों को थकने से बचाने के लिए कलर टोन को भी एडजस्ट किया जा सकता है। इसे मैनुअली एक्टिवेट या फिर इसे शेड्यूल भी कर सकते हैं।

img
img
img

फुल-स्क्रीन डिजाइन काफी अच्छा लगता है लेकिन घुमावदार किनारे कुछ स्क्रीन कंटेंट को हाइड कर देते हैं खासतौर से उन ऐप्स के साथ जो स्केलिंग सपोर्ट नहीं करते। आप चाहें तो प्रति-ऐप के आधार पर फुल-स्क्रीन स्केलिंग को डिसेबल भी कर सकते हैं। ऐसा करने से लैंडस्केप मोड में गेमिंग और वीडियो देखते समय हर साइड पर ब्लैक बार एड हो जाएंगे जो देखने में बिल्कुल भी अच्छे नहीं लगते।

ब्राइटनेस के आधार पर अगर बात की जाए तो वीवो वी15 (Vivo V15) का डिस्प्ले थोड़ा बेहतर हो सकता था। फोन को इनडोर में इस्तेमाल करने पर हमें कोई समस्या नहीं हुई लेकिन बाहर दिन की रोशनी में डिस्प्ले उतने अच्छे से नहीं दिखता। ब्राइटनेस को 100 प्रतिशत करने के बाद वीडियो और फोटो डिम लगते हैं।

vivo
img
img
hdron

इसके अलावा एक और बात है जो आपको निराश कर सकती है और वो यह है कि वीवो वी15 को Widevine L1 सर्टिफिकेशन प्राप्त नहीं है। गौर करने वाली बात यह है वीवो वी15 प्रो (Vivo V15 Pro) को भी यह सर्टिफिकेशन नहीं मिला है।

इसका मतलब आप नेटफ्लिक्स (Netflix) या अमेज़न पर एचडी वीडियो को स्ट्रीम नहीं कर पाएंगे। यह बात बेहद ही हैरान कर देने वाली है कि 20,000 रुपये से महंगा यह मोबाइल भी इस सुविधा से लैस नहीं है। मीडियाटेक हीलियो पी70 प्रोसेसर दिनभर के सभी टॉस्क को अच्छे से हैंडल कर लेता है।

सोशल मीडिया और प्रोडक्टिविटी ऐप्स तेजी से खुलते हैं और इनके बीच स्विच करना भी काफी स्मूथ था। 6 जीबी रैम की मदद से बैंकग्राउंड में कई ऐप्स आसानी से चलते हैं। हालांकि, गेमिंग परफॉर्मेंस कुछ खास प्रभावशाली नहीं रही। हमने वीवो वी15 (Vivo V15) में PUBG Mobile, Asphalt 9: Legends और Modern Combat 5 को खेलकर देखा।

PUBG Mobile बॉय डिफॉल्ट मीडियम सेटिंग, मीडियम फ्रेम रेट और बैलेंस ग्राफिक्स पर थी। गेमिंग के दौरान अनुभव अधिकतर स्मूथ रहा लेकिन बीच में कई बार ऐसा लगा कि फोन धीमा हो गया। Asphalt 9: Legends बिना किसी समस्या के चली। फनटच ओएस 9 की वज़ह से फोन में गेम क्यूब फीचर दिया गया है जो गेमिंग एक्सपीरियंस को बेहतर बनाता है लेकिन हमें गेम क्यूब लिस्ट से पहले और बाद में किसी तरह का कोई इंप्रूवमेंट नज़र नहीं आया।

इसके अलावा इस फोन में ग्रेम-केंद्रित फीचर दिया गया है जिसका नाम है गेम असिस्टेंट। यह बेहतर एक्सपीरियंस के लिए सीपीयू और रैम को ऑप्टिमाइज़ कर देता है। गेमिंग के दौरान एस्पोर्ट्स मोड यूज़र के बैकग्राउंड ऐप्स और नोटिफिकेशन को ब्लॉक कर देता है।

