NDTV Khabar

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे का हुआ उद्घाटन, वायुसेना ने उतारा जेट विमान

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे का हुआ उद्घाटन, वायुसेना ने उतारा जेट विमान

आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे में ऐसे नीचे आया जेट विमान

खास बातें

  1. आम लोगों के लिए एक्सप्रेसवे को कुछ दिनों बाद ही खोला जाएगा.
  2. उद्घाटन समारोह लखनऊ के 50 किलोमीटर दूर बंगरमऊ में रखा.
  3. वायुसेना के 4 मिराज और 4 सुखोई विमान भी शामिल होंगे.
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और समाजवादी पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव आज देश के सबसे लंबे आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे का उद्घाटन किया. लेकिन आम लोगों के लिए एक्सप्रेसवे को कुछ दिनों बाद ही ज़रूरी व्यवस्था करने के बाद खोला जाएगा. आज के कार्यक्रम में वायुसेना ने अपने जेट विमानों को भी टच डाउन कराया.
 

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर टच डाउन करते हुए लड़ाकू विमान

एक्सप्रेसवे के उद्घाटन के मौके लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि नेताजी (सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव) के आशीर्वाद से एक्सप्रेस वे तैयार हुए. सीएम ने दावा किया कि रिकॉर्ड टाइम में एक्सप्रेस वे तैयार किया गया है.
 


मुख्यमंत्री ने इस मौके पर बोलते हुए दावा किया कि पूरे देश के लिए ये एक्सप्रेस वे उदाहरण बना है. एक्सप्रेस वे की वजह से विकास भी होगा.
 

इस मौक पर समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और यादव परिवार पूरी तरह से एकजुट दिखा. या कहें परिवार ने एकजुट दिखने की कोशिश की. आज इस कार्यक्रम के मौके पर शिवपाल यादव ने बड़े भाई और पार्टी नेता रामगोपाल यादव के चरण छुए. वहीं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दोनों चाचाओं के पैर छूकर सम्मान दिया. उधर, रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव जब इस कार्यक्रम में पहुंचे तो उन्होंने चाचा शिवपाल यादव के पैर छुए.

बता दें कि 23 अक्टूबर को रामगोपाल यादव को पार्टी ने निष्कासित करते हुए शिवपाल यादव ने रामगोपाल यादव पर आरोप लगाया था ये बीजेपी से मिले हुए हैं. ये बीजेपी से मिलकर सपा को हराने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि यादव सिंह स्कैम सीबीआई जांच में बेटे-बहू फंसे हुए हैं, इसलिए ये बीजेपी का साथ दे रहे हैं. यह भी आरोप लगाया था कि रामगोपाल यादव ने बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की है. वहीं, रामगोपाल यादव ने आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था. उन्होंने शिवपाल यादव पर आरोप लगाया था कि वे पार्टी को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं.
 


उधर, कार्यक्रम में आजम खान ने एक बार फिर अमर सिंह पर हमला साधा. उन्होंने कहा कि साजिश करने वाले हमेशा जलील होंगे. जो गलत थे वे गलत ही रहेंगे. आज इस कार्यक्रम में अमर सिंह नहीं आए.

उद्घाटन समारोह लखनऊ के 50 किलोमीटर दूर बंगरमऊ में रखा गया. उदघाटन समारोह में वायुसेना के 4 मिराज और 4 सुखोई विमान भी शामिल हुए जो एक्सप्रेसवे पर टच डाउन कर निकले. इसके बाद रेसिंग कारों का एक काफ़िला भी यहां से दिल्ली तक के लिए रवाना हुआ. बता दें कि 302 किलोमीटर के इस एक्सप्रेसवे को रिकॉर्ड 22 महीने में पूरा किया गया है.
 

(कार्यक्रम में मौजूद शिवपाल यादव, आजम खान और डॉ रामगोपाल यादव)

उल्लेखनीय है कि ये अखिलेश यादव की महत्वाकांक्षी योजना है. महज 22 महीने में इस 302 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेसवे को बना लिया गया है. लेकिन ख़ास बात इसके उद्घाटन की है.
 

(कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे सीएम अखिलेश यादव)
टिप्पणियां

एयरफोर्स के जेट विमान उतारे जाने का मक़सद एक्सप्रेसवे की मज़बूती भी आंकना है और ये भी देखना है कि वायुसेना एक्सप्रेसवे और हाइवे को किसी इमरजेंसी में अपने विमानों की लैंडिंग और टेकऑफ के लिए इस्तेमाल कर सकती है या नहीं.
 

पिछले साल यमुना एक्सप्रेसवे पर भारतीय वायुसेना के मिराज विमान को उतारा जा चुका है जिसे सारे देश ने देखा था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement