SC में श्रीराम जन्मभूमि का पक्ष रखने वाले अधिवक्ता केशव पारासरन टीम के साथ पहुंचे अयोध्या, किये रामलला के दर्शन

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या के विवाद में श्रीराम जन्मभूमि का पक्ष रखने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता केशव पारासरन शनिवार को अयोध्या पहुंचे. उन्होंने रामलला का दर्शन किया है. 

SC में श्रीराम जन्मभूमि का पक्ष रखने वाले अधिवक्ता केशव पारासरन टीम के साथ पहुंचे अयोध्या, किये रामलला के दर्शन

प्रतीकात्मक चित्र.

अयोध्या:

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या के विवाद में श्रीराम जन्मभूमि का पक्ष रखने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता केशव पारासरन शनिवार को अयोध्या पहुंचे. उन्होंने रामलला का दर्शन किया है. इस दौरान उनके साथ उनका परिवार और उनके अधिवक्ता साथी भी मौजूद रहे. उनके साथ उनके बेटे, बेटियां, नाती-पोते समेत उनके पुत्र पूर्व सॉलिस्टर जनरल मोहन पाराशर समेत विभिन्न प्रदेशों के 18 अधिवक्ता शामिल रहे. टीम ने रामलला का दर्शन कर कोर्ट के फैसले की एक प्रति रामलला को सौंपी. दर्शन करने वालों में वरिष्ठ अधिवक्ता सीएस वैद्यनाथन, पी.एस. नरसिम्हा, पी.वी. योगेश्वरन, भक्तिवर्धन सिंह, श्रीधर पोटा राजू, अनिरुद्ध शर्मा समेत अन्य शामिल रहे. सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या के श्रीराम जन्मभूमि प्रकरण की करीब 40 वर्ष से पैरवी करने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता केशव पारासरन 93 वर्ष के हैं.

वरिष्ठ वकील केशव पारासरन ने हिंदू पक्ष की तरफ से दलीलें रखी थीं. पूर्व अटॉर्नी जनरल रह चुके पारासरन लंबे वक्त से बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि पर हिंदू पक्ष की ओर से दलीलें कोर्ट में रख रहे थे. पारासरन ने बताया कि वह हमेशा से ही भगवान राम के साथ आध्यात्मिक जुड़ाव महसूस करते हैं, इसी कारण उन्होंने यह केस लड़ा.सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की रोजाना सुनवाई से पहले उन्होंने इस केस के हर पहलू पर बारीकी से काम किया. टीम के सदस्य बताते हैं कि पारासरन इस केस से इतने जुड़े हुए थे कि उन्हें अयोध्या मामले से जुड़ी महत्वपूर्ण तारीखें मुंहजबानी याद हैं किस तारीख में कौन सी घटना हुई थी, सब वह उंगली पर गिनकर बता सकते हैं. 
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com