एक बात जो गौर करने वाली है वह यह है कि इसमें फेस रिकग्निशन सपोर्ट नहीं दिया गया है। Vivo V15 और Vivo V15 Pro स्मार्टफोन में 32 मेगापिक्सल का सेल्फी कैमरा है जो मोटराइज्ड पॉप-अप मॉड्यूल के साथ आता है। फिलहाल इस बात की जानकारी नहीं है कि भविष्य में सॉफ्टवेयर अपडेट के जरिए इसे यह सिक्योरिटी फीचर मिलेगा या नहीं। ्र

वहीं, फिंगरप्रिंट सेंसर भी तेजी से काम करता है और एक सेकेंड से भी कम समय में फोन को अनलॉक कर देता है। वीवो वी15 की कैमरा परफॉर्मेंस की बात करें तो कैमरा यूआई वीवो वी15 प्रो की तरह ही है। नीचे की तरफ डॉक्यूमेंट स्कैनिंग मोड, प्रो मोड, एआई ब्यूटी और एआर स्टीकर्स शॉर्टकर्ट दिए गए हैं।

शटर बटन के ऊपर वाइड-एंगल मोड, सीन सिलेक्शन और पोर्टेट मोड को जगह मिली है। ऊपर में आपको सेटिंग सेक्शन के कंट्रोल, पोर्टेट लाइटिंग इफेक्ट, लाइव फोटोज़ और एचडीआर मोड मिलेगा। 12 मेगापिक्सल का प्राइमरी सेंसर है, जिसका अपर्चर एफ/1.78 है, कंपनी का दावा है कि मेन कैमरा 24 मिलियन फोटो सेंसेटिव यूनिट से लैस है और यह डुअल पिक्सल फोकसिंग तकनीक के साथ आता है जो ब्राइट फोटो देता है। वीवो वी15 से ली गई तस्वीरों में डिटेल और कलर्स सही से कैप्चर हुए।

मैक्रो शॉट्स में Vivo V15 से ली गई तस्वीरें काफी अच्छी आई। सब्जेक्ट के साथ कलर्स और डिटेल भी अच्छे से कैप्चर हुए। शेड वाइब्रेंट आए और ग्रेडिएंट भी अच्छे थे। वीवो वी15 की तुलना में रेडमी नोट 7 प्रो से लिए क्लॉज-अप शॉट बेहतर कैप्चर हुए थे। दिन की रोशनी में ली गई तस्वीरें क्रिस्प आईं, डायनामिक रेंज़ और फोटो में शॉर्पनेस भी अच्छी है।

लो-लाइट में ली गई तस्वीरों में ग्रेनी टेक्चर और नॉयस की झलक देखने को मिली। तुलना की जाए तो Redmi Note 7 Pro (रिव्यू) इससे बेहतर साबित हुआ था। पोर्टेट शॉट्स में यह फोन अच्छी डेप्थ कैप्चर करता है। हमें यह बात अच्छी लगी कि तस्वीर लेने से पहले और बाद में ब्लर इफेक्ट को एडजस्ट किया जा सकता है।

Vivo V15 के कैमरा फोकस को अच्छे से लॉक कर लेते हैं लेकिन एज डिटेक्शन बेहतर हो सकता था। वाइड-एंगल कैमरा यूज़र को वाइड पैनारोमा कैप्चर करने में मदद करता है। हमें किसी तरह का कोई बैरेल डिस्टॉर्शन देखने को नहीं मिला। वीडियो फुल-एचडी रिजॉल्यूशन के साथ 30 फ्रेम प्रति सेकेंड पर रिकॉर्ड होती है।

यह बात आपको थोड़ी निराश कर सकती है कि वीवो वी15 (Vivo V15) 60 फ्रेम प्रति सेकेंड पर 4के या फुल-एचडी वीडियो रिकॉर्ड करने में सक्षम नहीं है। वीडियो रिकॉर्डिंग अच्छी आई लेकिन फोन में स्टेबलाइजेशन ना होने का मतलब है कि वीडियो में शेकिंग और कंपन का एहसास होगा। स्लो-मोशन में वीडियो 30 फ्रेम प्रति सेकेंड पर 1280 x 720 पिक्सल रिजॉल्यूशन के साथ रिकॉर्ड होती हैं।

