कानपुर मेडिकल कॉलेज के ICU में AC फेल होने की वजह से 24 घंटे में 4 मरीजों की मौत

कानपुर मेडिकल कॉलेज के आईसीयू का एसी फेल होने से 24 घंटे के अंतर 4 मरीजों की मौत हो गई. मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने 4 मौतों की बात मानी है, लेकिन उनका कहना है कि एसी फेल होने की वजह से मौत नहीं हुई है

कानपुर मेडिकल कॉलेज के ICU में AC फेल होने की वजह से 24 घंटे में 4 मरीजों की मौत

कानपुर मेडिकल कॉलेज में 24 घंटे के अंतर 4 मरीजों की मौत

खास बातें

  • एसी फेल होने से 24 घंटे के अंतर 4 मरीजों की मौत हो गई
  • मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने 4 मौतों की बात मानी है
  • उनका कहना है कि एसी फेल होने की वजह से मौत नहीं हुई है
नई दिल्ली:

कानपुर मेडिकल कॉलेज के आईसीयू का एसी फेल होने से 24 घंटे के अंतर 4 मरीजों की मौत हो गई. मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने 4 मौतों की बात मानी है, लेकिन उनका कहना है कि एसी फेल होने की वजह से मौत नहीं हुई है. आरोप है कि ICU के दोनों एसी प्लांट 5 दिन से काम नहीं कर रहे थे और शिकायत के बाद भी इस पर किसी ने ध्यान नहीं दिया.

दिल्ली के बाड़ा हिंदूराव अस्पताल से 4 दिन की बच्ची चुराने वाली महिला पकड़ी गई

कानपुर मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन आइसीयू के एसी प्लांट फेल होने से 24 घंटे के अंदर 4 मरीजों की मौत हो गई. इससे गंभीर मरीजों में संक्रमण का खतरा भी बढ़ गया है. दरअसल, यहां आरोप है कि पिछले 5 दिन से आईसीयू के दोनों एसी प्लांट काम नहीं कर रहे थे और बार-बार शिकायत के बाद भी डॉक्टर्स और प्रिंसिपल ने ध्यान नहीं दिया, जिसके चलते चार मरीजों ने दम तोड़ दिया. आरोप ये भी है कि एसी प्लांट की मरम्मत में लापरवाही के कारण पहले भी सर्जरी और न्यूरो सर्जरी आपरेशन थियेटर के एसी खराब हो चुके हैं. 

बहन की मौत के बाद टैक्‍सी ड्राइवर ने गरीबों के लिए बनाया अस्‍पताल, यहां होता है फ्री में इलाज

मामला जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य तक जा चुका है, बावजूद इसके न अस्पताल के अफसर चेते और न ही प्राचार्य ने सुध ली. इससे समस्या और विकराल होकर आज इतने भयावह रूप में सामने आई. गर्मी और उमस बढऩे पर आईसीयू की खिड़कियां और दरवाजे खोल दिए गए. 

गोरखपुर मेडिकल कॉलेज हादसा : जमानत मिलने के बाद आरोपी डॉ. कफील ने NDTV को सुनाई थी आपबीती...

मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल नवनीत कुमार ने हैरान करने वाला जवाब दिया. उन्होंने कहा कि बुधवार से एसी की मरम्मत हो रही थी और उन लोगों को उम्मीद थी कि ये ठीक हो जाएगा, लेकिन एसी ठीक नहीं हुआ. उसके कुछ पार्ट्स दिल्ली से आने हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या कानपुर मेडिकल कॉलेज उम्मीदों पर चल रहा है. इनके पास कोई तत्कालित व्यवस्था नहीं होती. साथ ही एसी का ऐसा कौन सा पार्ट है, जो दिल्ली में मिलेगा और कानपुर से महानगर में नहीं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: क्‍या निजी अस्‍पतालों की मनमानी पर रोक लगेगी?