NDTV Khabar

Australian Open: समांथा स्‍टोसुर और झांग शुआई की जोड़ी ने जीता महिला डबल्‍स खिताब..

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Australian Open: समांथा स्‍टोसुर और झांग शुआई की जोड़ी ने जीता महिला डबल्‍स खिताब..

समांथा स्टोसुर और झांग शुआइ की जोड़ी ने फाइनल मुकाबला 6-3, 6-4 से जीता.

खास बातें

  1. टिमिया बाबोस और क्रिस्टीना म्लादेनोविच को हराया
  2. स्‍टोसुर-शुआई ने फाइनल 6-3, 6-4 से जीता
  3. महिला वर्ग के फाइनल में क्वितोवा से भिड़ेगी ओसाका
मेलबर्न:

ऑस्ट्रेलिया की समांथा स्टोसुर और चीन की झांग शुआइ (Sam Stosur and Zhang Shuai) की गैर वरीयता प्राप्‍त जोड़ी ने हंगरी की टिमिया बाबोस और फ्रांस की क्रिस्टीना म्लादेनोविच की गत विजेता जोड़ी को हराकर ऑस्ट्रेलियाई ओपन (Australian Open) टेनिस चैंपियनशिप का महिला युगल वर्ग का खिताब जीत लिया है. स्टोसुर और शुआइ ने दूसरी वरीयता प्राप्त जोड़ी को 6-3, 6-4 से हराया. पहली बार ग्रैंडस्लैम युगल खिताब जीतने वाली शुआइ ने कहा,‘यह मेरे लिये सपना सच होने जैसा है.' गौरतलब है कि स्टोसुर इससे पहले अमेरिका की लीजा रेमंड के साथ 2005 अमेरिकी ओपन और 2006 फ्रेंच ओपन जीत चुकी हैं. उधर, टूर्नामेंट के महिला वर्ग के फाइनल में शनिवार को चेक गणराज्य की पेत्रा क्वितोवा का मुकाबला ‘जाइंट किलर' नाओमी ओसाका से होगा.

सेरेना क्‍वार्टर फाइनल में हारीं, मार्गरेट कोर्ट के रिकॉर्ड की बराबरी के लिए इंतजार बढ़ा


दो बार की विम्बलडन चैम्पियन क्वितोवा पिछले 11 मैच एक भी सेट गंवाए बिना जीत चुकी है. वह 2016 के बाद पहली बार ग्रैंडस्लैम फाइनल खेलेंगी जब चेक गणराज्य में एक चोर ने उनके हाथ पर चाकू से वार करके घायल कर दिया था . क्वितोवा ने कहा,‘मैंने जो कुछ झेला है , उसके बाद यह और खास हो गया है.'उन्हें हालांकि बखूबी इल्म है कि खिताब की उनकी राह इतनी आसान नहीं है क्योंकि ओसाका आक्रामकता में उनसे कतई उन्नीस नहीं है.

पुरुष डबल्‍स वर्ग में भारत की चुनौती खत्‍म, बोपन्‍ना, लिएंडर पेस की जोड़ियां हारीं

ओसाका फाइनल तक पहुंचने की राह में तीन बार तीन सेट के मुकाबले जीतकर आई है. जापान की इस धुरंधर ने कहा,‘मैं दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों से खेल रही हूं और अधिकांश मैच तीन सेट के रहे. यह इच्छाशक्ति का मुकाबला होगा.'दोनों के बीच यह पहला ही मुकाबला होगा. क्वितोवा के कोच जिरि वानेक ने कहा,‘ओसाका और क्वितोवा दोनों विनर्स लगाती हैं. तकनीकी रूप से नहीं लेकिन आक्रामक तेवरों के मामले में यह जबर्दस्त मुकाबला होगा. दोनों कोर्ट पर तेजतर्रार खेल दिखाती हैं.'दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी रोमानिया की सिमोना हालेप के चौथे दौर में बाहर होने के बाद इस मुकाबले से महिला टेनिस की बादशाहत भी तय होगी. दोनों में से कोई भी पहले कभी शीर्ष पर नहीं पहुंचा है. ओसाका फिलहाल चौथे नंबर पर है.

जापान की खिलाड़ी ओसाका नंबर वन के ताज को लेकर उत्साहित है लेकिन उसका लक्ष्य फिलहाल यह खिताब जीतना है. उन्‍होंने कहा ,‘मेरे लिये यह बहुत बड़ी बात है. क्वार्टर फाइनल के बाद मेरा यह सबसे बड़ा लक्ष्य था लेकिन मेरा मुख्य लक्ष्य यह टूर्नामेंट जीतना है. रैंकिंग उसके बाद आती है.'अमेरिकी ओपन चैम्पियन ओसाका अगर जीत जाती है तो वह 23 बार की ग्रैंडस्लैम सेरेना विलियम्स के अलावा पिछले नौ साल में लगातार दो खिताब जीतने वाली पहली खिलाड़ी होंगी. किम क्लाइटजर्स ने 2010 अमेरिकी ओपन और 2011 ऑस्ट्रेलियाई ओपन जीता था. (इनपुट: एजेंसी)

टिप्पणियां

वीडियो: सेरेना विलियम्‍स ने बहन वीनस को हराया, जीता 23वां ग्रैंडस्‍लैम

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... साड़ी के ऊपर टी-शर्ट पहनकर Rowdy Baby गाने पर जमकर नाचीं दादी, लोग बोले- "सुपर अम्‍मा"

Advertisement