32 मेगापिक्सल सेल्फी कैमरा से ली गई तस्वीरों में डिटेल बेहद ही अच्छे से कैप्चर हुई, इसमें कलर रीप्रोडक्शन और शॉर्पनेस भी अच्छी आई। एज डिटेक्शन भी सटीक है। स्टूडियो लाइटिंग इफेक्ट की मदद से आप फिल्टर्स और कलरफुल इफेक्ट्स को भी जोड़ सकते हैं।

एआई ब्यूटी मोड कई विकल्प के साथ आता है जैसे कि स्किन स्मूथनिंग, स्किन लाइटनिंग, जॉलाइन स्लिमिंग और आई एनलार्जमेंट। इसके अलावा फुल-बॉडी ब्यूटीफिकेशन टूल भी हैं जो वेस्ट लाइन को कम कर देते हैं और लेग को पतला या बड़े बना देते हैं। फेस ब्यूटीफिकेशन फिल्टर पूरी तस्वीर में कलर प्रोफाइल को चेंज कर देता है।

वीवो वी15 प्रो की तुलना में Vivo V15 की बैटरी परफॉर्मेंस बेहतर है। फोन में जान फूंकने के लिए 4,000 एमएएच की बैटरी दी गई है जो पूरा दिन चलती है। हमने फोन को रेगुलर यूज़ किया जैसे कि हमारा फोन पूरे दिन वाई-फाई से कनेक्ट था, सोशल मीडिया और प्रोडक्टिविटी ऐप्स का इस्तेमाल, वायरलेस हेडफोन के साथ घंटों तक म्यूज़िक सुनना, एक घंटे तक गेमिंग और कॉलिंग के बाद भी दिन के अंत में 30-35 प्रतिशत बैटरी शेष थी।

हमारे एचडी वीडियो लूप टेस्ट में वीवो वी15 ने 15 घंटे और 22 मिनट तक साथ निभाया। ज्यादा ब्राइटनेस करने के बाद 30 मिनट तक PUBG Mobile खेलने पर 9 प्रतिशत बैटरी खपत हुई। फोन के साथ आपको 18 वाट का चार्जर मिलेगा जो 30 मिनट में फोन को 0 से 40 प्रतिशत तक चार्ज कर देता है एक घंटे में 75 प्रतिशत तक चार्ज कर देता है। फोन को फुल चार्ज होने में तकरीबन 1 घंटे 40 मिनट तक का समय लगता है।

हमारा फैसला

हमें वीवो वी15 की बैटरी लाइफ, सुंदर डिजाइन, मजबूत बिल्ड क्वालिटी और फ्रंट कैमरा ने इंप्रेस किया। फोन में हां कुछ खामियां भी हैं जैसे कि यह फोन माइक्रो-यूएसबी पोर्ट के साथ आता है और इसमें आप Netflix पर एचडी वीडियो को स्ट्रीम नहीं कर सकते है। इस कीमत में लो-लाइट कैमरा परफॉर्मेस औसत है।

टिप्पणियां

Vivo का मुकाबला मार्केट में कम कीमत वाले फोन Redmi Note 7 Pro से होगा जो पावरफुल प्रोसेसर, बेहतर रियर कैमरे, बड़ी बैटरी, यूएसबी टाइप-सी पोर्ट, प्रभावशाली बिल्ड क्वालिटी के साथ आता है। इसकी कीमत 13,999 रुपये है। Realme 3 में भी उसी प्रोसेसर का इस्तेमाल हुआ है जो वीवो वी15 में है। गौर करने वाली बात यह है कि रियलमी 3 की शुरुआती कीमत 8,999 रुपये है।

Vivo V15 को Samsung Galaxy A50 (रिव्यू) से भी सीधी टक्कर मिलेगी। यह फोन सुपर एमोलेड डिस्प्ले, तीन रियर कैमरा और इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर से लैस है। इसके अलावा वीवो वी15 को Oppo F11 Pro (रिव्यू) से टक्कर मिलेगी जो पॉप-अप सेल्फी कैमरा, बेहतर कैमरा परफॉर्मेंस के साथ आता है। इस कीमत में Poco F1 और Asus ZenFone 5Z जैसे फ्लैगशिप-ग्रेड वाले फोन भी मौजूद हैं।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement