जब 'तेनालीराम' के इस एक्टर के पीछे पड़ गया साया, हनुमान चालीसा पढ़ते हुए लगाई दौड़...यूं बचाई जान

टेलीविजन पर कॉमेडी धारावाहिक 'तेनालीराम (Tenali Rama)' काफी समय से चर्चा में है और इसके सभी कैरेक्टर जमकर पसंद किए जाए रहे हैं. 'तेनालीराम' के तथाचार्य यानी पंकज बेरी (Pankaj Berry) ने अपनी एक घोस्ट स्टोरी शेयर की है.

जब 'तेनालीराम' के इस एक्टर के पीछे पड़ गया साया, हनुमान चालीसा पढ़ते हुए लगाई दौड़...यूं बचाई जान

'तेनालीराम' के तथाचार्य यानी पंकज बेरी (Pankaj Berry) ने शेयर किया खौफनाक किस्सा

खास बातें

  • तेनालीराम में नजर आते हैं पंकज बेरी
  • तथाचार्य का किरदार निभाते हैं
  • सुनाया बेहद खौफनाक किस्सा
नई दिल्ली:

टेलीविजन पर कॉमेडी धारावाहिक 'तेनालीराम (Tenali Rama)' काफी समय से चर्चा में है और इसके सभी कैरेक्टर जमकर पसंद किए जाए रहे हैं. सोनी सब टीवी के 'तेनालीराम (Tenali Rama)' सीरियल में तथाचार्य का किरदार निभा रहे पंकज बेरी (Pankaj Berry) ने अपनी असल जिंदगी में हुए अजीबोगरी वाकये को शेयर किया है. हालांकि कुछ लोग इस भूत-प्रेत कह सकते हैं और कुछ डर लेकिन पंकज बेरी (Pankaj Berry) का यह वाकया है काफी मजेदार और पंकज बेरी ने बहुत ही दिलचस्प अंदाज में इसे शेयर भी किया है.

नेहा कक्कड़ का फिर चला जादू, 'आंख मारे' पर मचाया ऐसा धमाल- Video हुआ वायरल

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Pankaj Berry (@berry.pankaj) on

रजनीकांत की बेटी सौंदर्या फिर करने जा रही हैं शादी, इस एक्टर की बनेंगी दुल्हनिया

'तेनालीराम (Tenali Rama)' के तथाचार्य पंकज बेरी (Pankaj Berry) ने बतायाः 'मेरे साथ एक घटना घटी जब मैं चंडीगढ़ में ड्रामैटिक्‍स में एमए कर रहा था. मैंने जैसे ही अपनी रिहर्सल खत्‍म की, मैं एक बस में पंजौर में अपने घर के लिए निकल पड़ा. रात के साढ़े बारह बजे थे और मुझे 12 किलोमीटर का सफर तय करना था क्‍योंकि मैं बहुत थका हुआ था, इसलिए मैं बस में सो गया और मेरे शहर से 4 किलोमीटर आगे निकल गया. काफी लंबे समय तक पूछताछ करने के बाद, मुझे पंजौर वापस जाने के लिए परिवहन का कोई साधन नहीं मिला तब मैंने पैदल जाने का फैसला किया...'

सपना चौधरी के 'डबल धमाल' से उड़ा इंटरनेट पर गरदा, बार-बार देखा जा रहा है Video

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

तेनालीराम (Tenali Rama) के पंकज बेरी (Pankaj Berry) ने बतायाः 'उस दिन काफी ठंड थी और घोर अंधेरा था और मुझे कुछ समय तक कोई भी नहीं दिखा. जब मैं चल रहा था, तो मुझे अचानक महसूस हुआ कि कोई मेरा पीछा कर रहा है. मैं उसे देखने के लिए पीछे मुड़ा लेकिन वहां कोई नहीं दिखाई दिया. ऐसा फिर हुआ पर फिर वहां कोई नहीं था. बाद में, मैंने पाया कि एक शैडो मेरे साथ चल रही है और मैं डर गया. मैं जितना तेज हो सकता था, उतनी तेज भागा और मैं हनुमान चालीसा पढ़ता जा रहा था और मैंने पीछे मुड़कर भी नहीं देखा. मैं पूरे रास्‍ते भागता रहा और अपने घर के सामने ही जाकर ही रुका और मैं बहुत जोर-जोर से हांफ रहा था. मुझे कभी पता नहीं चला कि वह शैडो क्‍या थी लेकिन मैं उस रात को नहीं भूल सकता.'

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...