आगरा में पकड़ा गया साइबर ठगी करने वाला इंडो-नाइजीरियन गैंग, कई खातों में करोड़ों रुपये किए ट्रांसफर

आगरा के पुलिस महानिरीक्षक (IG) ए सतीश गणेश का कहना है कि इन्होंने 200 बैंक एकाउंट्स के ज़रिए सैकड़ों करोड़ रुपये दुनिया के तमाम देशों में भेजे हैं.

आगरा में पकड़ा गया साइबर ठगी करने वाला इंडो-नाइजीरियन गैंग, कई खातों में करोड़ों रुपये किए ट्रांसफर

प्रतीकात्मक तस्वीर

आगरा :

पुलिस ने गुरुवार को अंतरराष्ट्रीय साइबर अपराधियों के एक बड़े गैंग को पकड़ा है. इस अंतरराष्ट्रीय गैंग का सरगना एक नाइजीरियन है. हालांकि, इस भारतीय पार्टनर कृष्णकांत यादव है जो अपनी पहचान छिपाने के लिए दो बार सेक्स चेंज करवा चुका है. आगरा के पुलिस महानिरीक्षक (IG) ए सतीश गणेश का कहना है कि इन्होंने 200 बैंक एकाउंट्स के ज़रिए सैकड़ों करोड़ रुपये दुनिया के तमाम देशों में भेजे हैं. अपराध के अंतरराष्ट्रीय फैलाव की वजह से आगरा पुलिस चाहती है कि केंद्रीय एजेंसियां ईडी और इंटरपोल की मदद से पूरे क्राइम नेटवर्क का पर्दाफाश किया जाए. 

पुलिस अधिकारी ने बताया कि प्रताप सिंह चाहर नाम के व्यक्ति ने मुकदमा पंजीकृत कराया. अपनी शिकायत में चाहर ने कहा कि कुछ लोगों ने उन्हें क्राइम ब्रांच का अधिकारी बन कर फोन किया और कहा कि उनके पास जो बीमा खाते हैं वो फर्जी हैं, उन्हें रेगुलराइज करने के लिए कुछ पैसे की मांग की गई.


इसके बाद साइबर सेल की हमारी टीम ने इस पर काम करना शुरू किया तो कई सारे चौंकाने वाले तथ्य निकलकर सामने आए. यह पूरा अपराध इंडो-नाइजीरियन गैंग के द्वारा किया जा रहा था. उनके पास से बरामद लैपटॉप से पता चला कि एक अंतरराष्ट्रीय फ्रॉड हो रहा है और करोड़ों की राशि इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से विभिन्न खातों में प्रेषित की गई है. 

वीडियो: एटीएम कार्ड क्लोन करके लाखों रुपए की ठगी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com