NDTV Khabar

Bigg Boss 11: स्वामी ओम और राम रहीम से खराब हुई बाबाओं की छवि सुधारेंगी ये लेडी तांत्रिक

बिग बॉस में आने के सवाल पर शिवानी दुर्गा बोली- मुझे लगता है यह फैसला मेरा नहीं है, मेरा यहां आना भगवान का प्लान है.

765 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
Bigg Boss 11: स्वामी ओम और राम रहीम से खराब हुई बाबाओं की छवि सुधारेंगी ये लेडी तांत्रिक
नई दिल्ली: आज रात नौ बजे से 'बिग बॉस सीजन-11' दस्तक देने जा रहा है. घर के सदस्य तय हो चुके हैं. इन्हीं सदस्यों में से एक अघोरी तांत्रिक शिवानी दुर्गा भी हैं. दुर्गा अमेरिका की शिकागो यूनिवर्सिटी से पीएचडी हैं और वे तंत्र-मंत्र में यकीन करती हैं. शिवानी दुर्गा बिग बॉस के जरिये तंत्र-मंत्र से जुड़ी भ्रांतियां दूर करने का इरादा रखती हैं. शिवानी दुर्गा ने ऐलान कर दिया है कि उनका इरादा घर में साधु संतों से जुड़ी खराब इमेज को सुधारने का है. बिग बॉस के घर में जाने से पहले उनसे हुई बातचीत के खास अंशः
 
>>बिग बॉस में आने का फैसला कैसे लिया?
मुझे लगता है यह फैसला मेरा नहीं है, मेरा यहां आना भगवान का प्लान है.
 
>>पिछली बार स्वामी ओम की बहुत ही हंगामाखेज पारी रही थी, आपका क्या कहना है ?
मेरा उद्देश्य पिछले कुछ समय में जो साधु समाज पर प्रश्न चिन्ह लग गया है उसे दूर करना है क्योंकि पिछले सीजन में स्वामी ओम की हरकतें और हाल ही में राम रहीम ने जो किया, इस सबके बाद साधु समाज की छवि को बहुत धक्का पहुंचा है. मेरी कोशिश रहेगी कि मैं पॉजिटिव और नेगेटिव इमेज के बैलेंस के बारे में लोगों का समझा सकूं.

पढ़ें: Bigg Boss 11: टीवी पर लौट आईं 'अंगूरी भाभी', सलमान खान कर रहे फ्लर्ट

>>आप अघोरी तांत्रिक हैं, तो इसकी झलक देखने को मिलेगी?
तंत्र-मंत्र से जुड़े लोगों काफी तरह के मिसकन्सेप्शन हैं. मेरी कोशिश रहेगी कि इसके सकारात्मक पक्ष को लोगों को दिखा सकूं, और बताऊं कि यह एनर्जी से जुड़ी चीज है.
 
>>घर के लिए आपकी क्या स्ट्रेटजी है?
मेरी कोई स्ट्रेटजी नहीं है, बस अपना मत रखती रहूंगी. वही करूंगी जो सही होगा और सबसे बड़ी कोशिशि साधुओं की इमेज को अच्छा बनाने की रहेगी.

पढ़ें: हरियाणवी सिंगर सपना चौधरी की Bigg Boss 11 के घर में ये होगी स्ट्रेटजी
 
>>घर में लड़ाई झगड़े और ढेर सारे कलेश होते हैं, उसके बारे में कुछ सोचा है?
यह एक बड़ी फैमिली होगी. जहां 10 बर्तन होते हैं तो आपस में टकराते ही हैं. यह कोई बड़ी बात नहीं है.
 
>>अगर स्वामी ओम जैसे हालात बने तो?
जो बीत गई सो बात गई. अब हमें की सोचनी चाहिए. मैं जवाब देना जानती हैं. हमें अब आगे के बारे में सोचना चाहिए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement