यूपी का एक ऐसा पुलिस स्टेशन जहां पर हिस्ट्रीशीटर सोने के लिए आते हैं!

सुनने में यह अजीब लगे लेकिन यह सच है. सूबे के सीतापुर जिले लहरपुर कोतवाली में दुर्दांत अपराधी रोज अपनी हाजिरी लगवाने आते हैं.

यूपी का एक ऐसा पुलिस स्टेशन जहां पर हिस्ट्रीशीटर सोने के लिए आते हैं!

उत्तर प्रदेश पुलिस अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है.

खास बातें

  • यूपी में योगी सरकार के आने के बाद अपराधियों पर कार्रवाई तेज
  • राज्य में कई स्थानों पर पुलिस और अपराधियों में एनकाउंटर
  • कई अपराधी मारे गए और कई पहुंचे जेल.
सीतापुर:

यूपी में एक ऐसा भी थाना है जहां पर कुख्यात अपराधी सोने के लिए आते हैं. सुनने में यह अजीब लगे लेकिन यह सच है. सूबे के सीतापुर जिले लहरपुर कोतवाली में दुर्दांत अपराधी रोज अपनी हाजिरी लगवाने आते हैं. इस प्रक्रिया के चलते कुछ लोग थाने के परिसर में ही सोने लगते हैं.

एएनआई के अनुसार, एसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि लहरपुर कोतवाली में अपराधियों की हाजिरी लगवाई जाती है. कुछ अपराधी को यहां पर रात में भी रुकते हैं और पुलिस को जांच में मदद करते हैं. कई अपराधियों ने शपथ ली है कि वह अब गैरकानूनी काम नहीं करेंगे. पुलिस उनके भीतर आ रहे बदलाव का स्वागत करती है.

उल्लेखनीय है कि राज्य में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री पद संभालने के साथ ही अपराधियों पर पुलिस ने कार्रवाई आरंभ कर दी. योगी ने साफ तौर पर कहा था कि राज्य में कानून व्यवस्था ठीक करेंगे. अपराधियों का सफाया होगा. पुलिस ने लगातार राज्य में ऑपरेशन ऑल आउट चला रखा है और कई बार तो यह देखने में आ रहा है कि अपराधी खुद ही थाने पहुंच कर सरेंडर कर रहे हैं. 

यूपी पुलिस के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार 20 मार्च, 2017 से 31 जनवरी 2018 के बीच पुलिस ने 1144 एनकाउंटर किए. इनमें 34 अपराधियों की मौत हो गई और 2744 को गिरफ्तार किया गया. इस कार्रवाई में कुल 4 पुलिस वाले भी शहीद हो गए और 247 घायल हो गए. यह एनकाउंटर आगरा, मेरठ, लखनऊ, इलाहाबाद, बरेली, गोरखपुर, कानपुर और वाराणसी में हुए.

इस सूची में मेरठ सबसे ऊपर रहा जहां पर 22 अपराधियों की मौत हुई, जबकि 155 घायल हुए. यहां पर कुल 449 एनकाउंटर में 985 अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com