'रामायण' के सीता, रावण और हुनमान ने यूं रखा राजनीति में कदम, पहले चुनाव में हासिल की जीत

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी चाहते थे कि रामायण (Ramayan) में राम बने अरुण गोविल (Arun Govil) कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े. रावण उर्फ अरविंद त्रिवेदी बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीता था.

'रामायण' के सीता, रावण और हुनमान ने यूं रखा राजनीति में कदम, पहले चुनाव में हासिल की जीत

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

रामायण (Ramayan) धारावाहिक 90 की दशक में दूरदर्शन पर दिखाया जाता था. रामानंद सागर की 'रामायण' ने ऐसा करिश्मा कायम किया था, जिसकी चर्चा आज भी होती है. अब देशभर में लॉकडाउन लगा हुआ है, लिहाजा इसका दोबारा प्रसारण किया जा रहा है. पहले की तरह ही इसे लोग खूब पसंद कर रहे हैं. इस धारावाहिक में काम करने वाले सारे कलाकार काफी मशहूर हो गए थे. इनकी पॉपुलैरिटी को भुनाने में राजनीतिक पार्टियां भी पीछे नहीं रहीं. कांग्रेस और बीजेपी इस धारावाहिक के प्रमुख कलाकारों को अपनी-अपनी पार्टियों में शामिल करने की कोशिशों में लगी रहीं. रामायण के अलावा महाभारत के कलाकारों ने भी राजनीति में कदम रखा था.

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी चाहते थे कि रामायण (Ramayan) में राम बने अरुण गोविल (Arun Govil) कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े. रावण उर्फ अरविंद त्रिवेदी बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीते तो वहीं, महाभारत (Mahabharat) के कृष्णा दिग्विजय सिंह के भाई से चुनाव हार गए. आइए रामायण और महाभारत के कलाकारों के राजनीतिक जीवन के बारे में जानते हैं.

-  रामायण (Ramayan) में रावण के किरदार से सबके दिलों में जगह बनाने वाले अरविंद त्रिवेदी (Arvind Trivedi)  ने बीजेपी (BJP) के टिकट पर साल 1991 में चुनाव लड़ा. उन्होंने गुजरात की सबरकांठा सीट पर जीत हासिल की. साल 2002 में वो दोबारा चुनाव जीते. अरविंद त्रिवेदी बाद में सेंसर बोर्ड में एक्टिंग चेयरमैन के पद पर भी कार्यरत रहे.

Newsbeep

-  रामायण (Ramayan) में मां सीता का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस दीपिका चिखलिया (Dipika Chikhlia) ने साल 1991 में बीजेपी के टिकट पर लोकसभा का चुनाव जीता. उन्होंने हाल ही में उस समय की एक फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की, जिसमें बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी और पीएम नरेंद्र मोदी के साथ नजर आईं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


-  भारत के मशहूर रेसलर दारा सिंह (Dara Singh) जिन्होंने रामायण (Ramayan) में हनुमान (Hanuman) का किरदार निभाया था, उन्हें साल 2003 राज्यसभा के लिए नोमिनेटेड किया गया था. राज्यसभा के लिए नोमिनेट होने वाले वो पहले कलाकार थे. बीजेपी ने उन्हें राज्यसभा भेजा. उस समय अटल बिहारी वाजपेयी भारत के प्रधानमंत्री थे.