NDTV Khabar

एंटी-रोमियो ड्राइव के बाद, अब योगी आदित्यनाथ की 'नकलची छात्रों' पर कड़ी कार्रवाई...

98 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
एंटी-रोमियो ड्राइव के बाद, अब योगी आदित्यनाथ की 'नकलची छात्रों' पर कड़ी कार्रवाई...

यूपी बोर्ड की सचिव शैल यादव के अनुसार, परीक्षाओं के दौरान अब तक लगभग 1500 नकलची पकड़े गए हैं...

खास बातें

  1. अभी तक 54 केन्द्रों की परीक्षा निरस्त हुई है.
  2. सात जिलों के शिक्षा अधिकारियों को नोटिस भी जारी किया गया है.
  3. 57 केन्द्रों को काली सूची में डाला जाएगा.
लखनऊ: उत्तर प्रदेश में चल रही बोर्ड परीक्षाओं में नकल रोकने को लेकर योगी आदित्यनाथ सरकार के कड़े कदमों के बाद अब परीक्षाओं में नकल में भारी गिरावट हुई है. नकलविहीन परीक्षाएं कराने के लिए सरकार द्वारा टोल फ्री नंबर की भी शुरूआत की गई है, जिस पर नकल को लेकर शिकायतें दर्ज कराई जा सकती हैं.

माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश (यूपी बोर्ड) की सचिव शैल यादव ने बताया कि परीक्षाओं के दौरान अब तक लगभग 1500 नकलची पकड़े गए हैं. नकल पकड़े जाने के मामलों में अब तक 327 केंद्र व्यवस्थापकों तथा 600 कक्ष निरीक्षकों को हटाया गया है.

उन्होंने बताया कि अब तक 178 कक्ष निरीक्षकों तथा 111 केंद्र व्यवस्थापकों पर मुकदमा.. इसके अलावा 70 परीक्षार्थियों पर भी प्राथमिकी पंजीकृत की गई है. अभी तक 54 केन्द्रों की परीक्षा निरस्त हुई है, जबकि 57 केन्द्रों को काली सूची में डाला जाएगा. उधर, सात जिलों के शिक्षा अधिकारियों को नोटिस भी जारी किया गया है.

उल्‍लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने यूपी बोर्ड परीक्षाओं में जारी नकल को गंभीरता से लेते हुए इससे सख्ती से निपटने के निर्देश दिए हैं.

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक शर्मा ने सूबे में हो रही बोर्ड परीक्षाओं में जमकर नकल होने पर अधिकारियों को फटकार लगाई और उन्हें नकल रोकने के लिए हर मुमकिन उपाय करने तथा रिपोर्ट सौंपने के आदेश दिए.

बता दें कि बीते दिनों मुख्‍यमंत्री ने कहा था कि जो नकल कर रहे हैं और जो उनका साथ दे रहे हैं, दोनों की खैर नहीं है. उनके खिलाफ ऐसी कार्रवाई की जाएगी कि सभी को सबक मिल जाए. योगी सरकार ने नकल पर नकेल कसते हुए शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई करने की हिदायत भी दी थी. नकल रोकने के लिए सरकार की ओर से हेल्‍पलाइन नंबर 0522-2236760 और  9454457241 जारी किया गया है, ताकि कोई भी शख्‍स फोन कर या व्‍हाट्स एप के जरिये नकल की सूचना और शिकायत दर्ज करा सके. (इनपुट एजें‍सियों से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement